ताज़ा खबर
 

Social Media Regulation Case: शीर्ष अदालत ने कहा- केंद्र के निर्देशों में डिजिटल मंचों पर कार्रवाई का प्रावधान नहीं

‘तांडव’ नौ कड़ियों वाली एक वेब शृंखला है, जिसमें अभिनेता सैफ अली खान, डिंपल कपाडिया और मोहम्म्द जीशान अयूब ने अभिनय किया है। पुरोहित पर यूपी पुलिस ने अनुचित चित्रण और हिंदू देवी देवताओं के बारे में अपमानजनक बातें दिखाने के आरोप लगाए हैं।

Author मुंबई | March 6, 2021 4:27 AM
Hansal Mehta, Bollywood Director, Arnab Goswami, Tandava, Tandav Web SeriesAmazon Prime वेब सीरीज तांडव का पोस्टर

सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को कहा कि सोशल मीडिया के नियमन पर केंद्र के दिशानिर्देशों में अनुचित विषयवस्तु दिखाने वाले डिजिटल प्लेटफॉर्म के खिलाफ उचित कार्रवाई का कोई प्रावधान नहीं है। अदालत ने इसके साथ ही वेब सीरीज ‘तांडव’ को लेकर दर्ज प्राथमिकियों पर अमेजन प्राइम वीडियो की भारत प्रमुख अपर्णा पुरोहित को गिरफ्तारी से अंतरिम सुरक्षा प्रदान कर दी। न्यायमूर्ति अशोक भूषण और न्यायमूर्ति आरएस रेड्डी के पीठ ने वेब सीरीज ‘तांडव’ को ले कर दर्ज प्राथमिकियों पर अग्रिम जमानत का अनुरोध करने वाली पुरोहित की याचिका पर उत्तर प्रदेश सरकार को नोटिस भी जारी कर दिया।

अदालत ने कहा कि सोशल मीडिया पर केंद्र के नियमन महज दिशानिर्देश हैं, इनमें डिजिटल प्लेटफार्म के खिलाफ कार्रवाई को लेकर कोई प्रावधान नहीं है। केंद्र की ओर से पेश महान्यायवादी तुषार मेहता ने कहा कि सरकार उचित कदमों पर विचार करेगी। डिजिटल प्लेटफार्म के लिए किसी भी तरह के नियमों को अदालत के समक्ष पेश किया जाएगा। शीर्ष अदालत ने पुरोहित को अपनी याचिका में केंद्र को भी पक्षकार बनाने को कहा।

‘तांडव’ नौ कड़ियों वाली एक वेब शृंखला है। जिसमें बालीवुड अभिनेता सैफ अली खान, डिंपल कपाडिया और मोहम्म्द जीशान अयूब ने अभिनय किया है। पुरोहित पर उत्तर प्रदेश पुलिस ने अनुचित चित्रण करने और हिंदू देवी देवताओं के बारे में अपमानजनक बातें दिखाने के आरोप लगाए हैं। गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि कुछ ओवर दी टाप (ओटीटी) प्लेटफार्म पर कई बार किसी न किसी तरह की अश्लील सामग्री दिखाई जाती है और इस तरह के कार्यक्रमों पर नजर रखने के लिए एक तंत्र की आवश्यकता है।

अदालत ने केंद्र से सोशल मीडिया के नियमन के लिए उसके दिशा-निर्देश के बारे में बताने को भी कहा था। मेहता ने कहा कि वे सूचना प्रौद्योगिकी (मध्यवर्ती संस्थानों के लिए दिशा-निर्देश और डिजिटल मीडिया आचार संहिता) नियम, 2021 को रिकार्ड पर रखेंगे। पुरोहित की ओर से पेश वरिष्ठ वकील मुकुल रोहतगी ने अपनी मुवक्किल के खिलाफ मामले को हैरान करने वाला बताया और कहा कि वह तो अमेजन की एक कर्मचारी हैं, न कि निर्माता या कलाकार। लेकिन फिर भी उन्हें देशभर में वेब सीरीज ‘तांडव’ से जुड़े करीब दस मामलों में आरोपी बना दिया गया।

इससे पहले 27 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट ने वेब सीरीज ‘तांडव’ के निर्देशक अली अब्बास जफर, पुरोहित, निर्माता हिमांशु मेहरा और शो के लेखक गौरव सोलंकी व अभिनेता मोहम्मद जीशान अयूब को गिरफ्तारी से अंतरिम राहत देने से इनकार कर दिया था। अब पुरोहित ने सुप्रीम कोर्ट में इलाहाबाद हाईकोर्ट के 25 फरवरी के उस आदेश को चुनौती दी है जिसमें उनके खिलाफ दर्ज प्राथमिकी के सिलसिले में दिए गए अग्रिम जमानत के अनुरोध को अदालत ने अस्वीकार कर दिया था।

मालूम है कि 19 जनवरी 2021 को ग्रेटर नोएडा के रबुपुरा थाने में रउनिजा गांव के बलबीर आजाद ने शिकायत दर्ज कराई थी। शिकायत में आजाद ने आरोप लगाया था कि शो उत्तर प्रदेश पुलिस और उसकी पुलिस का खराब चित्रण करता है। इसके अलावा इस संबंध में उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, कर्नाटक ,महाराष्ट्र, बिहार और दिल्ली में कई प्राथमिकियां दर्ज कराई गई हैं।

Next Stories
1 अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती पर मादक पदार्थ खरीदने, रखने और पैसे देने के आरोप
2 आज एक्सप्रेस-वे जाम करेंगे किसान, पुलिस सतर्क, नए कृषि कानूनों के खिलाफ सौवें दिन भी धरना जारी
3 ऐंकर ने याद दिलाई पुरानी बात, चुनाव लड़ने के सवाल पर बोले राकेश टिकैत, बहुत बड़ी बीमारी है
ये पढ़ा क्या?
X