scorecardresearch

आजम खान पर भाजपा-सपा में ठनी, अनुराग भदौरिया बोले- बकरी चोरी बड़ा गुनाह बताया जा रहा, जवाब मिला- तो भाई किताब दीवार में क्यों छिपा रहे?

आजम खान की जौहर यूनिवर्सिटी से मिली किताबों को लेकर बीजेपी प्रवक्ता एस एन सिंह ने कहा कि आलिया विद्यालय के मौलवी और प्राचार्य का आरोप है कि ये किताबें उनकी हैं तो अगर कोई आरोप लगा रहा है तो सरकार का फर्ज है कि उसको न्याय दिलवाएं।

आजम खान पर भाजपा-सपा में ठनी, अनुराग भदौरिया बोले- बकरी चोरी बड़ा गुनाह बताया जा रहा, जवाब मिला- तो भाई किताब दीवार में क्यों छिपा रहे?
आजम खान (फोटो- पीटीआई)

जौहर यूनिवर्सिटी से बेश्कीमती किताबें, रोड क्लीनर, अलमारी और फर्नीचर बरामद होने के बाद समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता आजम खान की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। इस पर हो रही एक टीवी डिबेट में सपा प्रवक्ता और बीजेपी नेता के बीच खूब बहस हुई। जहां अनुराग भदौरिया ने कहा कि बकरी चोरी को बड़ा गुनाह बता रहे हैं, तो वहीं बीजेपी नेता ने पलटवार करते हुए सवाल किया तो फिर किताब दीवार में क्यों छिपा रहे।

अनुराग भदौरिया ने कहा कि किसी पर बकरी चोरी, किताब चोरी, भैंस चोरी का मुकदमा लगा देंगे और फिर कहेंगे कि बहुत बड़ा गुनाह कर दिया। कोर्ट कह रहा है कि ये झूठे मुकदमे हैं स्टे दे दिया है।

इसके जवाब में बीजेपी प्रवक्ता एस एन सिंह ने कहा, “मौलवियों और आलिया विद्यालय के प्राचार्यों ने आरोप लगाया है कि पहले भी जब 2019 में एफआईआर दर्ज हुई थी तो भी 2500 किताबें मिली थीं। वह कह रहे हैं कि ये किताबें उनकी हैं तो अगर कोई आरोप लगा रहा है तो सरकार का फर्ज है कि उसको न्याय दिलवाएं।”

बता दें कि मंगलवार (20 सितंबर) को जौहर यूनिवर्सिटी कैंपस में बनी लिफ्ट के स्पेस में चोरी की गई किताबें मिली थीं, जिन्हें चिनवा दिया गया था। पुलिस ने जब इस दीवार को तोड़ा तो वहां से लगभग 400 साल पुरानी धार्मिक किताबें पाईं गईं।

ये बेशकीमती किताबें रामपुर के मदरसा-ए-आलिया से गायब हो गईं थीं और आरोप ये लगा था कि ये किताबें चोरी हो गईं। वहीं, पुलिस ने जांच में पाया कि 2013 के कुंभ के लिए जो सफाई की मशीन खरीदी गई थी। उन्हें 2017 से पहले सरकार बदलने से पहले दो टुकड़े करके मशीन को वहां पर दबवा दिया गया। बता दें कि आजम खान के बेटे और सपा विधायक अब्दुल्ला आजम खान के करीबी होने का दावा करने वाले दो संदिग्धों की गिरफ्तारी के बाद मशीन बरामद की गई है।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 25-09-2022 at 12:34:29 am
अपडेट