ताज़ा खबर
 

मोदी के दखल का कमाल: बांग्लादेश ने भारत को सौंपा उल्फा का महासचिव चेतिया

बांग्लादेश ने आज उल्फा नेता अनूप चेतिया को भारत को सौंप दिया। चेतिया को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के व्यक्तिगत हस्तक्षेप और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के सक्रिय रूप से जुड़ने के चलते भारत को सौंपा गया है।

Author नई दिल्ली | Updated: November 11, 2015 8:34 PM
anup chetia, bangladesh, ulfa, ulfa leader, india militant, assam, assam militant, assam ulfa, ulfa news, ulfa attack, anup chetia arrest, anup chetia bangladesh, यूनाइटेड लिबरेशन फ्रंट ऑफ असम, उल्फा, उल्फा नेता अनूप चेतिया, अनूप चेतिया, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बांग्‍लादेशछोटा राजन के बाद अब अनूप चेतिया का नंबर, बांग्लादेश ने भारत को सौंपा उल्फा का महासचिव चेतिया

बांग्लादेश ने आज उल्फा नेता अनूप चेतिया को भारत को सौंप दिया। चेतिया को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के व्यक्तिगत हस्तक्षेप और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के सक्रिय रूप से जुड़ने के चलते भारत को सौंपा गया है। वह वर्ष 1997 में बांग्लादेश पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए जाने के बाद से ही वहां था।

उच्च पदस्थ सूत्रों ने बताया कि चेतिया को आज सुबह सौंपा गया। यह घटनाक्रम ऐसे समय हुआ है जब 27 साल से फरार अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन को पहले ही भारत लाया जा चुका है। उल्फा का संस्थापक सदस्य और इसका महासचिव चेतिया भारत में हत्या, अपहरण और वसूली के मामलों में वांछित था।

बांग्लादेश पुलिस ने उसे 1997 में गिरफ्तार किया था। उसने तीन बार- 2005, 2008 और 2011 में बांग्लादेश में राजनीतिक शरण मांगी। उसे वहां की दो अदालतों ने देश में घुसपैठ करने, फर्जी पासपोर्ट रखने और अवैध रूप से विदेशी मुद्रा रखने के मामलों में सात साल कैद की सजा सुनाई।

सजा की अवधि खत्म होने के बावजूद उसे 2003 में आए बांग्लादेश के हाईकोर्ट के आदेश के तहत जेल में रखा गया। आदेश में कहा गया था कि शरण मांगने की उसकी अर्जी पर फैसला होने तक उसे सुरक्षित हिरासत में रखा जाए।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 दिवाली पर प्रदूषण के डर से दिल्ली में सरकारी अलर्ट- 11 नवंबर की रात से 12 नवंबर दोपहर तक बाहर निकलने से बचें
2 अगली दिवाली पर दिल्ली में नहीं दिखेगा इतना प्रदूषण और शोर
3 भाकपा ने की निजी क्षेत्र में आरक्षण की वकालत
ये पढ़ा क्या?
X