ताज़ा खबर
 

एंटीलिया केसः जहां मिली थी मनसुख हीरेन की लाश, वहीं पाया गया एक और शव

एएनआई के मुताबिक, मृतक की पहचान 48 वर्षीय शेख सलीम अब्दुल के रूप में हुई है। वह मुंब्रा के रेतीबंदर का रहने वाला था। हालांकि, पुलिस यह नहीं बता रही है कि उसकी मौत का एंटीलिया या मनसुख मामले से कोई लेनादेना है कि नहीं।

mumbai policeमुंबई पुलिस को उस इलाके से एक और शव मिला, जहां मिली थी मनसुख हीरेन की लाश (फोटोः ANI)

एंटीलिया मामला लगातार नई शक्ल लेता जा रहा है। सचिन वाजे की गिरफ्तारी और मुंबई कमिश्नर परमबीर के नपने के बाद इस मामले में एक नया मोड़ आया है। पुलिस को उसी जगह से एक और लाश मिली है, जहां से मनसुख हीरेन का शव बरामद किया गया था। एएनआई के मुताबिक, मृतक की पहचान 48 वर्षीय शेख सलीम अब्दुल के रूप में हुई है। वह मुंब्रा के रेतीबंदर का रहने वाला था। हालांकि, पुलिस यह नहीं बता रही है कि उसकी मौत का एंटीलिया या मनसुख मामले से कोई लेनादेना है कि नहीं।

उधर, राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) मुंबई पुलिस के निलंबित अधिकारी सचिन वाजे को उद्योगपति मुकेश अंबानी के आवास के निकट उस जगह पर लेकर गई, जहां पिछले महीने विस्फोटकों से भरी एक कार मिली थी। एनआईए ने मामले की जांच के लिए घटना को रिक्रिएट किया। एक अधिकारी ने बताया कि वाजे को शुक्रवार रात ले जाया गया। उससे सफेद कुर्ता पहनकर कुछ देर वहां टहलने को कहा गया।

एनआईए को शक है कि घटनास्थल कार्माइकल रोड पर लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज में सफेद कुर्ता पहने जो व्यक्ति दिखाई दे रहा है, वह वाजे है, लेकिन अभी इस बात की पुष्ट नहीं हुई है। अधिकारी ने कहा कि अंबानी के घर के पास जिस जगह पर एसयूवी मिली थी, वहां सड़क पर कुछ समय के लिए अवरोधक लगाए गए। जांच के तहत घटनाक्रम को नाटकीय रूप से दोहराया गया। तकरीबन 30 मिनट तक सीन रिक्रिएट किया गया। घटनास्थल पर स्थानीय पुलिस को भी तैनात किया गया था। पूरी प्रक्रिया का वीडियो बनाया गया।

ध्यान रहे कि अंबानी के घर के निकट एक स्कॉर्पियो कार 25 फरवरी को खड़ी मिली थी। इसमें जिलेटिन की छड़ें थीं। गाड़ी में धमकी भरा एक पत्र भी था। एनआईए ने गत शनिवार को इस मामले में वाजे को गिरफ्तार किया था। उसे बाद में निलंबित कर दिया गया। मुंबई कमिश्नर परमबीर सिंह को भी इसी मामले में ट्रांसफऱ करके डीजी होमगार्ड्स बनाया गया है। वाजे ठाणे के कारोबारी मनसुख हीरेन की हत्या के मामले में भी जांच के दायरे में हैं।

मुंबई पुलिस की थ्यौरी के मुताबिक, स्कॉर्पियो मनसुख हीरेन के पास ही थी। वह कार इंटीरियर का काम करता था। इस मामले में मनसुख ही पत्नी ने भी आरोप लगाया है कि उनके पति की हत्या की गई। जबकि मनसुख के बेटे का कहना है कि उसके पिता तैराक थे। वह पानी में कूदकर जान कैेसे दे सकते हैं। पुलिस को जब मनसुख की लाश मिली थी तब उनके मुंह में कपड़ा ठुंसा हुआ था। उनके हाथ-पैर भी बांधे गए थे। एनआईए को शक है कि वाजे के पास इससे जुड़ी अहम जानकारियां हैं। वह कुछ और लोगों के साथ मिलकर सारी वारदात को अंजाम दे रहा था।

Next Stories
1 कृषि कानूनः मंडी का मतलब MSP नहीं- टिकैत ने किया साफ; केंद्र पर कहा- इन्हें जाना पड़ेगा
2 कोरोनाः फिर लगेगा लॉकडाउन? 24 घंटे में 40 हजार से अधिक नए केस, सर्वाधिक प्रभावित 9 जिले महाराष्ट्र से
3 SP नेता चिल्लाए, बदकिस्मत हो कि बीवी-बच्चे नहीं; संबित पात्रा बोले- आपकी सांस बंद हो जाएगी
ये पढ़ा क्या?
X