ताज़ा खबर
 

अन्ना हजारे नहीं करेंगे अनशन, BJP के फडणवीस से भेंट बाद बदला प्लान

सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने कृषि कानूनों के खिलाफ अनशन करने की अपनी योजना बदल दी है।

अन्ना हजारे और देवेंद्र फडणवीस ने साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस की। (ANI)

सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने कृषि कानूनों के खिलाफ अनशन करने की अपनी योजना बदल दी है। अन्ना हजारे ने ये जानकारी बीजेपी नेता और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की मौजूदगी में दी। अन्ना हजारे ने संवाददाताओं को बताया, “मैं लंबे समय से कई मुद्दों को लेकर आंदोलन करता रहा हूं। शांतिपूर्ण प्रदर्शन करना अपराध नहीं है…। मैं पिछले तीन सालों से किसानों का मुद्दा उठाता आया हूं…किसानों को उनकी फसल का सही दाम नहीं मिलता है इसलिए वे आत्महत्या करने को मजबूर हैं…सरकार ने किसानों के लिए एमएसपी बढ़ाने का फैसला किया है, मुझे जानकारी मिली है।”

उन्होंने आगे बताया,”चूंकि सरकार ने इन 15 बिंदुओं पर काम करने का आश्वासन दिया है (किसानों के लिए अन्ना की जो मांगे थीं), मैंने अनशन रद्द कर दिया है।” इससे पहले इस महीने, 83 वर्षीय हजारे ने पीएम मोदी को लिखा था कि वे इस महीने के आखिर में अपने जीवन का अंतिम अनशन शुरू करेंगे।

उन्होंने संवाददाताओं को बताया कि दिल्ली में कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों के आंदोलन में लोकतांत्रिक मूल्यों का अभाव है। अन्ना हजारे ने दिल्ली के रामलीला मैदान में अनशन करने की इजाजत केंद्र सरकार से मांगी थी। लेकिन मामले में कोई जवाब नहीं मिला था।

बता दें कि सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने घोषणा की थी कि वह केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों के खिलाफ शनिवार को महाराष्ट्र में अपने गांव रालेगांव सिद्धि में अनिश्चितकालीन अनशन शुरू करेंगे। उन्होंने बृहस्पतिवार को जारी एक बयान में कहा, “मैं कृषि क्षेत्र में सुधारों की मांग करता रहा हूं, लेकिन केंद्र सही फैसले लेते नहीं दिख रहा है।’’

हजारे ने कहा था, ‘‘किसानों को लेकर केंद्र कतई संवेदनशील नहीं है, इसीलिए मैं 30 जनवरी से अपने गांव में अनिश्चितकालीन अनशन शुरू कर रहा हूं।’’ हजारे (83) ने अपने समर्थकों से अपील भी की थी कि वे कोरोना वायरस महामारी को देखते हुए अहमदनगर जिले में स्थित उनके गांव में एकत्र नहीं हों।’’


मालूम हो कि अन्ना हजारे ने साल 2011 और 2012 में भ्रष्टाचार के खिलाफ ऐतिहासिक अनशन किया था।

Next Stories
1 ‘मुकू’ है मुकेश अंबानी का निक नेम, लोगों के बीच स्पीच देने पर महसूस करते हैं घबराहट, जानिए RIL चेयरमैन से जुड़ी 10 रोचक बातें
2 कृषि मंत्री से हुआ प्रदर्शनरत बादल का सामना, बोले SAD नेता- वापस लें ‘काले कानून’; पर बढ़कर चले गए आगे
3 कृषि कानूनः बॉर्डरों पर किसानों के विरोध में जुटे स्थानीय, योगेंद्र यादव ने कहा- ये BJP, RSS के गुंडे, जिन्हें पुलिस कर रही सपोर्ट
ये पढ़ा क्या?
X