ताज़ा खबर
 

जब गुस्साई भीड़ ने भाजपा नेता को घेरा, जान बचा दीवार फांदकर भागे

पंकज ऊखीमठ में देवस्थानम बोर्ड को भंग करने की मांग को लेकर तीर्थपुरोहितों की रैली का समर्थन करने पहुंचे थे। उखीमठ बाजार से तहसील तक तीर्थ पुरोहितों की आक्रोश रैली थी।

भीड़ ने बीजेपी नेता पंकज भट्ट को घेर लिया था (फोटो- वीडियो स्क्रीनशॉट्स)

उत्तराखंड में बीजेपी नेता को गुस्साई भीड़ ने घेर लिया। जान बचाने के लिए उन्हें दीवार फांदकर भागना पड़ा। रुद्रप्रयाग में देवस्थानम एक्ट का विरोध कर रहे लोगों ने बीजेपी नेता पंकज भट्ट को घेर लिया। इस दौरान उनके साथ धक्का-मुक्की और मारपीट की गयी। पंकज किसी तरह जान बचाते हुए कार बैठ में गए लेकिन लोग उनकी कार को आगे ही नहीं बढ़ने दे रहे थे।

उग्र भीड़ बीजेपी नेता के गाड़ी को आगे बढ़ने नहीं दे रही थी। बाद में उनकी गाड़ी ऐसे जगह पर अटक गयी जहां से आगे बढ़ने का रास्ता नहीं था। जिसके बाद पंकज किसी तरह अपनी कार से निकले और भाग कर पास की एक उंची दीवार को फांद कर अपनी जान बचायी। इस दौरान भीड़ ने उनका पीछा किया। पूरे घटनाक्रम का वीडियो सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रहा है।

जानकारी के अनुसार पंकज ऊखीमठ में देवस्थानम बोर्ड को भंग करने की मांग को लेकर तीर्थपुरोहितों की रैली का समर्थन करने पहुंचे थे। उखीमठ बाजार से तहसील तक तीर्थ पुरोहितों की आक्रोश रैली थी। बताया जा रहा है कि तीर्थ पुरोहितों की रैली को अपना समर्थन देने पहुंचे पंकज को देखकर तीर्थ पुरोहितों नाराज हो गए। जिसके बाद उनलोगों ने जमकर विरोध किया। पंकज भट्ट पर्यटन मंत्री सतपाल महराज के करीबी माने जाते हैं।

देवस्थानम एक्ट से नाराज हैं पुरोहित: बीते दो सालों से कोरोना के कारण तीर्थ पुरोहित यात्रा न चलने से काफी आक्रोशित हैं। साथ ही देवस्थानम एक्ट के आने के बाद से ही तीर्थ पुरोहित इसका विरोध कर रहे हैं। देवस्थानम एक्ट को त्रिवेंद्र सिंह रावत की सरकार की  तरफ से लाया गया था। जिसके तहत केदारनाथ, बद्रीनाथ, यमुनोत्री और गंगोत्री मंदिरों को एक आईएएस अधिकारी द्वारा शासित बोर्ड के दायरे में लाने का प्रावधान है।

बताते चलें कि कोरोना संकट के कारण तीर्थ पुरोहितों को पिछले दो साल से भारी नुकसान का सामना करना पड़ रहा है। महामारी के कारण चार धाम यात्रा को कई बार सरकार की तरफ से बंद किया गया है। जिससे पुरोहितों को आर्थिक संकट हो रही है।

Next Stories
1 मोदी ने किया रुद्राक्ष सेंटर का उद्घाटन, जापान-भारत की दोस्ती का नमूना, जानें क्या है ख़ासियत
2 जब सबका डीएनए एक तब क्या है ‘लव जिहाद’ कानून की क्या जरूरत, बोले दिग्विजय सिंह
3 पंजाब का सियासी संकट टालने को कांग्रेस का प्लान, नवजोत सिंह सिद्धू बन सकते हैं राज्य के पार्टी चीफ
ये पढ़ा क्या?
X