ताज़ा खबर
 

Visakhapatnam Gas Leak: केमिकल प्लांट में गैस लीक से मरने वालों का आंकड़ा 11 पहुंचा, सीएम जगनमोहन रेड्डी ने की एक करोड़ रुपये तक मुआवजे की घोषणा

पुलिस का कहना है कि एनडीआरएफ की टीम मौके पर मौजूद है, गैस लीक का असर 1-1.5 किलोमीटर से ज्यादा नहीं फैला।

Author Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र विशाखापत्तनम | Updated: May 07, 2020 7:40:07 pm
विशाखापत्तनम में एलजी केमिकल फैक्ट्री में हुआ गैस लीक। (फोटो- श्रीजन गुम्मला/ट्विटर)

आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम में स्थित आरआर वेंकटपुरम गांव में गुरुवार सुबह एक केमिकल यूनिट में हुए गैस लीक से एक बच्चे समेत 11 लोगों की मौत हो गई है। साथ ही करीब 1000 लोगों को इलाज के लिए किंग जॉर्ज अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इन लोगों ने सांस लेने में परेशानी और आंखों में जलन की शिकायत की थी। बताया गया है कि केमिकल फैक्ट्री में पॉलिमर से जुड़े काम होते थे। ऐसे में गैस के जहरीले होने की आशंका जताई जा रही है।

आंध्र प्रदेश के डीजीपी डीजी सवांग ने बताया कि गैस लीक गुरुवार तड़के 3ः30 बजे हुआ। एक व्यक्ति की फैक्ट्री से भागने के दौरान गिरने से मौत हो गई। लोगों को निकालने का काम अभी भी जारी है। लॉकडाउन की वजह से प्लांट कई दिनों से बंद था।

जानें- क्या है स्टीरिन गैस जिसने लील ली 11 जिंदगियां

इस घटना के बाद गांव में लोगों के बीच हड़कंप मच गया। रिपोर्ट्स के मुताबिक, फैक्ट्री के 3 किलोमीटर के दायरे में एक हजार से ज्यादा लोगों की तबियत खराब हुई है। चश्मदीदों के मुताबिक, उन्होंने कई लोगों को जमीन पर गिरे हुए देखा। पुलिस का कहना है कि गैस रिसाव को बंद कर दिया गया। एनडीआरएफ की टीम तुरंत स्पॉट पर पहुंची। इस गैस लीक का असर ज्यादा से ज्यायदा 1-1.5 किमी तक ही रहा। लेकिन गैस की गंध 2-2.5 किमी तक महसूस की गई। विशाखापत्तनम के कमिश्नर आरके मीणा ने बताया कि गैस लीक से प्रभावित लोगों की जांच के लिए हर हर घर को देखा जा रहा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विशाखापत्तनम में हुई गैस लीक की घटना के मद्देनजर नेशनल डिजास्टर मैनेजमेंट (NDMA) अथॉरिटी के साथ मीटिंग बुलाई है। पीएम ने कहा कि उनकी इस घटना पर नजर है। वे लगातार गृह मंत्रालय और NDMA के अधिकारियों से बातचीत कर रहे हैं। पीएम ने इस सिलसिले में आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी से भी बातचीत की है।

Live Blog

Highlights

    19:39 (IST)07 May 2020
    अधिकारियों को युद्धस्तर पर कदम उठाने के निर्देश

    राज्य के आईटी एवं उद्योग मंत्री एम गौतम रेड्डी ने ट्वीट किया, ‘‘हमने संबंधित अधिकारियों को युद्ध स्तर पर आवश्यक कदम उठाने के निर्देश दिए हैं। गांवों को खाली कराया जा रहा है। लोगों से न घबराने और अधिकारियों के साथ सहयोग करने का अनुरोध किया जाता है।’’उन्होंने बताया कि एलजी पॉलिमर यूनिट के आसपास के गांवों को खाली कराया जा रहा है।उन्होंने बताया कि राज्य सरकार विशाखापत्तनम जिला कलेक्टरेट तथा एलजी पॉलिमर्स के प्रबंधन के साथ संपर्क में है।

    18:46 (IST)07 May 2020
    आंध्र प्रदेश सरकार ने लोगों से न घबराने की अपील की, हेल्पलाइन नंबर जारी किए

    आंध्र प्रदेश सरकार ने एक रासायनिक संयंत्र में गैस रिसाव होने के बाद विशाखापत्तनम के लोगों से न घबराने और स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए काम कर रहे अधिकारियों के साथ सहयोग करने की बृहस्पतिवार को अपील की। राज्य के आईटी एवं उद्योग मंत्री एम गौतम रेड्डी ने सिलसिलेवार कई ट्वीट कर कहा कि विशाखापत्तनम में उद्योग विभाग में महाप्रबंधक के कार्यालय में एक हेल्पडेस्क बनाया गया है। उन्होंने कहा कि लोग उप निदेशक एस प्रसाद राव से उनके मोबाइल नंबर 7997952301 और 891923934 पर संपर्क कर सकते हैं तथा एक अन्य अधिकारी आर ब्रह्म से मोबाइल नंबर 9701197069 पर संपर्क कर सकते हैं।

    18:19 (IST)07 May 2020
    विशाखापत्तनम में गैस रिसाव से कम से कम नौ श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का संचालन प्रभावित

    रेलवे ने कहा कि आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम में बृहस्पतिवार को गैस रिसाव की घटना से सिम्हाचलम उत्तर रेलवे स्टेशन से ट्रेनों की आवाजाही प्रभावित हुई है। इससे प्रभावित होने वाली ट्रेनों में फंसे प्रवासी श्रमिकों को उनके गृह राज्यों को ले जाने वाली कम से कम नौ श्रमिक स्पेशल ट्रेनें शामिल हैं। बृहस्पतिवार तड़के विशाखापत्तनम में एक रसायनिक संयंत्र से स्टाइरीन वेपर का रिसाव होने और उसके तेजी से पांच किलोमीटर के दायरे के गांवों में फैलने से ग्यारह लोगों की मौत हो गई जबकि 1,000 अन्य इससे प्रभावित हुए हैं।

    18:04 (IST)07 May 2020
    मृतक के परिजन को नौकरी देने की मांग करेगी सरकार

    मुख्यमंत्री ने यह भी घोषणा की है कि एक समिति इस घटना की जांच करेगी। साथ ही, राज्य सरकार एल जी पॉलीमर प्रबंधन से बात कर मृतक के परिजन को नौकरी देने की मांग करेगी। रेड्डी ने एक समीक्षा बैठक करने के बाद संवाददाताओं से बात करते हुए यह भी घोषणा की कि जो भी लोग इलाज के दौरान वेंटिलेटर पर हैं उन्हें 10 लाख रुपये दिये जाएंगे, जबकि गैस रिसाव के चलते स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों का सामना करने के बाद बाह्य रोगी विभाग (ओपीडी) में इलाज कराने वालों को 25,000 हजार रुपये दिये जाएंगे।

    17:43 (IST)07 May 2020
    विशाखापत्तनम संयंत्र में गैस रिसाव अब नियंत्रण में: एलजी केम

    एलजी केमिकल्स ने बृहस्पतिवार को कहा कि विशाखापत्तनम स्थित पॉलिमर संयंत्र में गैस रिसाव अब नियंत्रण में है। दक्षिण कोरिया की कंपनी एलजी केमिकल्स ने कहा कि वह स्थानीय निवासियों और कर्मचारियों की मदद के लिए भारतीय अधिकारियों के साथ मिलकर काम कर रही है।कंपनी ने एक बयान में कहा,‘‘ गैस का रिसाव अब नियंत्रण में है, लेकिन गैस रिसाव की वजह से लोगों को चक्कर आने या जी मिचलाने जैसी दिक्कतें हो सकती हैं। हम सभी प्रभावितों को उचित इलाज सुनिश्चित करने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं।’’ कंपनी स्टीरीन मोनोमर गैस के रिसाव के कारणों का पता लगा रही है। यह गैस प्लास्टिक के उत्पादन में काम आती है।

    17:22 (IST)07 May 2020
    गैस रिसावः जल्द खुलने वाला थी कंपनी, सभी मंजूरी थी हासिल

    कारखाना विभाग के अधिकारी ने कहा कि लॉकडाउन के कारण यह संयंत्र बंद था । उन्होंने कहा ,‘‘ कंपनी जल्दी ही इसे खोलने की योजना बना रही थी । इसमें कुछ ही कर्मचारी हादसे के समय मौजूद थे जिनमें सुरक्षा गार्ड और रख रखाव कर्मचारी शामिल हैं ।’’उन्होंने कहा कि फर्म के पास परिचालन के लिये सभी जरूरी मंजूरियां थी ।

    16:49 (IST)07 May 2020
    Andhra Gas Leak: गैस का प्रभाव खत्म करने में जुटे अधिकारी

    राज्य कारखाना विभाग के संयुक्त मुख्य निरीक्षक जे शिवशंकर रेड्डी ने  बताया ,‘‘ अधिकारी वाष्प में गैस का प्रभाव खत्म करने की कोशिश कर रहे हैं । धीरे धीरे ये वाष्प कम हो रहे हैं । ये पूरी तरह पकड़ में नहीं आये थे । गैस का असर खत्म करने के लिये टीबीसी (4- टर्ट - बूटीलकेटकोल) जैसे रसायनों का इस्तेमाल भी किया जा रहा है । ’’स्टाइरिन के संपर्क में आने से केंद्रीय स्नायु तंत्र पर असर पड़ सकता है जिससे सिरदर्द, थकान, कमजोरी और तनाव जैसी दिक्कतें आती हैं। आम तौर पर इसका इस्तेमाल पोलिस्टेरीन प्लास्टिक और राल बनाने के लिये किया जाता है ।

    16:36 (IST)07 May 2020
    विशाखापत्तनम गैस रिसाव : जहरीले वाष्प का फैलाव हवा की गति पर निर्भर : अधिकारी

    आंध्रप्रदेश के कारखाना विभाग के एक सीनियर अधिकारी ने कहा कि स्टाइरिन मोनोमेर वाष्प का हवा में फैलाव हवा की गति पर निर्भर करता है और फिलहाल कर्मचारी 4- टर्ट - बूटीलकेटकोल (टीबीसी) जैसे रसायनों से हवा को इसके प्रभाव से मुक्त करने की कोशिश कर रहे हैं । यहां एलजी पोलिमर्स के रसायनिक संयंत्र में तड़के गैस के रिसाव से पांच किलोमीटर तक के दायरे में गांव प्रभावित हुए हैं ।

    16:16 (IST)07 May 2020
    फैक्ट्री के आसपास के इलाकों में रह रहे 200-250 परिवारों को निकाला गया

    सरकार ने बताया कि विशाखापत्तनम में फैक्ट्री के आसपास के इलाकों में रह रहे 200-250 परिवारों को निकाला गया। एनडीआरएफ के डीजी एस एन प्रधान ने कहा कि विशाखापत्तनम में हालात अब नियंत्रण में हैं। उन्होंने कहा कि फैक्ट्री से रिसाव अब बहुत कम है, इसके पूरी तरह से बंद होने तक एनडीआरएफ वहां रहेगी।

    15:30 (IST)07 May 2020
    आंध्र प्रदेश की मदद के लिए गुजरात भेजेगा केमिकल, गैस लीक को खत्म करने में आएगा काम

    गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने आंध्र प्रदेश के सीएम जगनमोहन रेड्डी की अपील पर केमिकल कंपनियों को दमन के रास्ते केमिकल भेजने की छूट दी है। यह केमिकल विशाखापत्तनम में हुए गैस लीक को न्यूट्रलाइज करने के काम आएगा। इसके अलावा 500 500 किलो पैरा-टर्शरी ब्यूटाइल कैटेकॉल केमिकल को दमन से एयरलिफ्ट किया जाएगा।

    15:04 (IST)07 May 2020
    छत्तीसगढ़ में आंध्र प्रदेश जैसा हादसा, तीन कामगार अस्पताल भेजे गए

    छत्तीसगढ़ में एक पेपर मिल में काम करने वाले 7 कामगारों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। यह सभी मिल की टैंक की सफाई के दौरान गैस लीक का शिकार हो गए। रायगढ़ के सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस के मुताबिक, इनमें से तीन की हालत गंभीर है।

    14:40 (IST)07 May 2020
    किंग जॉर्ज अस्पताल में मरीजों से मिले मुख्यमंत्री

    आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी किंग जॉर्ज अस्पताल में गैस लीक के प्रभाव में आकर भर्ती हुए मरीजों से मिलने पहुंचे। गौरतलब है कि राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने केंद्र के साथ राज्य सरकार को भी हादसे पर नोटिस भेजा है।

    Image

    14:07 (IST)07 May 2020
    प्रधानमंत्री के प्रमुख सचिव ने दिया घटनास्थल पर एक्सपर्ट टीम भेजे जाने का आदेश

    प्रधानमंत्री के प्रमुख सचिव डॉक्टर पीके मिश्रा ने विशाखापत्तनम गैस लीक हादसे पर कैबिनेट सचिव, गृह सचिव, एनडीएमए, एनडीआरएफ और एम्स के मेडिकल एक्सपर्ट्स की हाई-लेवल मीटिंग ली। इसके बाद उन्होंने एक एक्सपर्ट्स की टीम को राहत और बचाव कार्य के लिए विशाखापत्तनम भेजे जाने का फैसला किया है। आज दोपहर को ही इस मुद्दे पर प्रेस कन्फ्रेंस भी की जाएगी।

    13:30 (IST)07 May 2020
    मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी विशाखापत्तनम रवाना, मरीजों से मिलेंगे

    विशाखापत्तनम में केमिकल फैक्ट्री से हुए गैस रिसाव के पीड़ितों से मिलने और शहर के हालात जानने के लिए मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी हैदराबाद से शहर के लिए रवाना हो गए। वे किंग जॉर्ज मेडिकल हॉस्पिटल जाएंगे। गुरुवार सुबह ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनसे बात कर हालात जानने की कोशिश की थी।

    Image

    13:09 (IST)07 May 2020
    गैस लीक पर हालात जानने के लिए पीएम मोदी ने की बैठक

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विशाखापत्तनम में केमिकल फैक्ट्री से हुए गैस लीक के खतरे पर नेशनल डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी (NDMA) के अधिकारियों के साथ बैठक की। चर्चा में मोदी के साथ रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और गृह मंत्री अमित शाह भी शामिल रहे।

    13:09 (IST)07 May 2020
    गैस लीक पर हालात जानने के लिए पीएम मोदी ने की बैठक

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विशाखापत्तनम में केमिकल फैक्ट्री से हुए गैस लीक के खतरे पर नेशनल डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी (NDMA) के अधिकारियों के साथ बैठक की। चर्चा में मोदी के साथ रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और गृह मंत्री अमित शाह भी शामिल रहे।

    12:51 (IST)07 May 2020
    डीजीपी बोले- हादसा कैसे हुआ, इसकी जांच होगी

    आंध्र प्रदेश के डीजीपी गौतम सवांग ने हादसे में अब तक 8 लोगों की मौत की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि गैस के असर को खत्म कर लिया गया है करीब 800 लोगो को अस्पताल भेजा गया। कई डिस्चार्ज भी हो चुके हैं। फैक्ट्री में यह हादसा कैसे हुआ इसकी जांच की जाएगी।

    12:38 (IST)07 May 2020
    पुलिस को रास्ते में बेहोश मिले लोग

    गोपालपट्टनम सर्किल के इंस्पेक्टर रामान्या ने मीडिया को बताया कि उन्हें घटनास्थल तक पहुंचने के दौरान करीब 50 लोग सड़क पर बेहोश मिले। ऐसे में पुलिसबल को केमिकल फैक्ट्री पहुंचने में कुछ समय लगा। बताया जा रहा है कि फैक्ट्री में कुछ लोग फंसे हैं, जिन्हें निकालने का काम अभी जारी है। एनडीआरएफ की 80 एक्सपर्ट्स की टीम इस काम में जुटी है।

    12:30 (IST)07 May 2020
    राष्ट्रपति-गृह मंत्री ने केमिकल प्लांट हादसे पर जताया दुख

    राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और गृह मंत्री अमित शाह ने विशाखापत्तनम में केमिकल प्लांट में हुए गैस लीक हादसे को बड़ी विपदा बताते हुए इसमें मरने वालों के प्रति दुख जताया है। राष्ट्रपति ने कहा, "हादसे में मारे गए लोगों और उनके परिवारों के प्रति मेरी संवेदनाएं, मैं घायलों के जल्दी ठीक होने और सभी की सुरक्षा की कामना करता हूं।" वहीं गृह मंत्री शाह ने कहा कि यह घटना काफी परेशान करने वाली है। हम एनडीएमएफ के साथ लगातार बात कर स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं।

    Next Stories
    1 IMD की नई पहल- अब जम्मू-कश्मीर के साथ पाकिस्तान के कब्जे वाले गिलगित-बाल्तिस्तान और मुजफ्फराबाद की भी कर रहा मौसम भविष्यवाणी
    2 पश्चिम बंगाल में सबसे ज्यादा 13.2% है कोरोना से मौत की रफ्तार, टेस्टिंग बहुत धीमी, निगरानी रामभरोसे, गृह सचिव ने लिखी चिट्ठी
    3 कोरोना योद्धा की दास्तां: अंतिम बार गले तक न लगा सका बेटे को
    राशिफल
    X