ताज़ा खबर
 

पाकिस्तान के लिए भारत की जासूसी कर रहे थे इंडियन नेवी के 7 जवान, पाकिस्तान महिलाओं ने इस तरह से हनीट्रैप में फंसाया

गिरफ्तार किए गए Indian Navy के जवान साल 2017 में नौसेना में भर्ती हुए थे और सितंबर, 2018 में वह Honey Trap में फंस गए। एक अधिकारी ने बताया कि 3-4 महिलाओं ने फेसबुक के जरिए जवानों से संपर्क किया और इसके बाद उन्हें ऑनलाइन रिलेशनशिप का झांसा दिया।

नौसेना के 7 जवान जासूसी के आरोप में गिरफ्तार।

आंध्र प्रदेश इंटेलीजेंस डिपार्टमेंट ने भारतीय नौसेना में चल रहे एक जासूसी रैकेट का भंडाफोड़ करने का दावा किया है। इंटेलीजेंस डिपार्टमेंट के अनुसार, उन्होंने भारतीय नौसेना के 7 जवानों को पाकिस्तान के लिए जासूसी करने के आरोप में गिरफ्तार किया है। जवानों पर आरोप है कि उन्होंने एक पाकिस्तानी हैंडलर को नौसेना के जहाजों और सबमरीन की लोकेशन की अहम जानकारी दी। आंध्र प्रदेश पुलिस ने नौसेना के 3 जवानों को विशाखापत्तनम से, 2 जवानों को करवर नेवल बेस से और 2 जवानों को मुंबई नेवल बेस से गिरफ्तार किया है।

सूत्रों के अनुसार, गिरफ्तार किए गए सभी जवान साल 2017 में नौसेना में भर्ती हुए थे और सितंबर, 2018 में वह हनीट्रैप में फंस गए। एक अधिकारी ने बताया कि “3-4 महिलाओं ने फेसबुक के जरिए जवानों से संपर्क किया और इसके बाद उन्हें ऑनलाइन रिलेशनशिप का झांसा दिया। इसके बाद महिलाओं ने जवानों को ऑनलाइन एक व्यक्ति से मिलवाया, जिसे उन्होंने बिजनेसमैन बताया। खूफिया विभाग का कहना है कि वह व्यक्ति असल में पाकिस्तानी हैंडलर था।”

“महिलाओं ने पहले भारतीय नौसेना के जवानों से सेक्सुअल बातें की और फिर उन्हें ब्लैमेल किया। इसके बदले में जवानों ने पाकिस्तानी हैंडलर को भारतीय युद्धपोत और सबमरीन की लोकेशन की जानकारी दी। अधिकारियों के अनुसार, नौसैनिकों को हवाला ऑपरेटर के जरिए इसके लिए पैसा भी मिला।”

सूत्रों के अनुसार, नौसैनिकों ने कई अहम और संवेदनशील जानकारी पाकिस्तानी हैंडलर को पास की है। आंध्र प्रदेश की खूफिया यूनिट को जैसे ही इसकी भनक लगी, उसने नौसेना की खूफिया यूनिट के साथ मिलकर इस मामले की जांच की। फिलहाल सातों आरोपी जवानों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर पूछताछ की जा रही है।

Next Stories
1 Weather: पहाड़ों में बर्फबारी से उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड, कई उड़ानें रद्द, रेल सेवाएं बाधित; जानें अपने शहर के मौसम का हाल
2 भाजपा 27 पर तो महागठबंधन 39 सीटों पर आगे, धनवार से बाबूलाल मरांडी आगे
3 नागरिकता कानून: लखनऊ में भड़की हिंसा के मामले में हिरासत में लिया गया पत्रकार
ये  पढ़ा क्या?
X