ताज़ा खबर
 

बिकने जा रहा कश्मीर के पूर्व सीएम मुफ्ती मुहम्मद सईद का पुश्तैनी घर, सुरक्षा हटाने से परिवार को खतरा

जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा छिनने की प्रक्रिया से पहले पांच अगस्त से पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती को श्रीनगर में चश्माशाही की एक झोपड़ी में हिरासत में रखा गया है।

Mufti Mohammad Sayeed and his daughter Mehnooba Muftiसाल 2014 की एक तस्वीर में मुफ्ती मुहम्मद सईद और उनकी बेटी महबूबा मुफ्ती।

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (PDP) के संरक्षक रहे मुफ्ती मुहम्मद सईद का दक्षिणी कश्मीर के बिजबेहरा में स्थित पुश्तैनी घर बेचा जा रहा है। घर बेचने की सूचना मिलने के चार सप्ताह बाद सरकार ने फैसला लिया मुफ्ती सईद के पैतृक निवास से पुलिस सुरक्षा हटा ली जाए।

नाम ना जाहिर करने की शर्त पर सईद के एक पारिवारिक सदस्य ने एक अंग्रेजी अखबार को बताया, ‘पूर्व मुख्यमंत्री के छोटे भाई मुफ्ती मुहम्मद अमीन को अस्थिर स्थिति के कारण घर में रहना मुश्किल हो रहा है।’ शख्स ने आगे कहा कि सुरक्षाकर्मियों को हटाने का निर्णय लेने के चलते परिवार के सदस्यों में असुरक्षा की भावना है।

मुफ्ती के पारिवारिक सदस्य ने कहा, ‘1990 के दशक में उग्रवाद शुरू होने से बहुत पहले कई सुरक्षा पिकेट घरों में बनाए गए थे। अब जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधान निरस्त होने के बाद घर से सुरक्षाकर्मी से हटा लिए गए। इसके चलते पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती के करीबी रिश्तेदारों ने भी अपनी सुरक्षा खो दी। इसलिए खरीदार देखने के लिए कोई दूसरा विकल्प नहीं है। परिवार के कई सदस्य पहले ही जम्मू में शिफ्ट हो चुके हैं।’

उल्लेखनीय है कि मुफ्ती परिवार के दो लकड़ी के बहुमंजिला पुस्तैनी मकान बिजबेहरा के बाबा मोहल्ला में स्थित हैं। ये पिछले दिनों में प्रदर्शनकारियों का गुस्से का शिकार होने के साथ-साथ उग्रवादियों के हमले का शिकार हुए।

पारिवारिक सूत्रों ने बताया कि जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा छिनने की प्रक्रिया से पहले पांच अगस्त से पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती को श्रीनगर में चश्माशाही की एक झोपड़ी में हिरासत में रखा गया है। महबूबा पहले ही बिजबेहरा स्थित अपने मकान की हिस्सेदारी बेच चुकी है मगर पीडीपी नेता और उनके चचेरे भाई साजद मुफ्ती का मकान अभी भी वहां है। परिवार के सदस्यों का कहना है कि बहुत ही कम खरीदार मकान देखने आ रहे हैं। हालांकि साजद मुफ्ती की योजना है कि मकान को जल्द से जल्द बेच दिया जाए। सरकार ने साजद की सुरक्षा भी हटा ली है।

पारिवारिक सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक साल 1989 की केंद्र सरकार में गृह मंत्री रहे मुफ्ती मुहम्मद सईद ने उसी घर से साल 1950 में अपनी राजनीतिक पारी की शुरुआत की। इस बीच वह दो बार जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री भी रहे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 महिला एंकर ने पैनलिस्ट को हड़काया- ‘जब भी मेरे शो में आइए, तैयारी करके आइए’
2 नीतीश पर बीजेपी दो फाड़: दो पूर्व केंद्रीय मंत्रियों को सुशील मोदी का जवाब- कैप्टन चौका, छक्का लगा रहे तो क्यों बदलें नेतृत्व?
3 Delhi Zoo में बीमार बंगाल टाइगर ने काट ली पानी पिला रहे कर्मचारी की उंगली, अंगूठा भी फ्रैक्चर
ये पढ़ा क्या...
X