ताज़ा खबर
 

नीतीश कुमार, अरविंद केजरीवाल, ममता बनर्जी, क्या है जीत का सीक्रेट? प्रशांत किशोर ने बताया काम का तरीक़ा

केवल खुले दिमाग से काम करने और आंकड़ों इक्क्ठा करके आप सफलता नहीं पा सकते हैं। जमीनी स्तर के डेटा जरिये आपकी समझ बढ़ती है। जिससे आपको अपनी चुनावी रणनीति बनाने में आसानी होती है।

चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

एक इंटरव्यू के दौरान जब पत्रकार ने चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर से पूछा था कि नीतीश कुमार अरविंद केजरीवाल जगमोहन रेड्डी अमरिंदर सिंह के सफलता के क्या राज है। इसका जवाब देते हुए प्रशांत किशोर ने बताया था कि सिर्फ डाटा को इकट्ठा करके आप सफलता नहीं पा सकते हैं।

पत्रकार करन थापर ने इंटरव्यू के दौरान प्रशांत किशोर से सवाल पूछा था कि आपने जिनके साथ चुनावी सफलता में बड़ा योगदान दिया है। आपने नीतीश कुमार अरविंद केजरीवाल, जगनमोहन रेड्डी, अमरिंदर सिंह के साथ काम किया है। आगे उम्मीद है कि आप ममता बनर्जी व एमके स्टालिन के साथ भी काम करेंगे। इन सभी के सफल होने का क्या तरीका है? इस सवाल का जवाब देते हुए प्रशांत किशोर ने कहा था कि सभी नेताओं को पहले से पता रहता है कि उन्हें क्या करना चाहिए।

कभी-कभी उनमें इस विश्वास की कमी होती है कि वे इस चुनाव में सफल होने के लिए वह इस चुनाव में सफल हो पाएंगे। कभी-कभी वह आरामदायक चीज़ों से बाहर निकलने में सक्षम नहीं होते हैं। आगे उन्होंने बताया कि केवल खुले दिमाग से काम करने और आंकड़ों को इक्क्ठा करके आप सफलता नहीं पा सकते हैं। ज़मीनी स्तर के डेटा जरिये आपकी समझ बढ़ती है। जिससे आपको अपनी चुनावी रणनीति बनाने में आसानी होती है। उन्होंने कहा था कि जब मैं डेटा और ज़मीनी स्तर की जानकारी की बात कहता हूं तो इसे सोशल मीडिया के साथ जोड़कर देखने गलती न करें।

उनके इस जवाब पर करन थापर ने पूछा कि क्या आप कुछ तरीके का सुझाव देते हैं। जिनका उन्हें अनुसरण किया जाना जरूरी होता है। क्या आप ये सब भी सुझाव देते है कि चुनावी पोस्टर कैसे होने चाहिए ? इसका जवाब देते हुए प्रशांत किशोर ने बताया कि यह वह सवाल है जो सभी जानना चाहते है कि हम क्या करते है। हम वह सब कुछ करते है जिससे हमें लगता है कि यह हमें चुनाव जीतने में मदद कर सकती है। हम अपने दिन को बेहतर तरीके से शेड्यूल करते है। हमारा काम हर चीज़ को दुरुस्त रखना है।

अगर हमें लगता है कि इससे बेहतर या प्रभावी तरीके से काम किया जा सकता है तो हम उसे भी करते है। हम एक साथ काम करते हैं। मैं जिनके साथ काम करता हूं। अगर वह कोई सलाह देते है तो उसे मैं जरूर अपनी चुनावी रणनीति में शामिल करता हूं। उन्होंने यह भी बताया था कि मैं जिनके साथ भी काम करता हूं उनके बेहद करीब रहता हूं।

Next Stories
1 कांग्रेस प्रवक्ता बताने लगे मोदी सरकार का ‘DAILY Model’, कहा- कोरोना मौत के आंकड़ों से खेल रहे
2 5 फीसदी टैक्स स्लैब में कोरोना वैक्सीन, ब्लैक फंगस की दवा टैक्स फ्री, जीएसटी काउंसिल की बैठक में कई बड़े फैसले
3 नरेंद्र मोदी, अमित शाह, जेपी नड्डा को आदित्य नाथ ने जो रिपोर्ट सौंपी उसका हॉर्वर्ड से नहीं कोई लेना-देना, ना ही उसमें है योगी सरकार की तारीफ
आज का राशिफल
X