ताज़ा खबर
 

नागरिकता कानून का विरोध: AMU में नहीं रहेगा कोई छात्र, डीजीपी बोले- आज पूरी तरह खाली करा देंगे कैम्पस

एनडीटीवी की रिपोर्ट की रिपोर्ट के मुताबिक यूपी के पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने कहा, "हम आज एएमयू को खाली कर रहे हैं, हम सभी छात्रों को घर भेजेंगे।" उन्होंने कहा "हमें पुलिस द्वारा किसी बर्बरता की कोई रिपोर्ट नहीं मिली है।"

Author नई दिल्ली | Updated: December 16, 2019 1:32 PM
पुलिस ने कहा- आज खली हो जाएंगे अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय। (indian express file)

नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ देश के विभिन्न हिस्सों में जारी प्रदर्शनों के बीच अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) में भी रविवार देर रात छात्र और पुलिसकर्मी आमने-सामने आ गए और पथराव तथा लाठीचार्ज में कम से कम 60 छात्र जख्मी हो गए। जिले में एहतियात के तौर पर इंटरनेट सेवाएं सोमवार रात 12 बजे तक के लिए बंद कर दी गई हैं। परिसर में तनावपूर्ण हालात के मद्देनजर विश्वविद्यालय को पांच जनवरी तक के लिए बंद कर दिया गया है। पुलिस प्रमुख ने कहा कि पुलिस ने संयम से काम लिया और पुलिसकर्मियों द्वारा बर्बरता की रिपोर्ट प्राप्त करने से इनकार किया।

एनडीटीवी की रिपोर्ट की रिपोर्ट के मुताबिक यूपी के पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने कहा, “हम आज एएमयू को खाली कर रहे हैं, हम सभी छात्रों को घर भेजेंगे।” उन्होंने कहा “हमें पुलिस द्वारा किसी बर्बरता की कोई रिपोर्ट नहीं मिली है।” बता दें इंटरनेट पर पुलिस के कुछ वीडियो वायरल हो रहे हैं जिसमें अलीगढ़ में सड़कों पर पुलिस को बाइक तोड़ते हुए देखा जा सकता है। एक वीडियो में पुलिस विरोध प्रदर्शनों के बीच परिसर के मुख्य द्वार से आंसू गैस के गोले भी दाग रही है।

CAA: कहीं खून से लथपथ छात्र तो कहीं लाठियों से जूझती लड़कियां, ये तस्वीरें पुलिस पर उठा रहीं सवाल

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेशवासियों से शांति और सौहार्द बनाए रखने की अपील करते हुए कहा है कि वे नागरिकता संशोधन कानून के बारे में कुछ स्वार्थी तत्वों द्वारा फैलाई जा रही अफवाहों पर ध्यान ना दें। पुलिस छात्र टकराव के बाद जिला प्रशासन और एएमयू प्रशासन की बैठक रात करीब 2 बजे तक चली। आज सुबह विश्वविद्यालय प्रशासन के तमाम जिम्मेदार अधिकारियों की बैठक भी हुई। आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक, एएमयू में हुई घटना के बाद जिला प्रशासन ने जिले में इंटरनेट सेवाओं को सोमवार रात 12 बजे तक बंद रखने के आदेश दिए हैं।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, जामिया मिलिया इस्लामिया में पुलिस द्वारा छात्रों के खिलाफ कथित दमनपूर्ण कार्रवाई की अफवाह के बाद एएमयू में प्रदर्शनकारी छात्र रविवार देर रात विश्वविद्यालय के बाब-ए-सर सय्यद गेट पर एकत्र हुए और सुरक्षा के लिए लगाया गया गेट तोड़ डाला। छात्रों ने पुलिस पर पथराव भी किया जिसमें कुछ पुलिसर्किमयों के घायल होने की सूचना है। पुलिस ने उन्हें रोकने के लिए लाठीचार्ज किया और आंसू गैस का भी इस्तेमाल किया। इस दौरान दोनों ओर से पत्थरबाजी हुई जिसमें कम से कम 60 छात्र जख्मी हो गए। कुछ पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं।

CAA: कहीं खून से लथपथ छात्र तो कहीं लाठियों से जूझती लड़कियां, ये तस्वीरें पुलिस पर उठा रहीं सवाल

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 ‘राहुल गांधी ऐतिहासिक भूल, साबित होंगे कांग्रेस के बहादुर शाह जफर’ बीजेपी नेता ने साधा निशाना
2 ‘कायर है यह सरकार’ जामिया के छात्रों को पीटने पर भड़कीं प्रियंका गांधी वाड्रा, केंद्र पर किया तीखा हमला
3 मुसलमान भरोसे के काबिल नहीं- यही साबित करना चाहती है मोदी सरकार: मौलाना मदनी; नागरिकता कानून के खिलाफ आज जाएंगे कोर्ट
ये पढ़ा क्‍या!
X