ताज़ा खबर
 

CAA को लेकर अमित शाह ने राहुल गांधी को दी चुनौती, योगी आदित्यनाथ बोले- ‘कांग्रेस का विरोध, देश के खिलाफ षड्यंत्र’

योगी आदित्यनाथ बोले- ‘‘कांग्रेस नागरिकता कानून को लेकर देश के लोगों को भड़काने का काम कर रही है। उनका यह विरोध भाजपा पार्टी का विरोध नहीं बल्कि देश के खिलाफ षड्यंत्र है।’’

Author Edited By नितिन गौतम नई दिल्ली | Updated: January 18, 2020 10:10 PM
Amit Shah, BJP, CAA, Netflixकेन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह। (फाइल फोटो)

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने CAA को लेकर जारी हंगामे के बीच कांग्रेस पर हमला बोला। अमित शाह ने शनिवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी को यह साबित करने की चुनौती दी कि संशोधित नागरिकता कानून किसी भी भारतीय मुस्लिम की नागरिकता छीन लेगा। साथ ही उन्होंने गांधी को यह कानून पूरा पढ़ने की सलाह भी दे डाली।

केन्द्रीय गृह मंत्री ने सीएए का विरोध कर रहे लोगों को “दलित विरोधी” करार देते हुए कहा कि नये कानून में ऐसी कोई धारा नहीं है जिसके तहत मुस्लिमों की नागरिकता ले ली जाएगी।

अमित शाह ने कहा, “मैं राहुल गांधी को चुनौती देता हूं…सीएए पूरी तरह पढ़ें, अगर आपको कुछ भी ऐसा मिले जो भारतीय मुस्लिमों की नागरिकता लेता हो…हमारे संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी आपके साथ चर्चा करने के लिए तैयार हैं।” भाजपा के राष्ट्रव्यापी ‘जन जागरण अभियान’ के तहत सीएए पर जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कांग्रेस पर देश को धर्म के आधार पर बांटने का आरोप लगाया।

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कांग्रेस, कम्युनिस्ट पार्टी, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, जद(एस), बसपा और सपा पर सीएए को लेकर वोट बैंक की राजनीति करने का आरोप लगाया।

‘यह भाजपा विरोध नहीं बल्कि देश के खिलाफ षड्यंत्र है’: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी कांग्रेस पर आरोप लगाया कि विपक्षी पार्टी संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) को लेकर देश के लोगों को भड़काने का काम कर रही है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर यहां संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय के खेल मैदान में आयोजित एक जनसभा को संबोधित करते हुए ये बातें कहीं।

उन्होंने कहा कि, ‘‘कांग्रेस नागरिकता कानून को लेकर देश के लोगों को भड़काने का काम कर रही है। उनका यह विरोध भाजपा पार्टी का विरोध नहीं बल्कि देश के खिलाफ षड्यंत्र है।’’ उन्होंने कहा कि गृहमंत्री अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यह निर्णय देश की भावनाओं के अनुरूप लिया है।

उन्होंने कहा, ‘‘मोदी सरकार ने जो कहा सो किया। विपक्षी पार्टियां कहती थीं मंदिर का फैसला आते ही देश में खून की नदियां बहेंगी। पर ऐसा कुछ नहीं हुआ।’’ उन्होंने कहा कि पहली बार महिला सशक्तीकरण का काम तीन तलाक को लेकर हुआ। प्रधानमंत्री मोदी ने इस कुप्रथा को समाप्त किया।

योगी आदित्यनाथ ने आरोप लगाते हुए कहा, ‘‘कांग्रेस ने अलगाववाद वाले अनुच्छेद 370 को संविधान में डाल दिया था, जो पूरे देश में आतंकवाद का कारण था। डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने भी कहा था कि देश में दो कानून नहीं चलेगा। भाजपा सरकार ने अनुच्छेद 370 समाप्त करने का महत्वपूर्ण कदम उठाया है।’’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ममता के गढ़ में बीजेपी कार्यकर्ताओं पर पुलिस का लाठीचार्ज, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष घोष को सीएए के समर्थन में रैली करने से पहले रोका!
2 Delhi Election 2020: कांग्रेस ने जारी की 54 उम्मीदवारों की सूची, बसपा ने भी घोषित किए उम्मीदवार
3 डिबेट में बोले पैनलिस्ट- CAA-NRC के जरिए 20 करोड़ लोगों को देश से बाहर निकाला जाएगा, महिला एंकर भड़कीं- गलत बात मत कीजिए
ये पढ़ा क्या?
X