ताज़ा खबर
 

Amit shah बोले- राहुल बाबा चैलेंज देता हूं CAA में किसी की भी नागरिकता लेने का प्रावधान है तो दिखाइए

Home Minister Amit shah In Shimla: शिमला में अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस एंड कंपनी अफवाह फैला रही है कि नागरिकता संशोधन कानून से अल्पसंख्यक लोगों की नागरिकता जाने वाली है। मैं राहुल बाबा को चैलेंज देता हूं कि इस एक्ट में एक भी जगह किसी की भी नागरिकता लेने का प्रावधान है तो दिखाइए।

CAA Row, NRC, NPR, National Register of Citizens, National Population Register, Amit Shah, Home Minister, ANI, Smita Prakash, BJP, NDA, Narendra Modi Government, National News, Hindi Newsगृह मंत्री अमित शाह। (ऐक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

Amit shah In Shimla: देश के गृहमंत्री अमित शाह शुक्रवार (27 दिसंबर) को हिमाचल प्रदेश के शिमला पहुंचे। यहां उन्होंने जयराम सरकार के दो साल के कार्यकाल के पूरे होने पर ऐतिहासिक रिज मैदान में लोगों संबोधित किया। इस दौरान नागरिकता कानून पर बोलते हुए शाह ने कहा, मैं आज इस देश के सभी नागरिकों से कहना चाहता हूं कि इस एक्ट में कहीं पर भी किसी की भी, माइनॉरिटी की भी नागरिकता छीनने का प्रावधान ही नहीं है। बांग्लादेश, पाकिस्तान और अफगानिस्तान से जो अल्पसंख्यक भाई आए हैं, उन्हें नागरिकता देने का प्रावधान है।”

राहुल गांधी को दिया चैलेंज: शिमला में अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस एंड कंपनी अफवाह फैला रही है कि नागरिकता संशोधन कानून से अल्पसंख्यक लोगों की नागरिकता जाने वाली है। मैं राहुल बाबा को चैलेंज देता हूं कि इस एक्ट में एक भी जगह किसी की भी नागरिकता लेने का प्रावधान है तो दिखाइए। शाह ने कहा कि लाखों-करोड़ों शरणार्थियों की कोई सुध नहीं ले रहा था।पीएम नरेन्द्र मोदी जी ने इनको नागरिकता देने की पहल की और नागरिकता संशोधन कानून बनाया।

Hindi News Today, 27 December 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

आर्टिकल 370 और राममंदिर पर दिया बयान: अमित शाह ने कहा कि हम सब बचपन से नारा लगाते थे कि इस देश में दो निशान, दो प्रधान और दो संविधान नहीं चलेंगे। लेकिन वर्षों तक कुछ नहीं हुआ। लेकिन आज जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 समाप्त हो गया है। वहीं राममंदिर पर उन्होंने कहा कि राम जन्मभूमि के लिए भी कांग्रेस की सरकारों ने बहुत टाल-मटोल की, जब भी केस आता था तो कांग्रेस के नेता जाकर बोलते थे अभी नहीं, अभी नहीं। लेकिन सुप्रीम कोर्ट में केस चला और निर्णय आया।

शरणार्थी पर कही यह बात: शाह ने कहा कि 1950 में नेहरू-लियाकत समझौता हुआ, जिसके तहत ये समझौता हुआ कि दोनों देश अपने वहां अल्पसंख्यकों का संरक्षण करेंगे। लेकिन पाकिस्तान, बांग्लादेश, अफगानिस्तान में ऐसा नहीं हुआ। वहां धर्म के आधार पर अल्पसंख्यकों को प्रताड़ित होना पड़ा।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 NRC विवाद: ममता बनर्जी बोलीं- आग से ना खेले BJP, मैं खुद नहीं जानती अपने पिता की बर्थ डेट
2 बंद के दौरान आग लगाने के लिए तैयार रहना- कांग्रेस नेता का ऑडियो वायरल, दी सफाई- इंसाफ ही नहीं मिल रहा तो क्या करें
3 ओवैसी ने CAA को बताया सांप्रदायिक, BJP सांसद बोले- इस पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज कर हमेशा के लिए भेज दो जेल
ये पढ़ा क्या?
X