ताज़ा खबर
 

आठ तारीख को दूंगा जवाब: शाह

अमित शाह ने एक पुस्तिका का लोकार्पण किया जिसमें आरोप लगाया गया है कि मोदी सरकार बनने के बाद देश में सामने आए दूसरे विचार से तिलमिलाए कांग्रेसी और..

Author नई दिल्ली | November 6, 2015 1:16 AM
भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह (पीटीआई फोटो)

कथित बढ़ती असहिष्णुता के विरोध में 24 फिल्मकारों, लेखकों और कलाकारों के गुरुवार को अपने पुरस्कार लौटाने के बीच भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने एक पुस्तिका का लोकार्पण किया। इसमें आरोप लगाया गया है कि मोदी सरकार बनने के बाद देश में सामने आए दूसरे विचार से तिलमिलाए कांग्रेसी और कम्युनिस्ट बुद्धिजीवी ऐसा कर रहे हैं।

शाह ने पार्टी द्वारा प्रकाशित ‘सत्य को जानिए- कुछ गुमराह हैं- कुछ गुमराह कर रहे हैं- ये तथाकथित बुद्धिजीवी तब चुप और अब हिसंक क्यों- यह और कुछ नहीं, बल्कि विचारधारात्मक असहिष्णुता है’ शीर्षक वाली पुस्तिका का यहां भाजपा मुख्यालय में लोकार्पण किया। यह पुस्तिका पार्टी के कुछ नेताओं, लेखकों की रचनाओं के अलावा कुछ अखबारों में प्रकाशित खबरों का संग्रह है। भाजपा मुख्यालय में इस पुस्तिका का शाह ने लोकार्पण तो किया, लेकिन किसी भी सवाल का जवाब देने से इनकार करते हुए कहा कि वे आठ नवंबर, बिहार विधानसभा चुनाव के परिणाम आने के दिन, मीडिया से बात करेंगे।

समारोह में मौजूद केंद्रीय मंत्री और पार्टी के वरिष्ठ नेता एम वेंकैया नायडू ने हालांकि पुस्तिका की प्रस्तावना रखते हुए असहिष्णुता बढ़ने के नाम पर पुरस्कार लौटाने वालों पर आरोप लगाया कि ऐसा करने वालों का एकमात्र मकसद मोदी सरकार के विकास के एजंडे को पटरी से उतारना है। उन्होंने कहा कि पिछले 60 साल कांग्रेस सत्ता पर और उसके सहयोगी कम्युनिस्ट अकादमिक और सांस्कृतिक संस्थाओं पर काबिज रहे। इन सारे सालों में केवल एक विचार आगे बढ़ाया गया और दूसरे विचार को दबाया गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App