ताज़ा खबर
 

अमित शाह कोलकाता की रैली में बोले- ममता बनर्जी को बंगाल से बेदखल नहीं किया गया तो भाजपा की 19 राज्यों में सरकार बेमानी

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि बंगाल की जनता बदलाव चाहती है। रैली को संबोधित करते हुए भाजपा अध्यक्ष ने राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर खूब निशाना साधा। ममता बनर्जी सरकार ने राज्य में लॉ एंड ऑर्डर खत्म कर दिया है।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह (image source-ANI)

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने आज कोलकाता के मायो रोड पर एक रैली को संबोधित किया। इस रैली के दौरान भारी भीड़ देखकर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह काफी गदगद नजर आए और कहा कि ‘सभा स्थल पर मौजूद जनसैलाब यही संदेश दे रहा है कि इस बार पश्चिम बंगाल में कमल खिलेगा।’ भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि बंगाल की जनता बदलाव चाहती है। रैली को संबोधित करते हुए भाजपा अध्यक्ष ने राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर खूब निशाना साधा। ममता बनर्जी सरकार ने राज्य में लॉ एंड ऑर्डर खत्म कर दिया है। यहां बस अपराधियों का बोलबाला है। जब तक ममता बनर्जी को बंगाल से बेदखल नहीं किया गया, तब तक भाजपा की 19 राज्यों में सरकार बेमानी है।

अमित शाह ने साफ करते हुए कहा कि हमारे लिए देश की सुरक्षा सबसे बड़ी प्राथमिकता है। बंगाल से घुसपैठियों को भगाएंगे, शरणार्थियों को नहीं। शाह ने ममता बनर्जी को लगभग चुनौती देते हुए कहा कि ममता सरकार सुन ले, हमारी आवाज बंद नहीं कर पाओगे। मैं पूरे बंगाल के हर जिले में आंदोलन लेकर जाऊंगा। राज्य सरकार पर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा कि बंगाल ने ममता बनर्जी को इसलिए चुना था कि क्योंकि वह भ्रष्टाचार के खिलाफ खड़ी हुईं थी। लेकिन अब राज्य में घोटाले ही घोटाले हो रहे हैं। अमित शाह ने कहा कि ममता सरकार में कानून व्यवस्था की धज्जियां उड़ रही हैं, कारखाने बंद हो रहे हैं और बम बनाने के कारखाने खुल रहे हैं। अपराध के सारे रिकॉर्ड टूट गए हैं।

एनआरसी के मुद्दे पर बोलते हुए अमित शाह ने कहा कि असम में एनआरसी का काम शांतिपूर्ण तरीके से किया जाएगा। एनआरसी के काम को ना तो ममता बनर्जी रोक सकती हैं, ना ही राहुल गांधी। अमित शाह ने ममता बनर्जी और राहुल गांधी से एनआरसी के मुद्दे पर अपना स्टैंड क्लीयर करने की मांग की। खासकर एनआरसी के मुद्दे पर अमित शाह ने ममता बनर्जी के स्टैंड की जमकर आलोचना की। अमित शाह ने कहा कि “ममता दीदी और कांग्रेस के नेता कृप्या आप स्पष्ट करें कि आप लोग देश के साथ हैं या फिर सिर्फ वोट बैंक की राजनीति कर रहे हैं। शाह ने रैली में मौजूद लोगों से सवाल करते हुए पूछा कि आप लोग ही बताइए, क्या बांग्लादेशी घुसपैठिए देश के लिए खतरा नहीं हैं? क्या हमें उन्हें नहीं निकालना चाहिए? हमारे लिए सबसे पहले देश है, वोट बैंक नहीं।” अमित शाह ने कहा कि ममता जी के शासन में घुसपैठ नहीं रोका गया तो पश्चिम बंगाल सलामत नहीं है। घुसपैठ रोकने का आसान तरीका एनआरसी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App