ताज़ा खबर
 

अमित शाह और स्‍मृति ईरानी गुजरात से लड़ेंगे राज्‍य सभा चुनाव, बीजेपी संसदीय बोर्ड का फैसला

स्मृति ईरानी भी गुजरात से राज्यसभा के लिए नामांकन करेगी। यह जानकारी दिल्ली में बीजेपी संसदीय बोर्ड की बैठक में के बाद केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा ने दी।

2015 में एक कार्यक्रम के दौरान स्‍मृति ईरानी और अमित शाह। (Express Archive Photo)

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह गुजरात से राज्यसभा चुनाव लड़ेंगे। उनके गुजरात से राज्यसभा की दावेदारी पेश करने की चर्चा है। शाह अहमदाबाद के नारणपुरा से विधायक हैं। बताया जा रहा है कि आगामी विधानसभा चुनाव अब अमित शाह नहीं लड़ेंगे। अब शाह राज्यसभा के लिए नामांकन दाखिल करेंगे। वहीं स्मृति ईरानी भी गुजरात से राज्यसभा के लिए नामांकन करेगी। यह जानकारी दिल्ली में बीजेपी संसदीय बोर्ड की बैठक में के बाद केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा ने दी।

बीजेपी की संसदीय बोर्ड की बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने कहा, ‘अमित शाह और स्मृति ईरानी गुजरात से राज्यसभा का चुनाव लड़ेंगे।’ उन्होंने कहा कि राज्यसभा के चुनाव के लिए संसदीय बोर्ड में चर्चा हुई। गुजरात से पार्टी अध्यक्ष अमित शाह और स्‍मृति ईरानी राज्‍य सभा जाएंगे। वहीं मध्‍य प्रदेश की एकमात्र राज्‍यसभा सीट से संपतिया उइके को उम्‍मीदवार बनाया गया है। उइके आदिवासी नेता हैं। बता दें कि मध्‍य प्रदेश की राज्‍यसभा सीट पर्यावरण मंत्री अनिल माधव दवे के निधन के चलते खाली पड़ी हुई थी। इसके चलते इस सीट के लिए उपचुनाव हो रहा है।

गुजरात से कुल 11 राज्यसभा सदस्यों में से बीजेपी नेता स्मृति ईरानी और दिलीप भाई पंड्या का कार्यकाल आने वाली 18 अगस्त को खत्म हो रहा है। आज दिल्ली में अचानक से बीजेपी संसदीय बोर्ड की बैठक बुलाई गई। ये बैठक बिहार में नीतीश कुमार के मुख्यमंत्री पद के इस्तीफा देने के तुरंत बाद बुलाई गई। जिसमें अमित शाह और स्मृति ईरानी को राज्यसभा भेजे जाने की बात पर भी चर्चा की गई। बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी प्रमुख अमित शाह मौजूद थे।

उल्लेखनीय है कि 2014 में लोकसभा चुनाव में बीजेपी के प्रचंड जीत के बाद अमित शाह को गृह मंत्री बनाए जाने की बात कही गई थी। उन्हीं के नेतृत्व में बीजेपी को कई प्रदेशों के चुनाव में जीत मिली है। वहीं, स्मृति ईरानी 2014 में अमेठी से कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ा था लेकिन वह हार गईं। केंद्र में बीजेपी की सरकार बनने पर ईरानी को मानव संसाधन विकास मंत्रालय की अहम जिम्मेदारी सौंपी गयी थी। इसके बाद ईरानी को कपड़ा मंत्रालय और हाल ही में हुए कैबिनेट फेरबदल में उन्हें सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय का कार्यभार भी सौंपा गया है।

देखिए वीडियो - नीतीश कुमार ने दिया बिहार का मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा़

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App