घाटी में आतंक के बीच गिरिराज सिंह ने की भारत-पाक मैच रद्द करने की मांग, ओवैसी बोले- सरकार हर चीज में नाकाम

लोगों का गुस्सा इसलिए बढ़ रहा है क्योंकि जम्मू कश्मीर में आतंकी गोलियां बरसा रहे हैं। चुन-चुनकर गैर-कश्मीरियों और अल्पसंख्यकों को निशाना बनाया जा रहा है। फिर भी 24 अक्टूबर को मैच की तैयारियां की जा रही हैं।

Giriraj Singh Asaduddin Owaisi
जम्मू कश्मीर में जो हालात बने हुए हैं, उसे देखते हुए भारत-पाक मैच रद्द कराने की मांग की जा रही है। इस मुद्दे पर केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह का कहना है कि मैच रद्द करने पर विचार किया जाना चाहिए। (फाइल फोटो)

जम्मू कश्मीर में जो हालात बने हुए हैं, उसे देखते हुए भारत-पाक मैच रद्द कराने की मांग की जा रही है। इस मुद्दे पर केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह का कहना है कि मैच रद्द करने पर विचार किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि आतंक फैलाने का अंजाम तो भुगतना ही होगा।

बता दें कि ये मैच टी-20 वर्ल्डकप के तहत होना है और इसे रद्द करने की मांग हर तरफ से उठ रही है। लोगों का कहना है कि आतंक फैलाने वालों के साथ मैच क्यों खेला जा रहा है?

दरअसल लोगों का गुस्सा इसलिए बढ़ रहा है क्योंकि जम्मू कश्मीर में आतंकी गोलियां बरसा रहे हैं। चुन-चुनकर गैर-कश्मीरियों और अल्पसंख्यकों को निशाना बनाया जा रहा है। फिर भी 24 अक्टूबर को मैच की तैयारियां की जा रही हैं।

वैसे तो भारत आतंकवाद के मुद्दे पर पाक से रिश्ते पहले तोड़ चुका है। दोनों देश काफी समय से कोई सीरीज साथ में नहीं खेल रहे हैं। लेकिन जब बात वर्ल्डकप की आती है तो भारत थोड़ा नरमी से पेश आता है।

लेकिन बीते कुछ समय से पाक समर्थित आतंकी लगातार घाटी में घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं, इसी वजह से पाक के साथ मैच को बहिष्कार करने की मांग उठ रही है। ट्विटर पर हैशटैग ‘बैन पाक क्रिकेट’ ट्रेंड कर रहा है।

वहीं इस मामले में AIMIM प्रमुख और सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने बीजेपी और केंद्र सरकार पर निशाना साधा है।

उन्होंने कहा कि फौज के सिपाही मर रहे हैं, सिविलियन्स की टारगेटेड किलिंग हो रही है, ये सब पड़ोसी देश से आ रहे हैं, क्या अब इनको बिरियानी और कबाब खिलाएंगे? क्या बीजेपी के पास इनसे निपटने के लिए कोई पॉलिसी है? क्या चीन से निपटने के लिए कोई पॉलिसी है? उन्होंने कहा कि सरकार हर चीज में नाकाम रही है।

बता दें कि जम्मू-कश्मीर के पंपोर में शनिवार को सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को मार गिराया था। आतंकियों की पहचान उमर मुस्ताक और बशीर के तौर पर हुई थी। दोनों लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े हुए थे। पुलिस के मुताबिक इनमें से एक आतंकी श्रीनगर में 2 पुलिसकर्मियों की हत्या में शामिल था। पुलिस का कहना है कि अभी तक 13 आतंकी मारे गए हैं। ऑपरेशन अभी भी जारी है। दो आतंकियों की तलाश की जा रही है।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
विनोद राय ने मनमोहन सिंह पर बोला हमला, कहा- ‘कांग्रेसी नेताओं ने बनाया था दबाव’
अपडेट