ऑक्सीजन और वैक्सीन के आयात पर कस्टम ड्यूटी से मिलेगी छूट, कोरोना के बढ़ते केसों के बीच मोदी सरकार का अहम फैसला

भारत में ऑक्सीजन सप्लाई चेन टूटने के चलते केंद्र सरकार ने जर्मनी और सिंगापुर से ऑक्सीजन टैंकर मंगाए हैं।

Author Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र नई दिल्ली | Updated: April 24, 2021 3:53 PM
PM Narendra Modi, Coronavirusकोरोना के बढ़ते मामलों के बीच पीएम मोदी लगातार कर रहे हैं बैठक। (फोटो- पीटीआई)

भारत में कोरोनावायरस के मामलों के बढ़ने के साथ ही देशभर में ऑक्सीजन और मेडिकल सप्लाई की कमी हो गई है। इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज देश में ऑक्सीजन की सप्लाई सुनिश्चित करने के लिए एक बैठक की। इसमें सभी बड़े मंत्रियों के साथ अफसर भी शामिल हुए। सरकार की ओर से जारी बयान के मुताबिक, इसमें फैसला हुआ कि विदेश से लाई जाने वाली ऑक्सीजन और ऑक्सीजन से जुड़े उपकरणों को कस्टम ड्यूटी और स्वास्थ्य सेस से छूट दी जाएगी। इसके अलावा वैक्सीन को भी बेसिक कस्टम ड्यूटी से छूट देने का फैसला किया गया है। सरकार के मुताबिक, यह छूट तत्काल प्रभाव से लागू हो गई है और अगले तीन महीने तक जारी रहेगी।

सरकार की ओर से जारी बयान में बताया गया है कि मोदी ने बैठक में साफ कहा कि देश में इस वक्त ऑक्सीजन की सबसे ज्यादा जरूरत है। उन्होंने इसके लिए मेडिकल ग्रेड ऑक्सीजन के साथ इससे जुड़े उपकरणों की सप्लाई बढ़ाने पर जोर दिया, ताकि मरीजों को घर के साथ अस्पतालों में भी जरूरी चिकित्सा मिल पाए।

बयान में यह भी कहा गया है कि पीएम ने सभी मंत्रालयों और विभागों को एकजुट होकर तारम्यता से काम करने की सलाह दी है, ताकि ऑक्सीजन और मेडिकल सप्लाई बढ़ाई जा सके। इसी के मद्देनजर ऑक्सीजन और ऑक्सीजन से जुड़े मेडिकल उत्पादों पर से बेसिक कस्टम ड्यूटी और स्वास्थ्य सेस हटाने का निर्णय लिया गया।

इसके अलावा पीएम ने राजस्व विभाग को निर्देश दिए कि वह ऑक्सीजन से जुड़े उपकरणों की तुरंत और बेरोकटोक कस्टम क्लियरेंस को सुनिश्चित करे। दूसरी तरफ विदेश से आयात होने वाली वैक्सीनों को भी तीन महीने तक बेसिक कस्टम ड्यूटी से छूट देने का फैसला लिया गया।

कई देशों ने कही साथ खड़े होने की बात: इस बीच ऑस्ट्रेलिया, पाकिस्तान, फ्रांस और चीन समेत कई अन्य देशों ने इस मुश्किल समय में भारत के साथ खड़े होने की बात कही है। ऑस्ट्रेलिया के पीएम स्कॉट मॉरिसन ने कहा कि हम जानते हैं कि भारत देश कितना मजबूत और भरोसेमंद है। पीएम मोदी और मैं इस वैश्विक चुनौती से निपटने के लिए साझेदारी में काम करते रहेंगे।

इससे पहले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि इस मुश्किल वक्त में वे कोरोना की दूसरी लहर का सामना कर रहे भारत के साथ खड़े हैं। उन्होंने कहा कि इस महामारी से हमारे पड़ोस और पूरी दुनिया में प्रभावित लोगों के लिए हम जल्द ठीक होने की प्रार्थना करते हैं। हमें मानवता के खिलाफ खड़ी इस वैश्विक चुनौती का साथ में सामना करना होगा।

Next Stories
1 कोरोनाः ‘जुगाड़ तंत्र’ से गाजियाबाद पुलिस ने निकाला भाप लेने का नया तरीका, VIDEO देख बोले लोग- यह न्यू इंडिया है
2 PM मोदी, शाह को बताने का किया प्रयास कि वे गलत राह पर हैं- बोले मेघालय के राज्यपाल
3 अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का हो रहा है दुरुपयोग! जस्टिस एसए बोबडे ने जताई चिंता
यह पढ़ा क्या?
X