पेगासस पर रिपोर्ट देने वाले ‘द वायर’ के दफ़्तर पहुंची दिल्ली पुलिस, DCP बोले- रूटीन चेकिंग

द वायर दुनियाभर के उन 16 मीडिया संस्थानों में से है, जो पेगासस स्पाईवेयर के लीक हुए फोन नंबर के डेटाबेस के जरिए इसके लक्ष्यों की पहचान में जुटी हैं।

The Wire, Pegasus Project
द वायर के एडिटर सिद्धार्थ वरदराजन ने ट्वीट की दिल्ली पुलिस की रूटीन चेकिंग की जानकारी। (फोटो- ट्विटर/@SVaradrajan) बाद में डीसीपी ने भी फोटो शेयर कर दौरे की वजह बताई। (दाईं फोटो- ट्विटर/@DCPNewDelhi)

पेगासस स्पाईवेयर के जरिए कथित तौर पर कई नामी हस्तियों की जासूसी कराने के आरोपों को लेकर केंद्र सरकार लगातार घिर रही है। विपक्षी दलों ने संसद में भी इसे लेकर हंगामा जारी रखा है। इस बीच दिल्ली पुलिस ने शुक्रवार को ही इस स्पाईवेयर के निशाने पर आए लोगों की जानकारी देने वाले मीडिया संस्थान ‘द वायर’ के दफ्तर का दौरा किया। हालांकि, जिले के डीसीपी का कहना है कि यह 15 अगस्त के मद्देनजर रूटीन चेकिंग थी।

गौरतलब है कि द वायर दुनियाभर के उन 16 मीडिया संस्थानों में से है, जिन्होंने फ्रांस की गैर-लाभकारी संस्था फॉरबिडेन स्टोरीज और मानवाधिकार संगठन एम्नेस्टी इंटरनेशनल के साथ साझेदारी की है। यह संस्थाएं साथ मिलकर पेगासस स्पाईवेयर के लीक हुए फोन नंबर के डेटाबेस के जरिए इसके लक्ष्यों की पहचान में जुटी हैं।

द वायर के एडिटर सिद्धार्थ वरदराजन ने दिल्ली पुलिस के कर्मियों के दौरे को लेकर ट्वीट किया। उन्होंने लिखा, “द वायर के दफ्तर मे एक अलग सा दिन। पेगासस प्रोजेक्ट के बाद पुलिसकर्मी आज आए और अजीब पूछताछ करने लगे। कौन हैं विनोद दुआ? कौन हैं स्वरा भास्कर? क्या हम आपका रेंट एग्रीमेंट देख सकते हैं? क्या हम आरफा से बात कर सकते हैं? जब उनसे आने का कारण पूछा गया, तो उन्होंने कहा कि यह 15 अगस्त की रूटीन चेकिंग है।”

जब इस मामले में नई दिल्ली जिले के डीसीपी दीपक यादव से जानकारी मांगी गई, तो उन्होंने कहा, “15 अगस्त के मद्देनजर पूरे जिले में रूटीन चेकिंग की जा रही है।” उन्होंने वरदराजन के ट्वीट पर भी रिप्लाई किया और कहा, “स्वतंत्रता दिवस की तैयारी में सुरक्षा और आतंकरोधी कदम उठाए जा रहे हैं। इसके तहत किराएदारों का सत्यापन, गेस्ट हाउस की चेकिंग और अन्य कदम उठाए गए हैं। स्थानीय पुलिसकर्मी एक दफ्तर का सत्यापन करने गया था, जहां सामने गेट पर कोई साइनबोर्ड नहीं था।”

बता दें कि 15 अगस्त को दिल्ली-एनसीआर में जबरदस्त सुरक्षा व्यवस्था की जाएगी। इसके लिए सीमाई इलाकों पर भी निगरानी शुरू कर दी गई है। एनएसजी और एसपीजी जैसी एजेंसियों के साथ आईटीबीपी को भी हाई अलर्ट पर रखा गया है। करीब 45 हजार सुरक्षाकर्मी स्वतंत्रता दिवस पर दिल्ली की सुरक्षा में जुटेंगे। वहीं दो हजार स्नाइपर अलग-अलग लोकेशन से लाल किले के आसपास नजर रखेंगे।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट