ताज़ा खबर
 

प्रवासियों के घर लौटने का विरोध करने वाले नीतीश कुमार ने की स्पेशल ट्रेन की मांग, डिप्टी सीएम भी आए साथ

Corona Virus in India: सीएम नीतीश कुमार के साथ बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार ने भी उनकी हां में हां मिलाई है। सुशील कुमार ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि मैं भारत सरकार से अपील करता हूं कि प्रवासियों को बिहार वापस लाए जाने के लिए विशेष ट्रेन का प्रबंध किया जाए।

लॉकडाउन में परदेस में फंसे बिहार के मजदूरों और छात्रों की वापसी को लेकर नीतीश सरकार ने नोडल ऑफिसरों को तैनात किया है। (फाइल फोटो)

Corona Virus in India: कोरोना वायरस के चलते देशभर में लागू लॉकडाउन के बीच देश के अलग-अलग राज्यों में फंसे मजदूरों को उनके गृह राज्य जाने को लेकर गृह मंत्रालय ने गाइडलाइंस जारी कर दी है। इस बीच  बिहार के मजदूरों को  वापस बुलाने के लिए नीतीश कुमार भी आगे आते नजर आ रहे हैं।

लॉकडाउन के बीच लोगों को दूसरे राज्यों से लाए जाने की बात का विरोध कर चुके नीतीश कुमार नरम रुख अपनाते नजर आ रहे हैं। उन्होंने प्रवासी मजदूरों को निकालने के लिए केंद्र सरकार से स्पेशल ट्रेन के लिए कहा है।मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने  फंसे हुए प्रवासियों को निकालने के लिए केंद्र सरकार द्वारा दी गई छूट के निर्णय का स्वागत किया है। साथ ही इसे उपयुक्त बताते हुए केंद्र सरकार को धन्यवाद दिया है।

सीएम नीतीश कुमार के साथ बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार ने उनके इस निर्णय का समर्थन किया है। सुशील कुमार ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि मैं भारत सरकार से अपील करता हूं कि प्रवासियों को बिहार वापस लाए जाने के लिए विशेष ट्रेन का प्रबंध किया जाए।

बुधवार को गृह मंत्रालय के फैसले पर खुशी जाहिर करते हुए उन्होंने कहा था कि देश के अलग-अलग राज्यों में बिहार के 20 लाख लोग हैं। वह वापस बिहार आना चाहते हैं। हमें खुशी है कि केंद्र सरकार ने हमारी गुजारिश को मान लिया है। लोगों को बिहार लाया जाएगा और सभी लोगों पर निगरानी रखी जाएगी।

Bihar Coronavirus LIVE Updates

इससे पहले राजस्थान के कोटा में फंसे छात्रों को वापस बिहार लाने को लेकर उन्होंने कहा था कि, ‘केंद्र सरकार के दिशा-निर्देशों के अनुरुप हम बंद का पालन कर रहे हैं।गृह मंत्रालय द्वारा जारी आपदा प्रबंधन कानून के अनुसार अन्तरराज्यीय आवागमन पर प्रतिबंध है, जब तक नियमों में संशोधन नहीं होगा, तब तक किसी को भी वापस बुलाना नियम संगत नहीं है। केन्द्र सरकार इसके लिये आवश्यक दिशा-निर्देश जारी करे।’ उन्होंने कहा था कि कोटा ही नहीं, देश के अन्य हिस्सों में भी बड़ी संख्या में बिहार के छात्र पढ़ते हैं।

Coronavirus से जुड़ी जानकारी के लिए यहां क्लिक करें: कोरोना वायरस से बचना है तो इन 5 फूड्स से तुरंत कर लें तौबा | जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए |इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस?

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ..जब बाबू जगजीवन राम को ‘फेल’ करने को इंदिरा गांधी ने लिया था ऋषि कपूर की ‘बॉबी’ का सहारा, जानिए पूरा मामला
2 कोर्टरूम में बोले CJI- लोग फोन पर गंदी बात करते हैं तो क्या MTNL जिम्मेदार है? नहीं रोक सकते हैशटैग