ताज़ा खबर
 

कोरोनावायरस लॉकडाउन के बीच अपने परिवारों के साथ रामनवमी मनाने मंदिर पहुंचे तेलंगाना के दो कैबिनेट मंत्री

सरकार ने लॉकडाउन के नियमों के तहत भक्तों के लिए पूजाघर में जाना बैन किया है, इसके बावजूद तेलंगाना के दो मंत्री मंदिर के अंदर चले गए।

Author Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र हैदराबाद | Updated: April 2, 2020 6:44 PM
लॉकडाउन के बावजूद मंदिर पहुंचे तेलंगाना के मंत्री। (फोटो-एएनआई)

देशभर में कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 24 मार्च को 21 दिन लंबे लॉकडाउन का ऐलान कर दिया था। हालांकि, बीते एक हफ्ते में कई जगहों पर इसके उल्लंघन की बातें सामने आ चुकी हैं। लॉकडाउन के उल्लंघन का सबसे ताजा मामला है तेलंगाना का है। यहां के चंद्रशेखर राव सरकार के दो कैबिनेट मंत्री ही अपने परिवारों के साथ रामनवमी मनाने एक मंदिर पहुंच गए। दोनों मंत्रियों के मंदिर दौरे की फोटो सामने आने के बाद सोशल मीडिया पर लोगों ने केसीआर सरकार पर निशाना साधा है।

दरअसल, तेलंगाना में अब तक कोरोनावायरस के 127 मामले सामने आ चुके हैं। तमिलनाडु, महाराष्ट्र के साथ तेलंगाना भी कोरोना संक्रमण से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य है। हाल ही में दिल्ली में तब्लीगी जमात के मरकज में शामिल होकर लौटे 9 लोगों की संक्रमण की वजह से मौत हो गई थी। इसके अलावा मरकज से लौटे कई अन्य पीड़ितों को आइसोलेट भी किया गया है।

जिन दो मंत्रियों को मंदिर में देखा गया, उनमें अलोला इंद्राकरण रेड्डी (कानून-पर्यावरण मंत्री) और पुव्वदा अजय कुमार (परिवहन मंत्री) शामिल थे। यह दोनों रामनवमी के दिन सुबह ही भद्रचलम गांव के श्री सीता रामचंद्र स्वामी मंदिर पहुंचे थे। गौरतलब है कि सरकार ने कोरोनावायरस महामारी के बढ़ने की वजह से लोगों के पूजास्थल पर जाने में रोक लगाई है। हालांकि, दो मंत्रियों के मंदिर जाने के बाद लॉकडाउन के नियमों के उल्लंघन का मामला सामने आया है।

Coronavirus से जुड़ी जानकारी के लिए यहां क्लिक करें: कोरोना वायरस से बचना है तो इन 5 फूड्स से तुरंत कर लें तौबा | जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए |इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं | क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस?

सोशल मीडिया पर लोगों ने कसा तंजः इस कार्यक्रम की फोटो सामने आने के बाद फेसबुक और ट्विटर पर लोगों ने तेलंगाना सरकार का मजाक उड़ाया है। अजय कुमार शर्मा नाम के एक यूजर ने लिखा, “अपने आप को समाज से दूर रखना बड़ी देशभक्ति है।” वहीं महेश जोशी नाम के एक यूजर ने लिखा, “क्या सरकार इस पर कोई कार्रवाई करेगी या मंत्री होने की वजह से यह मामला दब जाएगा। यह उस 95% जनता का मजाक उड़ाने जैसा होगा, जो अपने घरों में बंद है।”

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Delhi Violence: हिंसा की साजिश के आरोप में जामिया यूनिवर्सिटी का छात्र मीरान हैदर गिरफ्तार, JCC ने की रिहाई की मांग
2 ‘मरकज थी एक बड़ी साजिश, सरकार कराए जांच’, दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष की मांग बोले- तब्लीगी जमात को बैन किया जाए
3 Corona Virus: बिहार में रह रहे थे 70 विदेशी उपदेशक, तबलीगी जमात के लोगों की तलाश के दौरान खुलासा