ताज़ा खबर
 
title-bar

आतंकी अजहर पर समर्थन के बदले अमेरिका ने मोदी सरकार से मांगी बड़ी कुर्बानी

अमेरिका ने बीते साल दुनियाभर के देशों पर नवंबर में ईरान से तेल आयात पर प्रतिबंध लगा दिया था। अमेरिका ने इसके लिए विभिन्न देशों को 6 माह का समय दिया था। जिसकी अवधि आगामी 1 मई को समाप्त हो रही है।

Author April 24, 2019 10:38 AM
अमेरिका ने ईरान से तेल आयात पर पाबंदी लगा दी है।

पुलवामा हमले के बाद भारत पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद और उसके सरगना मसूद अजहर पर शिकंजा कसने की कोशिशों में जुटा है। इसके तहत भारत मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित कराना चाहता है, लेकिन चीन इसमें अडंगा डाल रहा है। हालांकि दुनिया का सबसे ताकतवर देश अमेरिका इस मामले में भारत के साथ है और चीन पर दबाव बनाने की कोशिश कर रहा है। अब द इंडियन एक्सप्रेस के हवाले से खबर आयी है कि अमेरिका का डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन मसूद अजहर पर भारत की मदद के बदले खुद भी एक अन्य मामले में मदद चाहता है। दरअसल अमेरिका, भारत द्वारा ईरान से किए जाने वाले तेल आयात पर पाबंदी चाहता है।

बता दें कि अमेरिका ने बीते साल दुनियाभर के देशों पर नवंबर में ईरान से तेल आयात पर प्रतिबंध लगा दिया था। अमेरिका ने इसके लिए विभिन्न देशों को 6 माह का समय दिया था। जिसकी अवधि आगामी 1 मई को समाप्त हो रही है। भारत भी ईरान से बड़ी मात्रा में तेल का आयात करता है। यही वजह है कि अमेरिका ने भारत को भी ईरान से तेल आयात पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है। खबर के अनुसार, अमेरिका ने भारत को चाबहार बंदरगाह के विकास के मामले में छूट दे दी है, लेकिन वह ईरान से तेल आयात पर पूरी पाबंदी चाहता है। एक अंग्रेजी अखबार में छपे आंकड़ों के अनुसार, भारत ने साल 2018-19 में ईरान से 24 मिलियन टन तेल आयात किया। अब अमेरिका द्वारा प्रतिबंध लगाने के बाद भारत को किसी अन्य तेल आपूर्तिकर्ता देश से इसकी भरपाई करनी होगी। सऊदी अरब और यूएई भारत को इस तेल की भरपाई करने के लिए तैयार भी हैं।

अमेरिका अधिकारियों का एक दल इन दिनों भारत आया हुआ है, जो कि ईरान पर तेल पाबंदी के मुद्दे पर भारतीय अधिकारियों के साथ बातचीत करेगा। उल्लेखनीय है कि अमेरिका का दावा है कि ईरान तेल से हो रही कमाई से विद्रोही गुटों और आतंकी संगठनों को फंडिंग कर रहा है, साथ ही ईरान अपने परमाणु कार्यक्रम को भी चोरी-छिपे संचालित कर रहा है। यही वजह है कि अमेरिका ने ईरान के तेल आयात पर पाबंदी लगाने का फैसला किया है। हालांकि अमेरिका द्वारा ईरान पर लगाया गया प्रतिबंध भारत के लिए बड़ी चुनौती साबित  हो सकता है। चूंकि भारत की अपनी बढ़ती तेल जरुरतों के लिए तेल निर्यात पर काफी निर्भरता है, इसलिए अमेरिका द्वारा ईरान से तेल आयात पर पाबंदी भारत के लिए काफी मुश्किलें ला सकती हैं। इसके अलावा भारत की ईरान के साथ चाबहार बंदरगाह पर रणनीतिक साझेदारी भी है। ऐसे में भारत के सामने अमेरिका को खुश रखने के साथ ही ईरान को भी अपने से दूर नहीं जाने देने की चुनौती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App