ताज़ा खबर
 

केम छो ट्रम्प: घटेगी झुग्गियों के पास बन रही दीवार की ऊंचाई, रास्ते में 1.5 लाख गमले, बजट सत्र टला

केम छो ट्रम्प को लेकर तैयारियां जोर-शोर पर है। राज्य सरकार ने बीजेपी कैडरों और अन्य लोगों को स्टेडियम तक लाने और ले जाने के लिए 1500 बसों का इंतजाम किया है।

Author Edited By रवि रंजन अहमदाबाद | Published on: February 14, 2020 10:08 AM
रोड शो के रास्ते में आने वाली झुग्गियों के पास बन रहे दीवार की ऊंचाई कम होगी। Express photo/Javed Raja)

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प 24 फरवरी को भारत के दौरे पर आ रहे हैं। वे अहमदाबाद में उतरेंगे और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मोटेरा में दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम का उद्घाटन करेंगे। ‘हाउडी मोदी’ की तर्ज पर ही स्टेडियम में ‘केम छो ट्रम्प’ का आयोजन किया गया है। यहां अहमदाबाद में मोदी के साथ उनका एक रोड शो प्रस्तावित है। इस संभावित रोड शो के रास्ते में एक झुग्गी बस्ती है।

रोड शो के दौरान ये झुग्गियां न दिखे, इसके लिए अहमदाबाद नगर निगम (एएमसी) ने छह से सात फीट ऊंची और करीब आधा किलोमीटर लंबी दीवार बनाने बनाने की तैयारी शुरू कर दी थी। लेकिन अब एएमसी ने दीवार की ऊंचाई घटाने का फैसला किया है ताकि दृश्य बाधित न हो। इसके साथ ही रास्ते में 1.5 लाख गमले लगाए जाएंगे। ट्रम्प की यात्रा की वजह से गुजरात के बजट सत्र को भी दो दिन के लिए टाल दिया गया है। पहले यह 24 फरवरी से ही शुरू होना था।

इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए नगर आयुक्त विजय नेहरा ने कहा, “दीवार की ऊंचाई चार फीट होगी। गलतफहमी की वजह से पहले हिस्से में जोनल इंजीनियरों ने डिजाइन में ऊंचाई छह फीट रख दी थी। जब एक्सप्रेस की रिपोर्ट द्वारा यह बात हमारे संज्ञान में लाई गई, तो हमने निर्देश दिया कि ऊंचाई को चार फीट रखा जाए, ताकि सड़क से बस्ती तक दृश्य बाधित न हो। कुछ छह फुट ऊंचे कॉलम पहले ही बन चुके हैं, जिन्हें काट कर चार फीट कर दिया जाएगा।”

नेहरा ने कहा कि वहां पहले से ही दीवार मौजूद थी, जो जर्जर होने की वजह से तोड़ दी गई थी। उसी के जगह पर नई दीवार बन रही है। सरदार वल्लभभाई पटेल अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे को इंदिरा ब्रिज से जोड़ने वाली सड़क के साथ आधा किलोमीटर की दीवार बनाई जा रही है। जब गुरुवार की देर शाम इंडियन एक्सप्रेस की टीम उस जगह पहुंची तो पाया कि काम रोक दिया गया था।

नेहरा ने कहा, “दीवार के जर्जर होने की वजह से निगम द्वारा नया निर्माण किया जा रहा था। इसका मुख्य उद्देशय यह था कि पुरानी जर्जर हो चुकी दीवार से किसी को नुकसान न हो जाए।” सड़क से सटे दशकों पुराने सरनियावास स्लम में 500 से ज्यादा झुग्गियां हैं और करीब 2500 से ज्यादा लोग यहां रहते हैं।

नेहरा ने कहा, “दो महीने पहले मैंने इस क्षेत्र का दौरा किया था और झुग्गी-झोंपड़ियों में रहने वाले लोगों को स्थायी मकान देने और उनके इलाके को बेहतर बनाने को लेकर चर्चा भी की थी। वे हमारी बात से सहमत हैं। हमने उन्हें अपने समुदाय के सदस्यों से बात करने और हमें अपना अंतिम फैसला सुनाने को कहा था।” नेहरा ने यह भी कहा कि उन्हें उस समय ट्रम्प के दौरे के बारे में जानकारी भी नहीं थी।

दूसरी ओर केम छो ट्रम्प को लेकर तैयारियां जोर-शोर पर है। राज्य सरकार ने बीजेपी कैडरों और अन्य लोगों को स्टेडियम तक लाने और ले जाने के लिए 1500 बसों का इंतजाम किया है। राज्य के अधिकारियों और भाजपा नेताओं को यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं कि स्टेडियम को पूरी तरह से भर दिया जाए।

इस स्टेडियम की क्षमता 1,10,000 लोगों की है। मोटेरा स्टेडियम जाने वाली सभी सड़कों की मरम्मत करने और स्टेडियम को चमकाने का निर्देश दिया गया है। सड़क किनारे जहां दीवार का निर्माण हो रहा है, वहां 1.5 लाख गमले रखे जाएंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
ये पढ़ा क्या?
X