ताज़ा खबर
 

भारत के दबाव में झुका अमेरिका! Covishield के लिए कच्चा माल भेजने पर राजी

एमिली होर्ने ने कहा, ''जिस तरह भारत ने अमेरिका में उस समय सहायता भेजी थी, जब हमारे अस्पताल महामारी के शुरुआती दौर से जूझ रहे थे। इसी तरह अमेरिका भी जरूरत के इस समय में भारत की सहायता करने को प्रतिबद्ध है।''

April 26, 2021 7:35 AM
भारत कोरोना वैक्सीन के निर्माण के लिए कच्चे माल को लेकर अमेरिका पर निर्भर है (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

व्हाइट हाउस ने रविवार को कहा कि अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन के नेतृत्व में अमेरिकी प्रशासन कोविड-19 महामारी से लड़ाई में भारत को आपातकालीन सहायता मुहैया कराने के साथ ही कोविशील्ड टीके के भारतीय निर्माता को तत्काल कच्चा माल उपलब्ध कराने को लेकर दिन-रात काम कर रहा है।

अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेक सुलिवान और उनके भारतीय समकक्ष अजित डोभाल के बीच फोन पर हुई वार्ता के बाद अमेरिका की ओर से यह निर्णय लिया गया है।दोनों राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों की वार्ता के बाद व्हाइट हाउस की राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद की प्रवक्ता एमिली होर्ने ने कहा, ” जिस तरह भारत ने अमेरिका में उस समय सहायता भेजी थी, जब हमारे अस्पताल महामारी के शुरुआती दौर से जूझ रहे थे।

इसी तरह अमेरिका भी जरूरत के इस समय में भारत की सहायता करने को प्रतिबद्ध है।” भारत ने अमेरिका से कोविशील्ड टीके के उत्पादन के लिए कच्चे माल की आपूर्ति का अनुरोध किया था।होर्ने ने कहा कि भारत के अग्रिम मोर्च के कर्मियों और कोविड-19 मरीजों की सहायता के मद्देनजर अमेरिका ने जांच किट, वेंटिलेटर और पीपीई किट के अलावा अन्य उपकरण भारत को उपलब्ध कराने का निर्णय लिया है।

उन्होंने कहा कि अमेरिका तत्काल आधार पर ऑक्सीजन उत्पादन एवं संबंधित आपूर्ति भारत को उपलब्ध कराने के विकल्पों पर काम कर रहा है।

बताते चलें की भारत में कोरोना का कहर देखने को मिल रहा है। पिछले दिनों लगातार 3 लाख से अधिक मामले देश में सामने आ रहे हैं। हर दिन 2 हजार से अधिक लोगों की मौत हो रही है। देश के कई राज्यों में ऑक्सीजन और कई अन्य दवाओं की कमी का सामना किया जा रहा है। ऐसे समय में अमेरिका की तरफ से कच्चा माल को लेकर जारी प्रतिबंध हटाने से से भारत को राहत मिल सकती है।

Next Stories
1 शादी से पहले कोरोना पॉजिटिव हुआ पूरा परिवार, हॉस्पिटल में ही कर ली शादी
2 निर्मला सीतारमन के अर्थशास्त्री पति का मोदी सरकार पर बड़ा हमला- कोरोना से बचाने के उपाय के बजाय हेडलाइन मैनजमेंट में लगी रही सरकार
3 योगी बोले- राज्य में ऑक्सीजन की कमी नहीं, प्रियंका गांधी ने कहा- संवेदनहीन ही कर सकते हैं ऐसी बात
यह पढ़ा क्या?
X