ताज़ा खबर
 

चीन को पछाड़ भारत का शीर्ष बिजनेस पार्टनर बना अमेरिका, जानें कितना बढ़ा है दोनों देशों के बीच व्यापार

भारतीय निर्यात संगठन परिसंघ के महानिदेशक अजय सहाय ने कहा, ‘‘अमेरिका के साथ एफटीए भारत के लिये बेहद फायदेमंद होगा क्योंकि अमेरिका, भारतीय माल एवं सेवाओं का सबसे बड़ा बाजार है।’’

Author Edited By नितिन गौतम नई दिल्ली | February 23, 2020 7:27 PM
india us relationचीन को पछाड़कर अमेरिका, भारत का सबसे बड़ा व्यापारिक साझेदार बन गया है।

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के भारत दौरे से पहले दोनों देशों के रिश्तों के लिहाज से एक अहम खबर सामने आयी है। दरअसल चीन को पछाड़कर अमेरिका, भारत का सबसे बड़ा व्यापार साझेदार बन गया है। वाणिज्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार 2018-19 में भारत और अमेरिका के बीच 87.95 अरब डॉलर का द्विपक्षीय व्यापार हुआ था।

वहीं इस दौरान भारत का चीन के साथ द्विपक्षीय व्यापार 87.07 अरब डॉलर रहा। इसी तरह 2019-20 में अप्रैल से दिसंबर के दौरान भारत का अमेरिका के साथ द्विपक्षीय व्यापार 68 अरब डॉलर रहा, जबकि इस दौरान भारत और चीन का द्विपक्षीय व्यापार 64.96 अरब डॉलर रहा।

व्यापार विशेषज्ञों का मानना है कि आने वाले समय में भी यह चलन बना रह सकता है क्योंकि भारत और अमेरिका आर्थिक संबंधों को बढ़ाने की कोशिश में जुटे हुए हैं। एक विशेषज्ञ का मानना है कि यदि दोनों देश मुक्त व्यापार समझौता (एफटीए) कर लेते हैं तो द्विपक्षीय व्यापार एक अलग ही स्तर पर पहुंच जाएगा।

भारतीय निर्यात संगठन परिसंघ के महानिदेशक अजय सहाय ने कहा, ‘‘अमेरिका के साथ एफटीए भारत के लिये बेहद फायदेमंद होगा क्योंकि अमेरिका, भारतीय माल एवं सेवाओं का सबसे बड़ा बाजार है।’’

उन्होंने कहा कि अमेरिका के साथ भारत का आयात और निर्यात दोनों बढ़ रहा है, जबकि चीन के साथ आयात-निर्यात दोनों में गिरावट आ रही है। अमेरिका उन चुनिंदा देशों में से है, जिसके साथ व्यापार संतुलन का झुकाव भारत के पक्ष में है।

वर्ष 2018-19 में भारत का चीन के साथ जहां 53.56 अरब डॉलर का व्यापार घाटा रहा था, वहीं अमेरिका के साथ भारत 16.85 अरब डॉलर के व्यापार लाभ की स्थिति में था। आंकड़ों के अनुसार, 2013-14 से लेकर 2017-18 तक चीन भारत का सबसे बड़ा व्यापार साझेदार रहा है। चीन से पहले यह दर्जा संयुक्त अरब अमीरात को हासिल था।

हालांकि भारतीय विदेशी व्यापार संस्थान में प्रोफेसर राकेश मोहन जोशी ने कहा कि भारत को अमेरिका के साथ मुक्त व्यापार समझौता करते वक्त सावधान रहना चाहिए, क्योंकि अमेरिका मक्का और सोयाबीन का सबसे बड़ा उत्पादक व निर्यातक है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 अहमदाबाद में एक वर्षीय बीमार बच्चे को लेकर ड्यूटी कर रही महिला कॉन्स्टेबल, सोशल मीडिया पर लोग कर रहे तारीफ
2 मनोज तिवारी ने खास मकसद से क‍िया था 48 सीटें जीतने वाला ट्वीट- बताया असली कारण
3 ‘शाहीन बाग में शांतिपूर्ण चल रहा प्रदर्शन, पुलिस ने बेवजह बंद कर रखा है रास्ता’, मध्यस्थ ने SC में दिया हलफनामा
यह पढ़ा क्या?
X