ताज़ा खबर
 

पोंजी घोटाले में आरोपी पूर्व मंत्री जनार्दन रेड्डी को 24 नवंबर तक जेल, फर्म पर 1.86 करोड़ का जुर्माना

क्राइम ब्रांच का आरोप है कि कर्नाटक में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकार में मंत्री रहे रेड्डी ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की पोंजी स्कीम जांच में आरोपियों को बचाने का काम किया।

Author Updated: November 11, 2018 6:05 PM
खनन कारोबारी गली जनार्दन रेड्डी। (Photo : PTI)

ऐम्बिडेंट ग्रुप के कथित रिश्वत केस के संबंध में खनन कारोबारी जी. जनार्दन रेड्डी को बेंगलुरु की स्थानीय अदालत ने 24 नवंबर तक न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। इससे पहले दो दिनों की पूछताछ के बाद  केंद्रीय अपराध शाखा (CCB) ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया था। कोर्ट में पेश करने से पहले उन्‍हें मेडिकल जांच के लिए अस्‍पताल ले जाया गया था। उनके वकील ने बताया कि सोनवार को फिर से जमानत की अर्जी दी जाएगी। अपराध शाखा का आरोप है कि कर्नाटक में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकार में मंत्री रहे रेड्डी ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की पोंजी स्कीम जांच में आरोपियों को बचाने का काम किया। क्राइम ब्रांच ने रेड्डी के विश्‍वासपात्र अली खान को भी गिरफ्तार किया है।

प्रवर्तन निदेशालय ने एम्बिडेंट मार्केटिंग प्राइवेट लिमिटेड पर फेमा के उल्‍लंघन को लेकर 1.86 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है। रेड्डी पर आरोप है कि उन्‍होंने मंत्री रहते हुए फर्म से केस खत्‍म कराने को 20 करोड़ रुपये लिए। रेड्डी पोंजी मामले में शनिवार को क्राइम ब्रांच के सामने पूछताछ के लिए पेश हुए थे। शहर की एक अदालत ने शुक्रवार को इस मामले में रेड्डी की अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी थी, उसके बाद रेड्डी शनिवार को जांच अधिकारी के समक्ष पूछताछ के लिए पेश हुए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Kerala Pournami Lottery RN-365 Results Today: जारी हुआ रिजल्ट, इस नंबर ने जीता 70 लाख का पहला इनाम
2 प्रशांत किशोर ने बताया कि क्यों ठुकराया बीजेपी का ऑफर और जदयू में आते ही मिला बड़ा पद
3 राजनीति में उतरेंगे सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा? दक्षिणी दिल्‍ली से चुनाव लड़ाने की फिराक में बीजेपी विरोधी धड़ा