ताज़ा खबर
 

Ambani Threat Case में नया खुलासा! गाड़ी के मालिक ने CM को लिखा था खत, “मुझे किया जा रहा परेशान”

मनसुख की पत्नी ने कहा है कि उनके पति कभी भी आत्महत्या जैसा कदम नहीं उठा सकते थे। घर से वह यह बोलकर निकले थे कि क्राईम ब्रांच के ऑफिसर तावडे़ से मिलने जा रहे हैं। उसके बाद उनका फोन स्विच ऑफ हो गया।

suspected carमुकेश अंबानी के घर के बाहर संदिग्ध हालत में मिली थी स्कार्पियो (फोटोः ट्विटर@thefirstindia)

मुकेश अंबानी को धमकी मामले में कार पार्ट्स डीलर मनसुख की मौत पर संदेह गहराता जा रहा है। NDTV की रिपोर्ट के मुताबिक मनसुख ने अपनी मौत से पहले महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर पुलिस और मीडिया पर परेशान करने का आरोप लगाया था। सीएम के साथ गृह मंत्री और पुलिस आयुक्त को लिखे पत्र में मनसुख ने पुलिस सुरक्षा की मांग की थी।

उधर, मनसुख की पत्नी ने कहा है कि उनके पति कभी भी आत्महत्या जैसा कदम नहीं उठा सकते थे। विमला का कहना है कि घर से वह यह बोलकर निकले थे कि क्राईम ब्रांच के ऑफिसर तावडे से मिलने जा रहे हैं। उसके बाद मनसुख का फोन स्विच ऑफ हो गया। विमला का कहना है कि जब कई बार कोशिश करने के बाद भी मनसुख का फोन नहीं लगा तो वह मिसिंग कंप्लेंट दर्ज कराने नौपाडा थाने गईं, लेकिन वहां उनकी शिकायत दर्ज करने से पुलिस ने इनकार कर दिया।

पुलिस का कहना है कि मनसुख की आखिरी लोकेशन विरार थी। यह उनके घर से 50-55 किमी दूर है। मनसुख का शरीर पुलिस को थाने के कलवा खाड़ी से मिला था। हालांकि, पुलिस इसे आत्महत्या मान रही है, लेकिन जिस हालत में गाड़ी मालिक का शव था, उससे शक गहरा रहा है। मनसुख के पैर बंधे हुए थे और उनके मुंह में कपड़ा भरा था। पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक, हीरेन की मौत डूबने से हुई थी।

उधर, महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने नया खुलासा करते हुए बताया कि हरे रंग की स्कार्पियो गाड़ी का असली मालिक सैम नाम का शख्स है। मनसुख को उसने इंटीरियर के मेंटीनेंस के लिए गाड़ी सौंपी थी। सैम ने काम के पैसे नहीं दिए तो मनसुख मे गाड़ी को अपने पास रख लिया। देशमुख ने असेंबली में बताया कि यह मामला अब बहुत ज्यादा पेंचीदा हो गया है। मामले की तह तक पहुंचने के लिए इसे एंटी टेररिस्ट स्कवायड ATS के हवाले किया जा रहा है। एजेंसी ही अब इसकी बारीकी से जांच करेगी।

गौरतलब है कि मुकेश अंबानी के मुंबई स्थिति आवास एंटीलिया पर बीते दिनों जिलेटिन से भरी एक स्कॉर्पियो बरामद हुई थी। 25 फरवरी को मुकेश अंबानी के घर के बाहर संदिग्ध स्कॉर्पियो कार में 20 जिलेटिन छड़ें मिली थीं। पुलिस मामले की तह तक पहुंच पाती कि इसी बीच अब कलवा इलाके से स्कॉर्पियो के मालिक का शव मिला है। पुलिस के मुताबिक, मनसुख ने कलवा खाड़ी से छलांग लगाकर आत्महत्या कर ली। लेकिन मनसुख ने आत्महत्या जैसा कदम क्यों उठाया, इसका जवाब पुलिस के पास नहीं है।

मनसुख के बेटे की माने तो उसके पिता की मनोदशा इतनी खराब नहीं थी जो वह सुसाइड जैसा कदम उठाते। मौत के बाद रुमाल के बंडल मनसुख के मुंह में ठुंसे मिले थे। बेटे का कहना है कि उसके पिता पानी में कूदकर सुसाइड क्यों करेंगे। वह एक अच्छे तैराक थे। उधर, मामले से जुड़े लोगों का कहना है कि मनसुख ने सीएम महाराष्ट्र को एक पत्र भी लिखा था, जिसमें पुलिस और मीडिया पर उसे परेशान करने का आरोप लगाया था।

इस घटना के बाद मुकेश अंबानी के आवास के बाहर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई थी। इस मामले की जांच कर रही मुंबई पुलिस ने बताया था कि मुकेश अंबानी के घर के बाहर जो गाड़ी खड़ी पाई गई थी, वो मुंबई के विकरोली इलाके से कुछ दिन पहले चुराई गई थी। गाड़ी का नंबर क्षतिग्रस्त था। इस गाड़ी के अंदर एक पत्र भी पाया गया था। इस पत्र में कथित तौर पर अंबानी परिवार को धमकी दी गई थी। वहीं, इस मामले में मुंबई पुलिस की जांच पर पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने सवाल उठाए हैं।

Next Stories
1 दिल्ली दंगे के 2 आरोपियों को तिहाड़ जेल में ही मारना चाहते थे अपराधी, पुलिस के सामने ऐसे आया पूरा ‘खेल’
2 सरकार ने लिया सुरक्षा के लिहाज से बड़ा कदम! अब वाहनों की आगे की सीट के लिए एयरबैग अनिवार्य
3 Himachal Pradesh Budget: सीएम जयराम ठाकुर ने पेश किया बजट, पंचायत चौकीदारों का मानदेय बढ़ाने का किया ऐलान
ये पढ़ा क्या?
X