ताज़ा खबर
 

जया बच्‍चन फिर बनीं सपा उम्‍मीदवार: 2014 राज्‍यसभा चुनाव के वक्‍त अमर सिंह ने उन्‍हें कहा था ओछा, अब की तारीफ

जया बच्‍चन को समाजवादी पार्टी की ओर से राज्‍यसभा का उम्‍मीदवार बनाए जाने की खबर के बाद अमर‍ सिंह के तेवर नरम हो गए हैं। राज्‍यसभा सदस्‍य ने कभी जया बच्‍चन के लिए 'ओछा' जैसे शब्‍द का इस्‍तेमाल किया था।

Author नई दिल्‍ली | Published on: March 7, 2018 6:04 PM
समाजवादी पार्टी के पूर्व नेता और राज्यसभा सांसद अमर सिंह। (PTI Photo)

जया बच्‍चन समाजवादी पार्टी की टिकट पर एक बार फिर से राज्‍यसभा जाने की तैयारी में हैं। इससे पहले जया का टिकट काटे जाने की अटकलें लगाई जा रही थीं। बताया जा रहा था क‍ि सपा प्रमुख और उत्‍तर प्रदेश के पूर्व मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव जया बच्‍चन के रवैये से खुश नहीं हैं। सपा द्वारा जया को राज्‍यसभा भेजे जाने की खबर पर अमर सिंह के सुर भी बदल गए। जया बच्‍चन पर कभी तीखा हमला करने वाले अमर सिंह ने उन्‍हें योग्‍य उम्‍मीदवार बताया। उन्‍होंने कहा क‍ि जया एक समर्पित नेता हैं और राज्‍यसभा के आगामी चुनाव के लिए सपा की ओर से उम्‍मीदवार बनने की हकदार भी। अमर सिंह ने तो जया बच्‍चन को नरेश अग्रवाल से बेहतर राजनेता भी करार दिया। अमर सिंह कभी अमिताभ बच्‍चन के करीबी थे, लेकिन बाद में दोनों के बीच रिश्‍ते बेहद तल्‍ख हो गए। उन्‍होंने ही जया बच्‍चन को राजनीति में लाया था जो एक बार फिर से राज्‍यसभा में सपा का चेहरा बनने जा रही हैं। बता दें कि सपा से निष्‍कासन के बाद अमर सिंह ने वर्ष 2016 में पार्टी में वापसी की थी और राज्‍यसभा पहुंचे थे। अखिलेश के तल्‍ख रवैये के कारण उन्‍हें हाशिए पर डाल दिया गया।

जया बच्‍चन को कहा था ‘ओछा’: वर्ष 2014 में उन्‍होंने जया बच्‍चन पर सीधा हमला बोला था। तब सपा में वापसी के सवाल पर उन्‍होंने कहा था, ‘मैं मुलायम सिंह को ठगूंगा नहीं। मैं उन्‍हें बताऊंगा कि वह जिस अमर सिंह को वह ढूंढ़ रहे हैं, मैं अब वैसा नहीं रहा। जितना मैंने समाजवादी पार्टी को पहले दिया अब वो दे पाने की मेरी क्षमता नहीं है। इस सच्‍चाई के साथ अगर मुलायम सिंह मुझे स्‍वीकार करेंगे तो बात हो सकती है। लेकिन, मैं उनके पास राजनीति करने या राज्‍यसभा का सत्र खत्‍म हो रहा है तो जया बच्‍चन की तर्ज पर उसके लिए नामांकन करवाने नहीं जाऊंगा। मैं इस तरह का छोटा, टुच्‍चा और ओछा व्‍यक्ति नहीं हूं।’ बता दें क‍ि अमर सिंह को इस बात का मलाल था कि जब मुलायम सिंह यादव ने उन्‍हें सपा से निकाला था तब अमिताभ और जया बच्‍चन ने उनका साथ नहीं दिया था। उस वक्‍त उनके साथ सिर्फ जयाप्रदा ही साथ थीं।

‏…जब अमर बोले अमिताभ और जया अलग-अलग रहते हैं: अमर सिंह ने वर्ष 2017 में भी जया और अमिताभ को निशाना बनाया था। उन्‍होंने एक साक्षात्‍कार में दावा किया था कि दोनों अलग-अलग रहते हैं। अमर सिंह ने कहा था, ‘मेरी मुलाकात से पहले ही अमिताभ और जया बच्‍चन अलग-अलग रह रहे थे। एक जनक और दूसरे प्रतीक्षा में रहते थे। लोग इस देश की हर समस्‍या के लिए मुझे ही जिम्‍मेदार ठहराते हैं, जबकि मैं तो ऐश्‍वर्या राय बच्‍चन और जया बच्‍चन के बीच आई तल्‍खी के लिए भी जिम्‍मेदार नहीं हूं।’

अमिताभ ने जया को राजनीत‍ि में न लाने की दी थी सलाह: अमर सिंह ने दो साल पहले जया बच्‍चन को लेकर एक और सनसनीखेज खुलासा किया था। वरिष्‍ठ नेता ने कहा था कि अमिताभ बच्‍चन ने उन्‍हें जया को राजनीति में न लाने की सलाह दी थी। बकौल अमर सिंह, उन्‍होंने उनकी सलाह नहीं मानी थी। राज्‍यसभा सदस्‍य ने बताया था कि बिग बी ने जया के अस्थिर व्‍यवहार को देखते हुए यह सलाह दी थी। उन्‍होंने ऐश्‍वर्या राय बच्‍चन और अभिषेक बच्‍चन द्वारा पूरा सम्‍मान दिए जाने की भी बात कही थी। अमर सिंह के अनुसार, अनिल अंबानी के घर पर हुए झगड़े की वजह भी जया बच्‍चन ही थीं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 क्रू की सैलरी नहीं दे पाया विजय माल्‍या, जब्‍त हुआ आलीशान सुपरयॉट
2 तमिलनाड़: वेल्‍लोर में फैला तनाव, जबरन लोगों के जनेऊ काट रहा ये संगठन
3 बच्‍ची को खतना से बचाने के लिए कोर्ट ने दिया दखल, कहा- नहीं ले जा सकते भारत
जस्‍ट नाउ
X