ताज़ा खबर
 

दूसरी पार्टी में शामिल होना चाहते हैं अमर सिंह, कर रहे हैं ‘अच्छे मौके’ का इंतज़ार

कभी मुलायम सिंह के विश्वसनीय रहे अमर सिंह ने यादव परिवार के विवाद पर कहा कि यह एक तय किया हुआ नाटक था।

Author नई दिल्ली | Updated: February 24, 2017 11:20 PM
Amar Singh news, Amar Singh latest news, Amar Singh in BJP, Amar Singh Congress, Amar Singh Join BJPराज्‍य सभा सांसद अमर सिंह (फाइल फोटो)

समाजवादी पार्टी (सपा) से निष्कासित नेता अमर सिंह ने शुक्रवार (24 फरवरी) को कहा कि वे दूसरी पार्टी में शामिल होने के लिए अच्छा अवसर देख रहे हैं। अपनी भविष्य की योजना पर बात करते हुए उन्होंने कहा, ‘मैं तैयार हूं, अच्छे अवसर का इंतजार कर रहा हूं। अगर ऐसा होता है तो उस पर विचार करने में खुशी होगी।’ राज्यसभा सचिवालय ने अमर सिंह को सपा से निष्कासित होने के बाद असंबद्ध सदस्य घोषित कर रखा है। जब उनसे पूछा गया कि अच्छे अवसर से उनका क्या मतलब है तो उन्होंने कहा कि यह जल्दबाजी वाला फैसला नहीं होगा और वे अपने पुराने अनुभव को ध्यान में रखते हुए ही फैसला लेंगे। उन्होंने एक साक्षात्कार में कहा कि उन्हें दो बार सपा से निष्कासित किया गया है और अब वे भविष्य में इस पार्टी में नहीं लौटेंगे। जब उनसे पूछा गया कि क्या वे राज्यसभा से इस्तीफा देंगे तो उनका कहना था, ‘मैं क्यों इस्तीफा दूं। मुझे मुलायम सिंह यादव ने टिकट दिया था। अगर वे पार्टी अध्यक्ष रहते हुए मुझे ऐसा करने को कहते तो मैं खुशी-खुशी ऐसा कर देता।’ उन्होंने साफ किया है कि वे राज्यसभा के सदस्य बने रहेंगे।

सिंह ने बताया कि उन्होंने भाजपा में शामिल होने के लिए किसी नेता से बात नहीं की है। जब उनसे पूछा गया कि क्या वे कांग्रेस की ओर जाएंगे। दरअसल सिंह को नोट के बदले वोट घोटाले में तिहाड़ जेल में समय गुजारना पड़ा था। इस मामले को लेकर अमर सिंह कांग्रेस के आलोचक रहे हैं। उन्होंने कहा कि मेरे मन में गांधी परिवार के लिए कोई कड़वाहट नहीं है लेकिन जेल में मैं जिस अत्याचार से गुजरा, वह नहीं भूल सकता। मुझे वहां प्लास्टिक की बाल्टी और मग में पानी पीना पड़ा।

कभी मुलायम सिंह के विश्वसनीय रहे अमर सिंह ने यादव परिवार के विवाद पर कहा कि यह एक तय किया हुआ नाटक था जिसमें हम सभी को एक किरदार दिया गया था। बाद में मुझे यह एहसास हुआ कि हमारा इस्तेमाल हो रहा है। मैंने महसूस किया कि राज्य में विरोधी लहर और कानून-व्यवस्था की स्थिति से बचने के लिए यह चाल चली गई। उन्होंने कहा कि मुलायम को अपने बेटे के हाथों से हारना अच्छा लगता है। उन्होंने कहा कि यहां तक कि मतदान के दिन पूरा परिवार साथ में मतदान करने गया तो यह नाटक क्यों किया गया। अमर सिंह पर पार्टी नेतृत्व के एक गुट के आरोप लगाया था कि वे मुलायम और अखिलेश के बीच दरार पैदा कर रहे हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 24 फरवरी, 9 बजे की न्‍यूज अपडेट्स: जानिए अब तक की बड़ी खबरें
2 मणिपुर में महसूस किए गए 5.2 तीव्रता के भूकंप के झटके
3 24 फरवरी, शाम 5 बजे तक की न्‍यूज अपडेट: पुणे टेस्‍ट में ऑस्‍ट्रेलिया आगे, बीएमसी में भाजपा-शिवसेना के गठबंधन की पैरवी और मणिपुर में मिले बम
राशिफल
X