ताज़ा खबर
 

अमिताभ के मना करने के बावजूद जया को बनाया था सपाई- बोले थे अमर सिंह, बिग बी ने कहा था- वो दोस्त, कुछ भी कह सकते हैं

अमर सिंह के विरोध भरे बयानों पर जब अमिताभ बच्चन से एक बार सवाल किया गया तो अमिताभ बच्चन ने कहा था, वो दोस्त हैं कुछ भी कह सकते हैं।

Amitabh, Amar Singh, Jaya Bachchan, SPअमर सिंह और अमिताभ की दोस्ती के बीच दरार का कारण जया बच्चन का राजनीतिक करियर बताया जाता है। (फाइल फोटो)

समाजवादी पार्टी के पूर्व नेता और राज्यसभा सांसद अमर सिंह अब इस दुनिया में नहीं रहे। सिंगारपुर में इलाज के दौरान अमर सिंह की मौत हो गई। ऐसे में बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन के साथ उनकी दोस्ती के किस्सों को लेकर काफी चर्चा हो रही हैं। यह चर्चा पहले भी होती रही है। एक समय अमिताभ और अमर की दोस्ती खूब सुर्खियां बंटोरा करती थी। वक्त के साथ एक पल ऐसा भी आया है जब सिनेमा का शहंशाह अमिताभ और राजनीति के सूरमा अमर सिंह के बीच दरार आ गई।

दोनों की दोस्ती की दरार के  पीछे अमिताभ बच्चन की पत्नी जया बच्चन का राजनीतिक करियर वजह बना। अमिताभ के मना करने के बावजूद अमर सिंह ने उन्हें सपाई बनाया। अमर सिंह ने यह बात एक इंटरव्यू में कही थी। साल 2016 में समाजवादी पार्टी के पूर्व नेता अमर सिंह ने दावा किया कि अमिताभ बच्चन ने उन्हें आगाह किया कि वह अपनी पत्नी जया को अपनी पार्टी में स्वीकार न करें। इसी बात को लेकर दोनों के बीच अनबन हुई और दोस्ती में दरार वक्त के साथ बढ़ती भी गई। कहा यह भी जाता है कि अमर सिंह जब सपा का दामन छोड़ रहे थे तो उन्हें उम्मीद थी कि उनके साथ जया बच्चन भी समाजवादी पार्टी छोड़ेंगी लेकिन ऐसा नहीं हुआ। अनिल अंबानी के घर एक पार्टी में  अमर सिंह पर जया बच्चन का गुस्सा फूट गया। इसके बाद से अमर सिंह के निशाने पर अमिताभ और जया लगातार रहे।

अमर सिंह के विरोध भरे बयानों पर जब अमिताभ बच्चन से एक बार सवाल किया गया तो अमिताभ बच्चन ने कहा था, वो दोस्त हैं कुछ भी कह सकते हैं। अमिताभ बच्चन के बारे में अमर सिंह कई मंच पर बोलने से झिझकते नहीं थे। एक इंटरव्यू में उन्होंने यह तक कहा था कि अमिताभ का साथ जब बड़े कॉरपोरेट घरानों ने छोड़ दिया था तो मुश्किल वक्त में मैंने उनका साथ दिया।

अमर सिंह ने अपने आखिरी समय में बड़ा दिल दिखाते हुए अमिताभ बच्चन पर बरसने के लिए सार्वजनिक तौर पर माफी मांगी थी। उन्होंने कहा था, “10 साल बीत जाने के बाद भी अमिताभ बच्चन की निरंतरता में कोई बाधा नहीं आयी है और वह लगातार, अनेक अवसरों पर, चाहे मेरा जन्मदिन हो या पिताजी की बरसी हो, हर दिन को याद करके अपने कर्तव्य का निर्वहन करते रहे हैं। तो मुझे भी लगता है कि मैंने भी अनावश्यक रूप से ज्यादा उग्रता दिखायी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 डिबेट में बबलू खान ने दिया कूद्दुसी को चैलेंज- मानते हैं बिस्मिल्ला को, तो कहें जय श्री राम; कहा- ये BJP नारा है, कतई नहीं लगा सकता
2 पंजाबः जहरीली शराब से हाहाकार, मृतकों की संख्या बढ़कर हुई 86; पीड़ित परिजन को दो-दो लाख मुआवजे का ऐलान
3 VIDEO: पैनलिस्ट पर चिल्लाने लगे महंत- बोलें आतंकवादी बाबर आपका आइकन है; मिला जवाब- मुस्लिम नहीं मानते उसे पूर्वज
ये पढ़ा क्या?
X