ताज़ा खबर
 

भाजपा को हराने के लिए लालू से हाथ मिलाना ज़रूरी: नीतीश कुमार

लालू प्रसाद से हाथ मिलाने की ‘‘सबसे बड़ी गलती’’ करने के सवाल का जवाब देते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि भाजपा और उसके साथी दलों को हराने के लिए जरूरी है..

Author पटना | October 13, 2015 6:10 PM
नीतीश कुमार ने कहा, “लालूजी के साथ राजनैतिक समझौता आज की वर्तमान परिस्थितियों में भाजपा और उसके साथ दलों को हराने और यह सुनिश्चित करने के लिए है।” (पीटीआई फोटो)

लालू प्रसाद से हाथ मिलाने की ‘‘सबसे बड़ी गलती’’ करने के सवाल का जवाब देते हुए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि राजद नेता के साथ राजनैतिक समझौता आज की वर्तमान परिस्थितियों में भाजपा और उसके साथी दलों को हराने के लिए जरूरी है। नीतीश ने सोशल मीडिया पर उनसे किये गए इस सवाल के जवाब में यह बात कही कि ‘‘लालू संग मिलकर सबसे बड़ी गलती क्यों की?’’

बिहार के मुख्यमंत्री ने कहा है कि वह सोशल मीडिया के जरिये मिले 500 सवालों का जवाब देंगे, इनमें से आज उन्होंने उक्त पहले सवाल का पहला जवाब दिया। नीतीश ने सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक पर उक्त सवाल के जवाब में कहा, ‘‘लालूजी के साथ राजनैतिक समझौता आज की वर्तमान परिस्थितियों में भाजपा और उसके साथ दलों को हराने और यह सुनिश्चित करने के लिए है कि राज्य में पिछले 10 वर्षो में जैसे विकास हुआ, वह आगे भी जारी रहेगा।’’

बिहार विधानसभा के लिए सोमवार को हुए पहले चरण के मतदान पर भी उन्होंने ट्विट किया, ‘‘महागठबंधन के प्रति आपके विश्वास और आशीर्वाद के लिए आपका आभारी हूं। चुनाव में भारी मतदान और उसमें विशेषकर महिलाओं की भागीदारी के लिए राज्य के मतदाताओं का आभारी हूं।’’

राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद ने भी पहले चरण के मतदान के बाद फेसबुक के जरिए कहा, ‘‘आप सबों के अटूट प्रेम, अखंड विश्वास और अगाध समर्थन के लिए हम दिल से आभारी हैं। अगले चरण में भी इनको भारी अंतर से हराना है और बिहार से भागना है।’’

भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी सोशल नेटवर्किंग साइट पर दावा किया, ‘‘पहले चरण में ज्यादा मतदान करके महिलाओं ने बिहार में शराब का दरिया बहाने वाले नीतीश कुमार के होश उड़ा दिये है।’’

बिहार में पहले चरण के विधानसभा चुनाव के लिए 49 सीटों पर सोमवार को मतदान हुआ था। अपने मंत्रिमंडल के एक मंत्री के स्टिंग वीडियो में रिश्वत लेने को लेकर प्रधानमंत्री के हमले के जवाब में नीतीश ने कहा, ‘‘हमने देखा है कि व्यापम और ललित गेट में क्या हुआ। मोदीजी की कथनी और करनी एक तरह की होनी चाहिए लेकिन ऐसा नहीं है।’’

राज्य में बिजली की उपलब्धता पर आलोचनाओं पर उन्होंने कहा कि बिहार में बिजली सप्लाई 4 गुणा बढ़ी है और 700 मेगावाट के बदले अब 3012 मेगावाट बिजली उपलब्ध है। उन्होंने कहा कि लाखों छात्राओं को मुफ्त साइकिल योजना के तहत साइकिल वितरित की गईं, जो बालिका सशक्तिकरण का हिस्सा है। राज्य में सड़कों का जाल बिछाया गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App