ताज़ा खबर
 

ISIS युवाओं को दे रहा हर महीने साढ़े 3 लाख रुपये का लालच, चाहिए खुफिया जानकारी

इलाहाबाद का रहने वाला एक युवक मुंबई में रहकर काम और पढ़ाई कर रहा है। बीते शुक्रवार को जब वह ऑनलाइन मूवी देख रहा था, तब उसे एक व्हाट्सएप ग्रु में एड कर दिया गया, जिस पर आईएसआईएस का लोगो बना हुआ था।

इलाहाबाद के युवक को आईएस ने दिया 3 लाख रुपए का लालच(image source-Reuters )

खूंखार आतंकी संगठन आईएस अब युवाओं को अपने साथ जोड़ने के लिए उन्हें पैसों का लालच दे रहा है। बता दें कि इलाहाबाद के एक युवक को आईएस ने अपने साथ जोड़ने की कोशिश की और भारतीय खूफिया एजेंसियों के बारे में जानकारी देने के बदले कथित तौर पर 3 लाख रुपए महीना देने का लालच दिया है। हालांकि युवक ने इसकी जानकारी पुलिस को दे दी है, जिसके बाद एटीएस मामले की जांच में जुट गई है।

खबर के अनुसार, इलाहाबाद के मुंडेरा का रहने वाला एक युवक मुंबई में रहकर काम और पढ़ाई कर रहा है। बीते शुक्रवार को जब वह ऑनलाइन मूवी देख रहा था, तब उसे एक व्हाट्सएप ग्रु में एड कर दिया गया, जिस पर आईएसआईएस का लोगो बना हुआ था। इस पर युवक कथित व्हाट्सएप ग्रुप से लेफ्ट कर गया, लेकिन कुछ देर बाद उसे फिर से ग्रुप में एड कर दिया गया। जब युवक ने एक बार फिर ग्रुप से लेफ्ट किया तो उसके मोबाइल पर एक मैसेज आया, जिसमें उसे धमकाते हुए लिखा गया था कि वह आईएसआईएस को भारतीय खूफिया एजेंसियों के बारे में जानकारी दे, बदले में उसे 5000 यूएस डॉलर हर महीने दिए जाएंगे। इस मैसेज के बाद युवक डर गया और उसने अपना मोबाइल फोन बंद कर दिया।

इसके बाद युवक ने इस बात की जानकारी अपने परिजनों को दी, जहां से यह जानकारी पुलिस को मिली है। अब एंटी टेरेरिस्ट स्कवॉड मामले की जांच में जुट गई है। जांच में पता चला है कि यह ग्रुप कनाडा से संचालित हो रहा है। फिलहाल पुलिस ने पीड़ित युवक को अपना मोबाइल फिर से स्विच ऑन करने को कहा है, ताकि मैसेज को ट्रेस किया जा सके। फिलहाल पुलिस ने एक एफआईआर दर्ज करके साइबर क्राइम सेल को इसकी जांच सौंप दी है। इसके अलावा पुलिस यह भी जांच कर रही है कि इलाहाबाद का कोई और युवक तो आतंकी संगठन के संपर्क में नहीं है। गौरतलब है कि इससे पहले भी दक्षिण भारत के कुछ युवा खूंखार आतंकी संगठन आईएस के संपर्क में आ चुके हैं। साल 2015 में केरल के 4 लोगों को आईएस के साथ संबंधों के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App