AK-203 राइफल के फोल्डेड बटस्टॉक से भी हो सकती है फायरिंग, ढो सकता है 40 MM ग्रेनेड लांचर जानिए- मेड इन अमेठी की खासियत

दुनिया की सबसे आधुनिक राइफल एके-203 का अमेठी में निर्माण होगा। AK-203/103 राइफल में कई खास फीचर्स हैं। इसे दुनिया के सबसे घातक और एडवांस हथियारों में शुमार किया जाता है।

AK103 से 40 MM ग्रेनेड भी फायर किया जा सकता है। (Source: Kalashnikov website)

AK-203/103 राइफल जल्द ही अमेठी में बनना शुरू होगी। इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमेठी के कोरवा इलाके में मैनुफैक्चरिंग यूनिट की आधार शिला रख दी है। पीएम मोदी ने 3 मार्च को अमेठी में एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि यहां बनने वाली राइफल मेड इन अमेठी के नाम से जानी जाएगी। दुनिया की सबसे आधुनिक राइफल एके-203 का अमेठी में निर्माण होगा। AK-203/103 राइफल में कई खास फीचर्स हैं। इसे दुनिया के सबसे घातक और एडवांस हथियारों में शुमार किया जाता है। यह राइफल AK-47 का लेटेस्ट वर्जन है। इस राइफल की एक खूबी फोल्डिंग बटस्टॉक है जिससे जवानों को मार्च करने या फिर लैंडिंग ऑपरेशन्स में इसे कैरी करना आसान हो जाता है। इसके अलावा फोल्डेड बटस्टॉक में ही राइफल से फाइरिंग भी की जा सकती है। AK103 से 40 MM ग्रेनेड भी फायर किया जा सकता है। इसके अलावा हथियार को एक चाकू से भी लैस किया जा सकता है।

AK-203 राइफल अभी सेना द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली INSAS सीरीज और AK-47 राइफल्स की जगह लेगी। 200-सीरीज AK राइफल्स की 100 सीरीज की अगली जनरेशन है। 200-कलाश्निकोव सीरीज का बेसिक डिजाइन और लेआउट पुरानी सीरीज जैसा ही है लेकिन इसमें आधुनिक ऐक्सेसरीज इंटरफेस है। दुनिया के कई देशों के सुरक्षा बलों द्वारा AK-47 राइफल्स इस्तेमाल की जाती हैं। AK-47 अपनी मजबूती के दुनियाभर में मशहूर है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, 100 से ज्यादा देशों की आर्मी इस हथियार से लैस है। बता दें भारत में राइफल निर्माण रूस के साथ साझेदारी के तहत होगा। कोरवा इलाके में ऑर्डिनेंस फैक्ट्री में राइफल बनेंगी जिसकी स्थापना 2010 में हुई थी। लेटेस्ट राइफल की लगभग 7.5 लाख यूनिट्स तैयार की जाएंगी।

राइफल निर्माण के लिए भारत और रूस के बीच करार पिछले साल हुआ था। इसके लिए पिछले साल 5.43 बिलियन डॉलर की डील(Triumf air defence missile systems) साइन की गई थी। सुरक्षा बलों को नई राइफल्स मुहैया कराने के बाद सरकार अगले चरण में इन्हें अर्धसैनिक बलों और पुलिस को मुहैया कराने का काम करेगी। अमेठी में प्रधानमंत्री ने कहा है कि एके-203 राइफलों से आतंकियों और नक्सलियों के साथ होने वाली मुठभेड़ों में हमारे सैनिकों को निश्चित रूप से बहुत बढ़त मिलने वाली है।

Next Stories
1 मसूद अजहर: 1999 में एनडीए सरकार ने सकुशल पहुंचाया था कांधार, मौत की अटकलों पर खुफिया एजेंसियां अलर्ट
2 भारत में उड़ी मसूद अजहर के मरने की अफवाह, पाकिस्तानी मीडिया, सरकार खामोश
3 Wing Commander अभिनंदन का हुआ MRI स्कैन, रीढ़ की हड्डी के निचले हिस्से में भी चोट
यह पढ़ा क्या?
X