ताज़ा खबर
 

जाट आरक्षण: हिंसा भड़कने के बाद पुलिस फायरिंग में एक मरा, सेना बुलाई गई, दो जिलों में कर्फ्यू

आरक्षण की मांग को लेकर पांच दिन से जाट समुदाय के लोग पूरे प्रदेश में शांतिपूर्ण तरीके से चक्का जाम कर रहे थे, लेकिन गुरुवार को इस मसले ने हिंसक रूप ले लिया।

प्रदर्शनकारियों ने कई गाड़‍ियों में आग लगा दी।

जाट आरक्षण को लेकर चल रहे आंदोलन में शुक्रवार को हिंसा भड़कने के बाद हरियाणा पुलिस ने बिगड़ते हालात के मद्देनजर केंद्र से सेना तैनात करने की मांग की है। इससे पहले, हरियाणा पुलिस की जवाबी फायरिंग में रोहतक में एक प्रदर्शनकारी की मौत हो गई। प्रदर्शनकारियों ने वित्‍त मंत्री के घर पर हमला बोल दिया। कई गाड़‍ियों को आग के हवाले कर दिया गया। उधर,  हरियाणा के हिंसाग्रस्त रोहतक और भिवानी के शहरी क्षेत्रों में कर्फ्यू लगाया गया है।

खट्टर ने की शांति बरतने की अपील 

सोनीपत और पानीपत से जाने वाले सभी रास्‍ते बंद हैं। जाट आंदोलन का आज सातवां दिन है। सरकार ने गुरुवार रात से पूरे राज्य में इंटरनेट सर्विस ब्लॉक कर दी। आंदोलन का असर झज्जर और सोनीपत जिलों में भी देखा जा रहा है। इस बीच सीएम मनोहर लाल खट्टर ने शुक्रवार को इस मुद्दे पर ऑल पार्टी मीटिंग बुलाई। इसके बाद शांति की अपील की गई। वहीं, जाटों का कहना है कि वे अपनी मांगों से पीछे नहीं हटेंगे। रोहतक के पुलिस अधीक्षक शशांक आनंद ने कहा, ‘रोहतक में इंटरनेट और एसएमएस सेवाओं को अगले आदेश तक निलंबित कर दिया गया है।’

Read Also: रोहतक में धारा 144 लागू

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App