ताज़ा खबर
 

महाराष्ट्र सरकार में नहीं है ऑल इज वेल? उद्धव, अजित पवार मुझ पर रख रहे निगरानी- कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष का आरोप

शरद पवार से पटोले द्वारा उनके भतीजे अजित पवार के बारे में की गई टिप्पणी के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘‘मैं ऐसे मामलों में नहीं पड़ना चाहता। वे छोटे लोग (कनिष्ठ)हैं। मैं उसके बारे में क्यों बोलूं।

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, कांग्रेस नेता नाना पटोले और एनसीपी नेता अजीत पवार (फोटो- इंडियन एक्सप्रेस)

महाराष्ट की राजनीति गर्म है। शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी के बीच सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है। महाराष्ट कांग्रेस के नेता नाना पटोले ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और उपमुख्यमंत्री अजीत पवार पर गंभीर आरोप लगाया है। उन्होंने कहा है कि दोनों ही नेता मुझपर नजर रखते हैं। बताते चलें कि नाना पटोले महाराष्ट्र में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष हैं।

गौरतलब है कि इससे पहले भी पटोले ने एनसीपी नेता अजीत पवार पर हमला बोला था। उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा था कि ‘‘ पुणे का प्रभारी मंत्री कौन है? कोई बारामती का है। वह किसका काम कर रहे हैं, क्या वह हमारा काम कर रहे हैं? इस मुश्किल को अपनी ताकत बनाएं। मानसिक रूप से कमजोर नहीं हों। ऐसी ताकत प्राप्त करें, जिससे हमारा व्यक्ति वहां (प्रभारी मंत्री) नियुक्त हो जाए।’’ गौरतलब है पुणे के प्रभारी मंत्री अजीत पवार हैं।

हालांकि जब शरद पवार से पटोले द्वारा उनके भतीजे अजित पवार के बारे में की गई टिप्पणी के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘‘मैं ऐसे मामलों में नहीं पड़ना चाहता। वे छोटे लोग (कनिष्ठ)हैं। मैं उसके बारे में क्यों बोलूं। अगर (कांग्रेस अध्यक्ष) सोनिया गांधी कुछ बोलती हैं, तो मैं बोलूंगा।’’ पवार ने पटोले द्वारा भविष्य में कांग्रेस के अकेले चुनाव लड़ने को लेकर जताए जा रहे संकल्प को भी महत्व नहीं दिया। इस समय शिवसेना-कांग्रेस और राकांपा की महाराष्ट्र में गठबंधन सरकार है।

बताते चलें कि इस साल फरवरी में कांग्रेस विधायक नाना पटोले ने विधानसभा में स्पीकर पद छोड़ दिया था। जिसके बाद से वो पद खाली है। हालांकि गठबंधन की तरफ से हाल ही में कहा गया था कि स्पीकर का पद काग्रेस पार्टी को ही दिया जाएगा।

बताते चलें कि पटोले हाल के दिनों में लगातार चर्चाओं में रहे हैं। कुछ ही दिन पहले उन्होंने आरोप लगाया था कि 2016-17 के दौरान उनका फोन टैप किया गया जब वह संसद के सदस्य थे और देवेंद्र फडणवीस राज्य सरकार का नेतृत्व कर रहे थे। बाद में महाराष्ट्र सरकार ने प्रदेश कांग्रेस प्रमुख नाना पटोले द्वारा लगाए फोन टैपिंग के आरोपों की जांच के लिए राज्य के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) संजय पाण्डेय के नेतृत्व में एक उच्च स्तरीय समिति गठित की है।

Next Stories
1 कोरोना के बीच पर्यटकों से भरे हिमाचल के धर्मशाला में बाढ़! ‘नाव की तरह’ कार को बहा ले गई पानी की तेज धार
2 मंत्रियों का संडे: योगी सरकार के दो बच्चों की नीति का फायदा समझाने निकले नकवी, दफ़्तर में जमे रहे पर्यावरण मंत्री, सीतारमण ने की चाय पार्टी
आज का राशिफल
X