ताज़ा खबर
 

कोरोना में ज़िंदा इंसानियत: नौजवान के लिए बुजुर्ग ने बेड किया क़ुर्बान, दोस्त को 24 घंटे में बोकारो से नॉएडा पहुँचाया ऑक्सिजन

बोकारो के रहने वाले टीचर देवेंद्र ने नोएडा में अपने दोस्त को बचाने के लिए 1400 किमी की यात्रा कर मरीज तक ऑक्सीजन पहुंचाया।

Narayan Bhaurao Dabhadkar,Corona, covid-19 नारायण भाऊराव दाभाड़कर (फोटो- Twitter-@SHARMA_RNS)

भारत में कोरोना संक्रमण से हर दिन हजारों लोगों की मौत हो रही है। ऑक्सीजन और बेड के अभाव में लोगों की जान जा रही है। हर कोई अपने लिए और अपने परिजनों के लिए बेड और ऑक्सीजन को प्राप्त करना चाह रहा है। इधर इस दौर में भी इंसानियत जिंदा है। महाराष्ट्र के नागपुर में एक 85 साल के बुजुर्ग ने दूसरे को मदद करने के लिए अपने बेड उसे दे दिया।

इसी तरह बोकारो के रहने वाले टीचर देवेंद्र ने नोएडा में अपने दोस्त को बचाने के लिए 1400 किमी की यात्रा कर मरीज तक ऑक्सीजन  पहुंचाया। खबरों के अनुसार नारायण भाऊराव दाभाडकर अस्पताल में भर्ती थे। इस बीच वहां एक महिला अपने पति को लेकर पहुंची। लेकिन अस्पताल ने जगह खाली नहीं होने की बात कहकर मरीज को भर्ती करने से इनकार कर दिया। महिला डॉक्टर्स के सामने गिड़गिड़ाने लगी।मरीज की हालत को देखकर नारायण भाऊराव दाभाडकर ने अस्पताल प्रबधंन से अपनी बेड महिला के पति को देने की गुजारिश कर दी।

दाभाडकर की बात को मानते हुए अस्पताल ने उस महिला के पति को उनका बेड दे दिया। बदले में अस्पताल ने उनसे लिखवा लिया कि मैं अपना बेड दूसरे मरीज के लिए स्वेच्छा से खाली कर रहा हूं। अस्पताल से वापस आने के तीन दिन बाद नारायण भाऊराव दाभाडकर की तबीयत बिगड़ गयी और उनका निधन हो गया।दाभाडकर के परिजनों के अनुसार काफी प्रयासों के बाद उनके लिए के बेड की व्यवस्था हुई थी।

इधर बोकारों के रहने वाले शिक्षक देवेंद्र ने भी अपने काम से इंसानियत को जिंदा रखा है। उन्होंने नोएडा में रहने वाले अपने दोस्त की जान को बचाने के लिए 1400 किलोमीटर का सफर तय कर नोएडा में अपने दोस्त के पास ऑक्सीजन का सिलेंडर पहुंचाया। देवेंद्र ने अपने दोस्त रंजन को बचाने के लिए बियाडा स्थित झारखंड इस्पात ऑक्सिजन प्लांट के संचालक के पास पैरवी कर 10 हजार रुपये सिक्योरिटी जमा कर ऑक्सीजन सिलेंडर लिया था।

बताते चलें कि देश में कोरोना का कहर तेजी से बढ़ रहा है। पिछले 24 घंटे में ही कोविड ने 3286 लोगों की जान ले ली। अब भी नए केस तेजी से बढ़ रहे हैं। कोरोना की शुरुआत से पहली बार ऐसा हुआ है जब एक दिन में ही 3 हजार से ज्यादा लोगों ने दम तोड़ दिया हो। लगातार सातवें दिन तीन लाख से ज्यादा 3,62,770 नए केस रिपोर्ट हुए।

Next Stories
1 लॉकडाउन में भी चल रहा है नए संसद भवन का काम, मजदूर बोले- डर लगता है
2 यूपीः बीजेपी का कार्यकर्ता हूं, कहते हुए आती है शर्म, अस्पताल के बाहर खड़े शख्स ने बताया दर्द
3 भारत में बढ़ा कोरोना तो प्राइवेट जेट से देश छोड़ निकले अमीर, भाजपा सांसद बोले- यहां हालत खराब
ये पढ़ा क्या?
X