scorecardresearch

अल्बानीस : अभावों में बीता बचपन, अब मिली आस्ट्रेलिया की बागडोर

अल्बानीस ने छह हफ्तों के अपने चुनाव प्रचार अभियान के दौरान अभावों में बीते अपने बचपन से मिली सीख का कई बार जिक्र किया।

आस्ट्रेलिया में सिडनी शहर के एक उपनगर में सरकारी आवास में पेंशन के भरोसे गुजर-बसर करने वाली मां के इकलौते बेटे एंथनी अल्बानीस आस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री पद तक पहुंच गए हैं। वह आस्ट्रेलिया के बहु-सांस्कृतिक समाज के नायक हैं। उन्होंने अपने आप को 121 वर्षों में प्रधानमंत्री पद के लिए ‘ग्रामीण जातीय अल्पसंख्यक’ (नान-एंग्लो सेल्टिक) समुदाय का इकलौता उम्मीदवार बताया। उनके दोस्त उन्हें ‘अल्बन-इज’ बुलाते हैं।उपनगर कैंपरडाउन में सरकारी आवास में पले-बढ़े अल्बानीस की आर्थिक स्थिति ने उन्हें एक ऐसा नेता बनाया, जिसने 2007 के बाद से पहली बार मध्य-वाम आस्ट्रेलियन लेबर पार्टी को सत्ता तक पहुंचा दिया। उन्हें उनके बचपन के उपनाम ‘अल्बो’ के नाम से जाना जाता है।

अल्बानीस ने अपने चुनावी विजयी भाषण में कहा, ‘हर माता-पिता अगली पीढ़ी के लिए ज्यादा चाहते हैं। मेरी मां ने मेरे लिए एक बेहतर जिंदगी का सपना देखा था और मुझे उम्मीद है कि मेरी यात्रा आस्ट्रेलियाई लोगों को सितारों की बुलंदियों तक पहुंचने के लिए प्रेरित करेगी।’ अल्बानीस ने छह हफ्तों के अपने चुनाव प्रचार अभियान के दौरान अभावों में बीते अपने बचपन से मिली सीख का कई बार जिक्र किया।

आस्ट्रेलिया में 1960 के दशक में रूढ़िवादी समाज में अल्बानीस को ‘नाजायज’ ठहराने से बचाने के लिए उन्हें बताया गया कि इटली के उनके पिता कार्लो अल्बानीस की उनकी मां मैरियाने एलेरी से यूरोप में शादी के बाद कार दुर्घटना में मौत हो गई थी। उनकी मां ने उन्हें तब सच्चाई बतायी जब वह 14 साल के थे कि उनके पिता की मौत नहीं हुई और उनके माता-पिता ने कभी शादी नहीं की थी। वे दोनों 1962 के दौरान एक विदेश यात्रा में एक जहाज पर मिले थे।

अपनी मां की भावनाओं को आहत न करने के डर से अल्बानीस ने 2002 में उनकी मृत्यु के बाद अपनी पिता की तलाश की। वह दक्षिण इटली के बारलेटा में 2009 में अपने पिता से मिले। वह आस्ट्रेलिया के परिवहन एवं बुनियादी ढांचा मंत्री के तौर पर कारोबारी बैठकों के लिए इटली गए थे। अल्बानीस ने बताया कि वह 12 साल के थे जब अपने पहले राजनीतिक अभियान में शामिल हुए थे।

अल्बानीस ने ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन में भारी कमी लाने के साथ जलवायु परिवर्तन में पिछड़ने पर आस्ट्रेलिया की अंतरराष्ट्रीय साख सुधारने का वादा किया है। पिछले प्रशासन ने 2015 में पेरिस समझौते में किए वादे पर अड़े रहने की प्रतिबद्धता जताई थी, यानी 2030 तक 2005 के स्तर से 26 से 28 फीसद कम। अल्बानीस की लेबर पार्टी ने 43 फीसद की कटौती का वादा किया है।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.