ताज़ा खबर
 

Valentine’s Day पर पहली बार Tourism Day सेलिब्रेट करेगी UP सरकार

लखनऊ में पहली बार हॉट एयर बैलून पर बैठ कर आसमान से अवध देखने का मौका मिलेगा। पर्यटन विभाग ने पहली बार उत्तर प्रदेश पर्यटन दिवस मनाने का एलान किया है।

लखनऊ | February 12, 2016 1:16 AM
यूपीए सीएम अखिलेश यादव

लखनऊ में पहली बार हॉट एयर बैलून पर बैठ कर आसमान से अवध देखने का मौका मिलेगा। पर्यटन विभाग ने पहली बार उत्तर प्रदेश पर्यटन दिवस मनाने का एलान किया है। 14 फरवरी से तीन दिनों तक शुरू हो रहे इस आयोजन में गुब्बारे की टोकरी में बैठकर रूमी दरवाजा, इमामबाड़ा, नक्कारखाना, सतखंडा, घंटाघरा तो दिखेगा ही, साथ ही इन ऐतिहासिक इमारतों को छू कर गुजरती गोमती नदी के भी दीदार होंगे।
गोमतीनगर में समाजवादी पार्टी के संस्थापक रहे जनेश्वर मिश्र की याद में बनाए गए एशिया के सबसे बड़े उद्यान में प्रदेश की समाजवादी पार्टी की सरकार 14 फरवरी से उत्तर प्रदेश पर्यटन दिवस का आयोजन करने जा रही है। प्रदेश में पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए पर्यटन दिवस का आयोजन सभी जिलों में किया जाएगा ताकि जनता को पर्यटन को बढ़ावा देने वाले ऐतिहासिक महत्त्व की इमारतों की जानकारी तो दी ही जाए। साथ ही उन्हें पर्यटकों से होने वाली आमदनी के बारे में भी जागरूक किया जाएगा।

उत्तर प्रदेश सरकार ने पर्यटन के विस्तार के लिए जो योजना शुरू की है, उसकी वजह से प्रदेश में पर्यटकों की संख्या में करीब आठ फीसद की बढ़ोतरी हुई है। राज्य सरकार कहती है कि इस वित्तीय वर्ष में अब तक उत्तर प्रदेश को देखने और समझने जो 20 करोड़ पर्यटक आए, उनमें 31 लाख 42 हजार विदेशी पर्यटक थे। अब अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी की सरकार अपनी इस उपलब्धि को देश के सामने नजीर बना कर पेश करने की तैयारी में है। प्रदेश सरकार ने पहली बार आयोजित हो रहे पर्यटन दिवस पर होटलों में ठहरने वालों को 10 प्रतिशत और भोजन करने वालों को 20 प्रतिशत की छूट देने का एलान किया है। इसके अलावा विंटेज कार रैली, दुर्लभ छाया चित्र प्रदर्शनी का आयोजन भी किया जाएगा जिसका उद्घाटन खुद अखिलेश यादव करेंगे। साथ ही जनेश्वर मिश्र पार्क में एक दिवसीय फूड फेस्टिवल आयोजित किया जाएगा।

फिलहाल उत्तर प्रदेश की समाजवादी पार्टी की सरकार प्रदेश में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए कई अहम योजनाएं बना रही है जिसका खुलासा आने वाले कुछ महीनों में होगा। प्रदेश में पर्यटन दिवस का आयोजन कर अखिलेश यादव प्रदेश की कानून व व्यवस्था पर खुद को घिरने से बचने के रास्ते भी तलाश रहे हैं। लाजिमी सी बात है, यदि प्रदेश सरकार यह साबित करने में आंकड़ों के आधार पर सफल रही कि उत्तर प्रदेश में पर्यटकों की संख्या में इजाफा हो रहा है तो उसे यह बताने का अवसर भी मिल जाएगा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था यदि खराब होती तो यहां घूमने भला कौन आता?

 

Next Stories
1 नृत्यः कथक में कृष्णा और शिव की महिमा
2 टेनिस खिलाड़ी को भारत सरकार देगी 35 लाख रुपए, जानिए क्यों?
3 ‘अगर पिच खराब है तो हम बोलेंगे इसमें डरना कैसा, पुणे की पिच वैसी नहीं थी जैसी आम तौर पर मिलती है’
ये पढ़ा क्या?
X