ताज़ा खबर
 

ऐश्वर्या श्रीधर : बनी दुनिया की श्रेष्ठ वन्य जीव फोटोग्राफर

ऐश्वर्या कहती हैं, ‘अपनी मेहनत सीखने में लगाइए। अगर आप सही तरीके से सीखेंगी तो फोटोग्राफी में भी परफेक्शन दिखने लगेगा। हर हाल में अपना आत्मविश्वास बनाए रखें। जब आप पूरी इच्छाशक्ति के साथ जिंदगी की परेशानियों का सामना करते हैं, तो हर काम आसान हो जाता है।’

दुनिया की श्रेष्ठ वन्य जीव फोटोग्राफर बनी ऐश्वर्या श्रीधर।

वन्य जीव और जंगल की फोटोग्राफी के लिए दुनिया की श्रेष्ठ फोटोग्राफर घोषित की गई हैं भारत की ऐश्वर्या श्रीधर। 23 साल की ऐश्वर्या को 2020 का ‘वाइल्ड लाइफ फोटोग्राफर आफ द ईयर अवॉर्ड’ मिला है। यह पुरस्कार जीतने वाली वह पहली भारतीय लड़की हैं। 11 साल की उम्र में फोटोग्राफी शुरू करने वाली ऐश्वर्या को ‘सेंक्चुरी एशिया यंग नेचुरलिस्ट अवॉर्ड’ और ‘इंटरनेशनल कैमरा फेयर अवॉर्ड’ भी मिल चुका है। नवी मुंबई में रहने वाली ऐश्वर्या वन्य जीवों पर वृत्तचित्र निर्माता भी हैं।

2020 के ‘वाइल्ड लाइफ फोटोग्राफर आफ द ईयर अवॉर्ड’ के लिए ‘लाइट्स आफ पैशन’ शीर्षक वाले उनके फोटो को 80 से अधिक देशों की 50 हजार प्रविष्टियों में पहले नंबर पर चुना गया। ऐश्वर्या ने ‘बिहेवियर इनवर्टीब्रेट्स श्रेणी’ में यह पुरस्कार जीता।

ऐश्वर्या कहती हैं कि उन्हें बचपन से वन्य जीव फोटोग्राफी का शौक था। उनके पिता ‘बॉम्बे नैचुरल हिस्ट्री सोसायटी’ के सदस्य हैं। उनके साथ वे कई जगह जातीं। उनके पिता ने फोटोग्राफी के लिए प्रेरित किया। स्नातक की पढ़ाई के बाद वे वन्य जीव फोटोग्राफर बनीं।
उन्हें जंगल में फोटोग्राफी के दौरान डर नहीं लगता। जिस फोटो के लिए पुरस्कार मिला, वो उन्होंने पिछले साल जून में खींची थी। वे कहती हैं, मैंने एक पेड़ देखा, जो ढेर सारे जुगनुओं से भरा था। ये देखकर मुझे ऐसा लगा, जैसे सितारे जमीन पर उतर आए हैं। तब उन्होंने ये फोटो लिया।

वो बताती हैं, ‘मैंने 11 साल की उम्र से फोटोग्राफी की शुरुआत की। मम्मी-डैडी ने पूरा साथ दिया। अगर देश में महिला वन्य जीव फोटोग्राफर की बात करूं तो कई लड़कियां या महिलाएं इस क्षेत्र में आने से हिचकिचाती हैं। मैं उन सबसे कहना चाहती हूं कि एक महिला होने के नाते अपने सपनों और पैशन को पूरा करने से पीछे न हटें।’

ऐश्वर्या कहती हैं, ‘अपनी मेहनत सीखने में लगाइए। अगर आप सही तरीके से सीखेंगी तो फोटोग्राफी में भी परफेक्शन दिखने लगेगा। हर हाल में अपना आत्मविश्वास बनाए रखें। जब आप पूरी इच्छाशक्ति के साथ जिंदगी की परेशानियों का सामना करते हैं, तो हर काम आसान हो जाता है।’ उन्होंने कहा, ‘वैसे तो जंगलों में प्रकृति के बीच रहना मुझे बहुत अच्छा लगता है। लेकिन, यहीं से मैंने जीवन के कई सबक भी सीखे। एक बार मैं जंगल में पक्षियों की फोटो ले रही थी। मैं इतनी खो गई थी कि पता ही नहीं चला कि जहां खड़ी हूं, वहां दलदल है। फोटो लेने के बाद मैं कदम भी नहीं चल पा रही थी। उस वक्त मैंने ये सीखा कि फोटोग्राफी के साथ ही आसपास के माहौल का ध्यान रखना भी जरूरी है, ताकि सुरक्षित रह सकें।

जीवन में धैर्य रखना भी जरूरी है। जब आप अपनी इच्छाओं के बारे में कम सोचते हैं, तो जीवन सबसे अच्छा होता है।’ ऐश्वर्या ने अपने रोल मॉडल के बारे में बताया, ‘ऐसे कई वाइल्ड लाइफ फोटोग्राफर हैं, जिन्हें मैं अपना रोल मॉडल मानती हूं। इनमें राधिका रामासामी, लतिका नाथ, अश्विका कपूर और कल्याण वर्मा शामिल हैं। इनकी फोटोग्राफी मुझे प्रेरित करती है। फिलहाल मैं बंदरों पर एक डॉक्यूमेंट्री बना रही हूं। मैं भविष्य में वाइल्ड लाइफ टीवी प्रजेंटेटर बनना चाहती हूं। साथ ही ‘डिस्कवरी’ और ‘एनिमल प्लेनेट’ जैसे चैनलों के जरिए सारी दुनिया को वन्य जीव क्षेत्रों की सैर कराने के सपने देखती हूं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 जानें-समझें: डाटा सुरक्षा के सवाल, सेंधमारी रोकने में कितने गंभीर सेवा प्रदाता
2 विश्व परिक्रमा: डोनाल्ड ट्रंप के चुनावी दावों की हकीकत
3 सुशांत के साथ झगड़ा हुआ, इसके बाद उसे मारा गया- डिबेट में बोले पैनलिस्ट तो एंकर पूछा कहां से पता चला
यह पढ़ा क्या?
X