ताज़ा खबर
 

बढ़ रही मुसीबत: हवा की रफ्तार कम होने से बढ़ा प्रदूषण, महीन धूल कण में पराली की हिस्सेदारी सात फीसद हुई

दिल्ली, गुरुग्राम, फरीदाबाद, आगरा सहित 19 शहरों की हवा फिर बहुत खराब स्तर तक प्रदूषित हो गई है। इन सभी जगहों पर एक्यूआइ 300 से 400 के बीच है

Author नई दिल्ली | Updated: December 5, 2020 8:55 AM
दिल्‍ली में प्रदूषण बढ़ने से लोगों को हो रही परेशानी। फाइल फोटो।

दिल्ली सहित देश के 19 शहरों की हवा बहुत खराब हो गई है। इसमें नोएडा, गाजियाबाद, ग्रेटर नोएडा, मेरठ सहित नौ शहरों की हवा फिर खतरनाक हुई है। प्रदूषण का स्तर गहराता जा रहा है। हवा की गति थमने से दिक्कत बढ़ गई है।

सफर के मुताबिक प्रदूषण शनिवार को भी परेशान करेगा। बागपत, बुलंदशहर, मेरठ, कानपुर, लखनऊ सहित जिन शहरों की हवा खतरनाक स्तर तक प्रदूषित पाई गई है वहां औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआइ) का स्तर 400 के पार पहुंच गया है, जबकि दिल्ली एनसीआर की बात करें तो दिल्ली, गुरुग्राम, फरीदाबाद, आगरा सहित 19 शहरों की हवा फिर बहुत खराब स्तर तक प्रदूषित हो गई है। इन सभी जगहों पर एक्यूआइ 300 से 400 के बीच है, जबकि सेहत के लिहाज से यह किसी भी सूरत में 50 से अधिक नहीं होनी चाहिए।

पृथ्वी व विज्ञान मंत्रालय के प्रदूषण निगरानी प्रणाली सफर का कहना है कि सतही स्तर की हवाएं दक्षिण-पश्चिम की ओर कम हैं। वेंटिलेशन की स्थिति कल तक और धीमी होने की संभावना है। जिससे प्रदूषण और सघन हो जाएगा। सफर को सैटेलाइट से मिली तस्वीरों के मुताबिक पराली जलाने की संख्या कुछ अधिक हो गई है।

यह लगभग 302 हो गई है। इसलिए, दिल्ली की हवा में महीन धूल कण में पराली की हिस्सेदारी आज बढ़ कर सात फीसद हो गई है। एक्यूआइ अगले दो दिनों के लिए बहुत खराब श्रेणी में पहुंचने व और दिन के समय और बिगड़ने का अनुमान है। छह दिसंबर को इसके कुछ सुधरने की उम्मीद है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 किसानों का विरोध: आंदोलन रोकने के लिए पुलिस ने खोदी जमीन
2 आपको MSP की सारी जानकारी किसान आंदोलन के बाद मिली है क्या? एंकर ने पवन खेड़ा से पूछा सवाल तो मिला ये जवाब
3 कृषि कानून को वापस लेने की मांग पर अड़े आंदोलनरत किसान, अब 8 दिसंबर को भारत बंद का ऐलान
ये पढ़ा क्या?
X