ताज़ा खबर
 

पूर्व CJI की बेटी से बदसलूकी, कोर्ट ने एयर इंडिया पर ठोका 1 लाख रुपये का जुर्माना

फोरम ने एयर इंडिया को मल्होत्रा को 574 अमेरिकी डॉलर वापस करने का आदेश दिया, जिसके माध्यम से उसने एयरलाइंस को पैसे का भुगतान किया। साथ ही उसे अपार मानसिक पीड़ा और शारीरिक उत्पीड़न के लिए मुआवजे के रूप में 50,000 रुपये का भुगतान करने का आदेश दिया।

इस तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रतीकात्मक रूप में किया गया है। (फोटो सोर्स: द इंडियन एक्सप्रेस)

चंडीगढ़ कंज्यूमर फोरम ने पूर्व चीफ जस्टिस डॉक्टर आदर्श सेन आनंद की बेटी से बदसलूकी के मामले में एयर इंडिया पर 60,000 जुर्माना समेत 1 लाख रुपये के भुगतान का निर्देश दिया है। 17 सितंबर को जारी फैसले में फोरम की बेंच ने कहा, “डॉ आदर्श सेन की मृत्यु देश के लिए बहुत बड़ी क्षति थी। डॉ आदर्श सेन द्वारा दिए गए उत्कृष्ट योगदान को ध्यान में रखते हुए, भारत सरकार ने उन्हें भारत के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार पद्म विभूषण से सम्मानित किया। हालांकि, एयर इंडिया के अधिकारियों ने उक्त घटना के प्रति उदासीनता दिखाई और उनकी बेटी ज्योतिका आनंद मल्होत्रा के साथ बेहद भद्दा और गैर-पेशेवर व्यवहार किया।”

चंडीगढ़ की ज्योतिका आनंद मल्होत्रा ने कहा कि जब वह सैन फ्रांसिस्को में थीं तो उन्हें अपने परिवार से पता चला कि उनके पिता डॉ आदर्श सेन आनंद (भारत के पूर्व मुख्य न्यायाधीश) गंभीर रूप से बीमार हैं और नोएडा के अस्पताल में भर्ती हैं। उन्होंने 1 दिसंबर, 2017 को एयर इंडिया के माध्यम से भारत का टिकट बुक किया और 1424.46 अमरीकी डालर का भुगतान करके वापसी का टिकट लिया। भारत पहुंचने पर मल्होत्रा यह जानकर हैरान रह गईं कि उनके पिता का निधन हो गया था और दाह संस्कार और अन्य अनुष्ठान में कई दिन लग सकते थे। इस तरह उन्होंने 16 दिसंबर, 2017 से 28 दिसंबर, 2017 तक अपनी वापसी की उड़ान की तारीख फिर से निर्धारित कराया। मल्होत्रा ने कहा कि एयरलाइंस ने परिवर्तित तिथि के लिए टिकट को फिर से जारी किया और उसे बताया कि उसे कोई अतिरिक्त शुल्क या किराया अंतर नहीं लगाया गया।

शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया कि 20 मार्च, 2018 को, एयर इंडिया ने उससे 324 अमेरिकी डॉलर की मांग उठाई, जिसे पहले ही खत्म किया जा चुका था। फिर भी मल्होत्रा ने रकम चुकाई, लेकिन उन्हें हैरानी तब हुई जब एयरलाइंस ने उन पर यात्रा की तारीख बदलने की सूरत में उनपर दूसरा 250 अमेरिकी डॉलर की पैनल्टी लगा दी। मल्होत्रा का कहना था कि उन्होंने एयरलाइंस को सारी बातें बताई। लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। आरोप के मुताबिक एयरलाइंस ने एक दुर्भावनापूर्ण और अनैतिक तरीके से तारीख में बदलाव के लिए कुल 574 अमेरिकी डॉलर (लगभग 41 हजार रुपरये) की वसूली की है। इसके बाद मल्होत्रा ने 31 जुलाई, 2018 को चंडीगढ़ उपभोक्ता फोरम में एक औपचारिक शिकायत दर्ज की।

एअर इंडिया ने जवाब में कहा कि शिकायतकर्ता द्वारा उनके पिता की मृत्यु के कारण माफी की मांग करने वाले दस्तावेज, मापदंडों से मेल नहीं खाते। उनके पिता की मृत्यु पहले हुई और उसके बाद हवाई-टिकट बुक किए गए। मृत्यु प्रमाण पत्र के अनुसार, 1 दिसंबर, 2017 की सुबह मेट्रो अस्पताल, नोएडा में शिकायतकर्ता के पिता का देहांत हो गया। शिकायतकर्ता ने सैन फ्रांसिस्को से 30 नवंबर की रात को अपना हवाई टिकट बुक कराया था, जो भारतीय मानक समय से लगभग 13 घंटे पीछे है। इसलिए, उनके पिता के निधन की खबर सुनकर, उन्होंने 30 नवंबर की रात लगभग 09.59 बजे सैन फ्रांसिस्को समय पर हवाई टिकट बुक किया।

फोरम ने पाया कि एयरलाइंस ने अपने उत्तर में 574 अमेरिकी डॉलर के दावे को सही ठहराया जो पूरी तरह से अनैतिक हैं। फोरम ने एयर इंडिया को मल्होत्रा को 574 अमेरिकी डॉलर वापस करने का आदेश दिया, जिसके माध्यम से उसने एयरलाइंस को पैसे का भुगतान किया। साथ ही उसे अपार मानसिक पीड़ा और शारीरिक उत्पीड़न के लिए मुआवजे के रूप में 50,000 रुपये का भुगतान करने का आदेश दिया। इसके अलावा 10,000 रुपये का मुकदमेबाजी का भुगतान करने को भी कहा।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 शराब पीकर गाड़ी चलाने के मामले में भी मिल सकता है गाड़ी का इंश्योरेंस क्लेम! जान लें नियम
2 अमित शाह ने पाक अधिकृत कश्मीर के लिए नेहरू को ठहराया जिम्मेदार, कहा- बेवक्त किया संघर्षविराम की घोषणा
3 गुजरात: सब इंस्पेक्टर ने तलवार से काटा बर्थडे का केक, वायरल वीडियो पर पुलिस की किरकिरी
ये पढ़ा क्या?
X