AIMIM का ऑफिशियल अकाउंट हैक कर प्रोफाइल में लगाई टेस्ला के CEO एलन मस्क की तस्वीर

असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) का वेरिफाइड ट्विटर अकाउंट रविवार को हैक हो गया। हैकर्स ने अकाउंट में बदलाव करते हए पार्टी की जगह एलन मस्क का नाम लिख दिया।

Asaduddin Owaisi, AIMIM, AIMIM Twitter Account Hacked, Elon Musk
AIMIM का ट्विटर अकाउंट हैक करके वहां एलन मस्क की तस्वीर लगा दी गई है। Photo Source: Left- Screen Grab, Right- Indian Exoress

असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी  ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) का वेरिफाइड ट्विटर अकाउंट रविवार को हैक हो गया। हैकर्स ने अकाउंट में बदलाव करते हए पार्टी की जगह एलन मस्क का नाम लिख दिया। इतना ही नहीं फोटो भी ट्विटर अकाउंट पर लगी पार्टी लोगों की तस्वीर को हटाकर वहां एलन मस्क की फोटो लगा दी गई। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि एलन मस्क की गिनती दुनिया के अमीर शख्सियतों में होती है। एलन मस्क टेस्ला और स्पेस एक्स जैसी कंपनियों के मालिक हैं।

हैदराबाद से पार्टी के प्रवक्ता द्वारा जारी बयान में कहा गया कि करीब 9 दिनों पहले भी इसी तरह अकाउंट हैक हुआ था लेकिन उसे कुछ देर बाद रिस्टोर कर लिया गया था। अब एक बार फिर से अकाउंट हैक हो जाने के बाद पार्टी ने फैसला किया है कि वह सोमवार को इस मामले को लेकर शिकायत दर्ज कराएगी। खबर लिखे जाने तक हैकर्स ने अकाउंट से कोई भी ट्वीट नहीं किया था। बता दें कि AIMIM पार्टी के 6 लाख 78 हजार से ज्यादा फॉलोवर्स हैं।

ट्विटर पर AIMIM के खाते के हैक होते ही रिएक्शन की बाढ़ आ गई, कुछ यूजर्स जहां इसे उत्तर प्रदेश के चुनावों से जोड़कर देख रहे हैं तो कुछ ने इसी हैकर्स की शिकायत करार दिया है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ओवैसी इन दिनों उत्तर प्रदेश की सियासी गहमा गहमी में व्यस्त हैं। हाल ही में उन्होंने पश्चिमी उत्तर प्रदेश में कई रैलियां की थी। उनकी रैलियों में जमकर भीड़ जुटी थी।

ओवैसी की पार्टी ने ऐलान किया है कि उत्तर प्रदेश के चुनावों में वह 100 सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारेंगे उन्होंने इसके लिए सुभासपा के साथ गठबंधन कर भागीदार संकल्प मोर्चा भी बनाया है। वह अपनी कई रैलियों में कह चुके हैं कि उनके मोर्चे में कई अन्य छोटी पार्टियां आ सकती हैं। ओवैसी के आने से उत्तर प्रदेश के वोटबैंक का सियासी समीकरण बिगड़ने लगा है।

दरअसल ओवैसी भले ही बीजेपी के सामने खड़े नजर आ रहे हों लेकिन उनके होने का सबसे ज्यादा नुकसान अखिलेश यादव को उठाना पड़ेगा। ओवैसी अपनी रैलियों में जिस तरीके से सीएम योगी के साथ पूर्व सीएम अखिलेश पर भी बरस रहे हैं, उससे साफ संकेत मिल रहे हैं कि वह अपना टारगेट मुस्लिम वोट बैंक को लेकर ही इस सियासी अखाड़े में कूदे हैं। वहीं उनके साथ सुहेलदेव पार्टी भी दलित वोट बैंकों पर नजर लगाए बैठी है।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
अटार्नी जनरल मुकुल रोहतगी को आरोपों की जांच करने का सुप्रीम कोर्ट ने दिया आदेशSupreme Court, Army, Army shoot crowd, Delhi
अपडेट