ताज़ा खबर
 

विवादित बोल के बाद सोशल मीडिया पर ट्रोल हो रहे AIMIM MLA वारिस पठान, कोई जेल भेजने कह रहा तो कोई पागलखाने

एआईएमआईएम नेता नेता वारिस पठान को सोशल मीडिया पर जमकर ट्रोल किया जा रहा है। यूजर्स का कहना है कि वारिस पठान मानसिक रूप से कमजोर हैं और उन्हें पागलखाने भेज देना चाहिए वहीं कुछ ने उन्हें इस बयान के लिए जेल भेजने की बात कही है।

Author Edited By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | Updated: February 21, 2020 11:43 AM
ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के चीफ असदुद्दीन ओवैसी और वारिस पठान। (Express photo by Dilip Kagda Mumbai-01/01/2017)

नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) के खिलाफ देश के कई हिस्सों में विरोध प्रदर्शन जारी है। प्रदर्शन को लेकर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के नेता वारिस पठान ने बेहद विवादित बयान दिया है। वारिस पठान ने कर्नाटक के गुलबर्गा में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि हम 15 करोड़ हैं और 100 करोड़ लोगों पर भारी हैं। उनके इस बयान की हर कोई निंदा कर रहा है। वहीं बाद सोशल मीडिया पर लोग उन्हें जमकर ट्रोल भी कर रहे हैं। यूजर्स का कहना है कि वारिस पठान मानसिक रूप से कमजोर हैं और उन्हें पागलखाने भेज देना चाहिए वहीं कुछ ने उन्हें इस बयान के लिए जेल भेजने की बात कही है।

पठान के इस विवादित बयान पर पूर्व आप नेता आशुतोष का कहना है कि इस आदमी की जगह जेल है । जहाँ गोली मारने के लिये उकसाने वाले खुलेआम घूमते हैं, उनकी पार्टी खुलेआम डिफ़ेंड करती है वहाँ कुछ भी संभव है। एक यूजर ने लिखा “ये पागल हो गया है इसने कबड्डी का मैच समझ रखा है।” एक ने लिखा “तुम्हें तो अरैस्ट करना भी बेकार है, जेल घर जैसा लगेगा तुम्हें। पठान के इस बयान की आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने भी निंदा की है।

आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने कहा, ‘एआईएमआईएम बीजेपी की बी टीम की तरह काम कर रही है।’ उन्होंने कहा कि इसी तरह बीजेपी नेता अनुराग ठाकुर और प्रवेश वर्मा जैसे नेताओं को भी गिरफ्तार किया जाना चाहिए। जो भी भड़काऊ टिप्पणी करता है, उसके खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए।’

बता दें पूर्व विधायक वारिस पठान ने कहा था कि, ‘हमने ईंट का जवाब पत्थर से देना सीख लिया है। मगर हमको इकट्ठा होकर चलना पड़ेगा। आजादी लेनी पड़ेगी और जो चीज मांगने से नहीं मिलती है, उसको छीन लिया जाता है। हमको कहा जा रहा है कि हमने अपनी मां और बहनों को आगे भेज दिया है। हम कहते हैं कि अभी सिर्फ शेरनियां बाहर निकली हैं, तो आपके पसीने छूट गए। अगर हम सब साथ में आ गए, तो सोच लो क्या होगा। हम 15 करोड़ ही 100 करोड़ लोगों पर भारी हैं। यह बात याद रख लेना।’

Next Stories
1 अप्रैल में फिर से राहुल गांधी संभाल सकते हैं कांग्रेस की कमान, पर कुछ नेता टॉप पोस्ट पर चुनाव कराने की कर रहे बात
2 भुज के बाद अब सूरत में ट्रेनी क्लर्क के जबरन कपड़े उतरवाकर लिया प्रेग्नेंसी टेस्ट, बिन कपड़ों के घंटों कराया इंतजार
3 सुब्रमण्यम स्वामी का दावा- जल्द खत्म होगी सोनिया, राहुल गांधी की नागरिकता, अमित शाह की टेबल पर है फाइल
ये पढ़ा क्या?
X