AIMIM प्रमुख ओवैसी बोले- चीन के डर से PM मोदी चाय में भी नहीं डालते हैं चीनी, याद दिलाया पुराना भाषण- जब पाक को लेकर किया था मनमोहन सरकार का विरोध

पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए ओवैसी ने कहा कि, हमारे प्रधानमंत्री दो चीजों पर कभी अपनी जुबान नहीं खोलते। एक तो पेट्रोल और डीजल के दाम और दूसरा चीन की घुसपैठ।

owaisi ,modi, BJP
ओवैसी ने पीएम मोदी पर पेट्रोल और डीजल के दामों को लेकर निशाना साधा(फोटो सोर्स: PTI)।

चीनी सेना द्वारा एलएसी पर घुसपैठ की खबरों को लेकर एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। हैदराबाद में एक कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि, पीएम नरेंद्र मोदी चीन पर बोलने से हमेशा डरते हैं। उन्होंने कहा कि, यहां तक कि प्रधानमंत्री चाय में चीनी तक नहीं डालते, इस डर से कि कहीं चीन न निकल आए। उन्होंने पीएम मोदी पर पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दामों को लेकर भी निशाना साधा।

ओवैसी ने कहा कि, प्रधानमंत्री दो चीजों पर अपनी जुबान नहीं खोलते हैं। एक तो पेट्रोल और डीजल के दामों पर और दूसरा चीन की घुसपैठ पर। पेट्रोल-डीजल की सेंचुरी हो गई, लेकिन पीएम मोदी कह रहे हैं कि मित्रों फिक्र मत करो। उन्होंने कहा कि, चीन हमारे मुल्क में घुसकर बैठ गया लेकिन वो कुछ नहीं कर रहे।

ओवैसी ने अपने भाषण में कहा कि जब पाकिस्तान ने पुलवामा पर हमला किया तो मोदी ने कहा कि हम घर में घुसकर मारेंगे तो हमने कहा कि मारो। लेकिन अब जब चीन डोकलाम, डेपसांग में आकर बैठा है, उत्तराखंड, अरुणाचल प्रदेश में चीन आकर चला जाता है, तो भारत के प्रधानमंत्री हाथ पर हाथ धरे बैठे हैं। वो चीन के बारे में बोलने से डरते हैं। ऐसा लगता है कि, पीएम चाय में चीनी तक नहीं डालते, इस डर से कि कहीं चीन न निकल आए।

ओवैसी ने कहा कि हम भारत के प्रधानमंत्री से पूछना चाहते हैं कि हमारे 9 बहादुर जवान मारे गए हैं और 24 तारीख को भारत, पाकिस्तान का टी-20 मैच होगा? मोदी जी क्या आपने नहीं कहा था कि भारत के सैनिक मर रहे हैं और मनमोहन सिंह की सरकार पाकिस्तान को बिरयानी खिला रही है। वहीं अब हमारे जवानों की मौत पर भारत टी-20 खेलेगा?

उन्होंने कहा कि, आज पाकिस्तान कश्मीर में भारत के लोगों की जान से टी-20 खेल रहा है, टारगेट कीलिंग हो रही है, लेकिन आप क्या कर रहे हैं? कश्मीर में आईबी, अमित शाह क्या कर रहे हैं? कश्मीर में हो रही हत्याओं से निपटने के लिए आपके पास कोई नीति नहीं है।

बता दें कि 17 अक्टूबर को जम्मू-कश्मीर के कुलगाम जिले में आतंकवादियों ने दो बिहारी मजदूरों की गोली मार दी थी। पिछले 15 दिनों के अंदर आतंकियों ने 13 आम नागरिकों को अपना निशाना बनाया है। इसमें गैर-स्थानीय लोग अधिक हैं। इससे घाटी में भय का माहौल व्याप्त हो गया है। काम करने आए लोग कश्मीर से पलायन कर रहे हैं।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
ऐप नाकाम रहा तो सॉफ्टवेयर इंजीनियर ने नाइट्रोजन सूंघकर दे दी जानCISF constable, committed suicide, musium, india gate, janpath