ताज़ा खबर
 

अन्नाद्रमुक नेता टीटीवी दिनाकरन गिरफ्तार, चुनाव चिह्न के लिए घूस देने का आरोप

दिनाकरन के दोस्त मल्लिकार्जुन को भी दूसरे दिन की पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया गया

Author April 26, 2017 12:25 PM
अन्नाद्रमुक (AIADMK) विरोधी गुट के नेता टी टी वी दिनाकरन।

दिल्ली पुलिस ने चार दिन तक चली पूछताछ के बाद अन्नाद्रमुक (अम्मा) गुट के नेता टी टी वी दिनाकरन को मंगलवार रात गिरफ्तार कर लिया। उनपर पार्टी के चुनाव चिन्ह ‘दो पत्ती’ को अपने गुट के पास बरकरार रखने के लिये निर्वाचन आयोग के अधिकारियों को घूस देने की कोशिश करने का आरोप है।

संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) प्रवीर रंजन ने बताया कि दिनाकरन शाम पांच बजे चाणक्यपुरी में अपराध शाखा के इंटर स्टेट दफ्तर में पूछताछ के लिये पेश हुए। करीब छह घंटे तक चली पूछताछ के बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। उन्होंने कहा कि दिनाकरन के लंबे समय से दोस्त रहे मल्लिकार्जुन को भी दो दिन तक चली पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस ने कहा कि निर्वाचन अधिकारी को घूस देने की कोशिश करने के मामले में बिचौलिये सुकेश चंद्रशेखर की गिरफ्तारी के बाद से मल्लिकार्जुन हर जगह दिनाकरन के साथ जाता था।

सूत्रों के मुताबिक दिनाकरन का निजी सचिव जनार्दन मामले में गवाह बनने के लिये तैयार हो गया है। दिनाकरन ने मंगलवार को कबूल किया था कि उसने चंद्रशेखर से मुलाकात की थी और वह समझता था कि चंद्रशेखर उच्च न्यायालय का न्यायाधीश है। उन्होंने हालांकि पार्टी के चुनाव चिन्ह को बरकरार रखने के लिये बिचौलिये को पैसे देने की बात से इनकार किया। दिनाकरन विवादित अन्नाद्रमुक नेता चंद्रशेखर की गिरफ्तारी के बाद जांच एजेंसियों के रडार पर आये। दिनाकरन का कहना था कि उन्होंने चंद्रशेखर से कभी मुलाकात नहीं की।

पुलिस के मुताबिक, 27 वर्षीय व्यक्ति ने दिनाकरन को बताया था कि उसके चुनाव आयोग में उसके संपर्क है और उसके संपर्क से शशिकला गुट को तमिलनाडु में आरके नगर विधानसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव में अन्नाद्रमुक का चुनाव चिह्न दो पत्ती मिल जाएगा। मंगलवार को दिल्ली के एक कोर्ट ने पुलिस से कहा था कि वह घूस के आरोप मामले में दिनाकरन के खिलाफ कोई कार्रवाई क्यों नहीं कर रही है।

मुंबई: एक लीटर पेट्रोल पर 153 फीसदी टैक्स लगाती है सरकार, जानिए क्या है असली कीमत

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App