ताज़ा खबर
 

Indian Railway: दो तेजस ट्रेनें चलाएगा आइआरसीटीसी

पायलट परियोजना के रूप में ट्रेनों को तीन साल के लिए आइआरसीटीसी को सौंपने के लिए रेलवे बोर्ड द्वारा तैयार किए गए ब्लूप्रिंट के अनुसार इन ट्रेनों में कोई छूट, विशेषाधिकार या ड्यूटी पास की अनुमति नहीं दी जाएगी।

Author नई दिल्ली | Updated: August 21, 2019 2:04 AM
तेजस एक्सप्रेस

देश में दो तेजस ट्रेनें आइआरसीटीसी चलाएगा। खास ट्रेन निजी हाथों में सौंपने की कवायद के तहत रेल मंत्रालय ने ये फैसला किया है। ये ट्रेनें तीन साल के लिए ट्रायल के तौर पर आइआरसीटीसी को दी जाएंगी और अहमदाबाद-मुंबई सेंट्रल और दिल्ली-लखनऊ रूटों पर चलाई जाएंगी। सूत्रों के मुताबिक इन ट्रेनों का किराया मांग आधारित होगा और इसे आइआरसीटीसी तय करेगा। पायलट परियोजना के रूप में ट्रेनों को तीन साल के लिए आइआरसीटीसी को सौंपने के लिए रेलवे बोर्ड द्वारा तैयार किए गए ब्लूप्रिंट के अनुसार इन ट्रेनों में कोई छूट, विशेषाधिकार या ड्यूटी पास की अनुमति नहीं दी जाएगी।

रेलवे ने यह भी कहा कि आइआरसीटीसी को सौंपी गई ट्रेनों में टिकट जांच का कार्य रेलवे स्टाफ द्वारा नहीं किया जाएगा। हालांकि, इसने कहा कि उक्त ट्रेनों का एक अलग तरह का नंबर होगा और इन्हें रेलवे स्टाफ-लोको, पायलट, गार्ड और स्टेशन मास्टर द्वारा परिचालित किया जाएगा। इन दोनों ट्रेनों की सेवाएं शताब्दी एक्सप्रेस ट्रेनों जैसी ही होंगी और इन्हें उसी तरह की प्राथमिकता दी जाएगी। इसके लिए रेल मंत्रालय ने आइआरसीटीसी को पत्र भी जारी कर दिया है। जानकारी के मुताबिक लखनऊ से तेजस के लिए जो रूट तैयार किए गए थे, उनमें कुछ बदलाव भी किया गया है।

नए तय कार्यक्रम के मुताबिक यह ट्रेन सुबह 6.10 पर लखनऊ से चलेगी। इसके कानपुर और गाजियाबाद पर रोका जाएगा। इसक बाद दोपहर 12.25 पर यह ट्रेन नई दिल्ली पहुंच जाएगी। इसके बाद ट्रेन को नई दिल्ली से 4.30 पर भेजा जाएगा और 10.45 पर लखनऊ पहुंच जाएगी। विश्वस्तरीय यात्री सेवा उपलब्ध कराने के लिए निजी परिचालकों को लाने का प्रस्ताव रेलवे द्वारा इसकी 100 दिन की योजना में लाया गया था। जानकारी के मुताबिक इन ट्रेन को छुट्टियों के मद्देनजर दिया जाएगा। ट्रेन का किराया क्या होगा यह आइआरसीटीसी तय करेगा।

इसके अतिरिक्त ट्रेन के अंदर सर्विस व विज्ञापन के अधिकार भी आइआरसीटीसी के पास ही रहेंगे। सूत्र बताते हैं कि एयरपोर्ट की तर्ज पर आइआरसीटीसी रेलवे स्टेशन पर करंट काउंटर व चेकइन काउंटर बनाएगा। रेलवे ने यह भी साफ किया है कि तय समय के मुताबिक जिस दिन ट्रेन नहीं चलेगी, उस दिन विशेष किराया देने की जरूरत नहीं होगी। लेकिन यदि किन्हीं कारणों की वजह से यह ट्रेन रद्द, रूट परिवर्तन या कुछ समय के लिए रोकी जाती है तो इस स्थिति में आइआरसीटीसी पूरा चार्ज वसूल करेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 सोशल मीडिया प्रोफाइल आधार से जोड़ने पर सुप्रीम कोर्ट करेगा सुनवाई
2 मस्जिद बनाने के लिए हिंदू मंदिर गिराया गया
3 ISRO: चंद्रयान-2 ने चांद की कक्षा में रखा कदम, थम गई थीं सांसें, अगली परीक्षा सात सितंबर को