अहमदाबाद के स्कूलों को फरमान- पीएम मोदी के जन्मदिन पर आर्टिकल 370 पर करें कार्यक्रम

सर्कुलर में कहा गया है कि ‘आर्टिकल 370 और 35ए के तहत भारतीय संसद ने एक सराहनीय और जनता की भलाई का कदम उठाया है, जिसे लोगों द्वारा काफी सराहा जा रहा है।

narendra modi
पीएम मोदी। (पीटीआई फोटो/फाइल)

अहमदाबाद जिला शिक्षा विभाग ने गुरुवार को एक सर्कुलर जारी किया है। इस सर्कुलर के तहत अहमदाबाद के सभी सरकारी, सरकारी वित्तपोषित और स्व-वित्तपोषित सेकेंडरी और हायर सेकेंडरी स्कूलों को निर्देश दिए गए हैं कि वह संविधान के आर्टिकल 370 और आर्टिकल 35ए पर कार्यक्रम कराएं। इन कार्यक्रमों के तहत स्कूलों में डिबेट, विशेष लेक्चर, निबंध लेखन, समूह चर्चा आदि कराए जाएं।

खास बात ये है कि इन कार्यक्रमों का आयोजन 17 सितंबर को करने को कहा गया है। बता दें कि 17 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्मदिन है। सर्कुलर में स्कूलों को कार्यक्रम की डिटेल्स सेकेंडरी एजुकेशन के डायरेक्टर ऑफिस में 18 सितंबर तक भेजने के निर्देश दिए गए हैं।

सर्कुलर में कहा गया है कि ‘आर्टिकल 370 और 35ए के तहत भारतीय संसद ने एक सराहनीय और जनता की भलाई का कदम उठाया है, जिसे लोगों द्वारा काफी सराहा जा रहा है। इससे देश को दुनियाभर में एक पहचान हासिल हुई है।’

बता दें कि अहमदाबाद के शहरी और ग्रामीण इलाकों के 1050 सेकेंडरी और हायर सेकेंडरी स्कूलों में करीब 2.75 लाख छात्र पढ़ते हैं। इनमें से शहरी इलाके में 600 स्कूल हैं, जिनमें 1.5 लाख और ग्रामीण इलाकों के 450 स्कूलों में 1.25 लाख छात्र पढ़ते हैं। सर्कुलर के अनुसार, इन कार्यक्रमों के आयोजन का मकसद छात्रों में आर्टिकल 370 और 35ए को लेकर समझ बढ़ाना है।

वहीं शिक्षा विभाग के मुख्य सचिव विनोद राय ने ऐसे किसी भी सर्कुलर के बारे में जानकारी होने से इंकार किया है। वहीं जिला शिक्षा अधिकारी राकेश व्यास ने इसकी पुष्टि की है और बताया कि इसका मकसद छात्रों में आर्टिकल 370 और 35ए की समझ बढ़ाना और देश की संसदीय कार्यवाही की जानकारी देना है। पीएम मोदी के जन्मदिन पर इस कार्यक्रम के आयोजन के बारे में सवाल करने पर व्यास ने कहा कि हमें किसी एक दिन इस कार्यक्रम का आयोजन करना था इसलिए इसके लिए पीएम मोदी के जन्मदिन को चुना गया।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
मोदी सरकार के समर्थन बोले लालकृष्‍ण आडवाणी, देश में अभिव्यक्ति की आजादी पर कोई सवालिया निशान नहींlal krishna advani, freedom of speech, advani on freedom of speech, intolerance, लाल कृष्‍ण आडवाणी, अभिव्‍यक्ति की आजादी
अपडेट