ताज़ा खबर
 

VVIP चॉपर डील: क्रिश्चियन मिशेल का मुंह अब तक नहीं खुलवा पाई है सीबीआई, फाइव स्‍टार सुइट में दी है जगह!

सीबीआई ने कोर्ट को बताया कि मिशेल ने दावा किया है कि उसे डिस्लेक्सिया बीमारी है। यह वही बीमारी है जो आमिर खान की फिल्म 'तारे जमीन पर' के आने पर चर्चा का विषय बन गई थी। इस फिल्म में बाल कलाकार इस बीमारी से ग्रसित दिखाया गया था।

अगस्ता वेस्टलैंड सौदे का कथित बिचौलिया क्रिश्चियन मिशेल। (फोटो- एएनआई)

दो हफ्ते से ज्यादा वक्त से सीबीआई हिरासत में रह रहे अगस्ता वेस्टलैंड सौदे के कथित बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल ने अब तक मुंह नहीं खोला है। मिशेल को बीते 4 दिंसबर में दुबई से भारत के लिए प्रत्यर्पित किया गया था। अदालत मिशेल की हिरासत में इजाफा भी कर चुकी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मिशेल को सीबीआई के फाइव स्टार सरीखे सुइट में जगह दी गई है। सूत्रों का कहना है कि मिशेल ने अभी तक करीब 36,000 करोड़ की डील में भारतीय जांच एजेंसी को कुछ नहीं बताया है। सीबीआई ने कोर्ट को बताया कि मिशेल ने दावा किया है कि उसे डिस्लेक्सिया बीमारी है। यह वही बीमारी है जो आमिर खान की फिल्म ‘तारे जमीन पर’ के आने पर चर्चा का विषय बन गई थी। इस फिल्म में बाल कलाकार इस बीमारी से ग्रसित दिखाया गया था। मिशेल को सीबीआई मुख्यालय स्थित गेस्ट हाउस के रूम नंबर 2 में रखा गया है। उसे पांच सितारा स्तर की सभी सुविधाएं मुहैया हो रही हैं। इस बीच, क्रिश्चियन मिशेल ने बेल की अर्जी दी थी, जिसे कोर्ट ने खारिज कर दिया। अदालत ने मिशेल को 10 दिनों के न्‍यायिक हिरासत में भेज दिया है।

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार क्रिश्चयन मिशेल ने FAM और AP जैसे कोड वर्ड्स के बारे में कुछ नहीं बताया है। सीबीआई को बरामद हुए नोट्स में इस तरह के कुछ कोड वर्ड्स मिले थे। जांच एजेंसी को उम्मीद थी कि मिशेल इस बारे में कुछ बताएगा लेकिन अब तक उसके हाथ निराशा लगी। मीडिया में आई खबरों के मुताबिक मिशेल ने इस बारे में जानकारी न होने की बात कही है और कहा कि गुइडे हश्के ने पेमेंट किया था। मीडिया में ऐसी अटकलें भी चल रही है कि FAM का ताल्लुक गांधी परिवार से है और AP का ताल्लुक सोनिया गांधी के राजनीतिक खजांची अहमद पटेल से है।

सूत्रों के मुताबिक सीबीआई ने जब उसके खाते से कई कंपनियों को किए गए पेमेंट को लेकर सवाल-जवाब किया तो उसने कहा कि अन्य कंपनियों के द्वारा उसे ऐसा करने का निर्देश दिया गया था। कहा जा रहा है जॉइंट डायरेक्टर साई मनोहर समेत सीबीआई के सभी आला अधिकारियों ने कथित तौर पर मिशेल का मुंह खुलवाने में भरसक कोशिश की लेकिन नाकाम रहे। वहीं, मिशेल के वकील उसकी जमानत के लिए प्रार्थना पत्र आगे बढ़ा रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App