ताज़ा खबर
 

AgustaWestland Deal: राज्यसभा में स्वामी-पर्रिकर के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का नोटिस देगी कांग्रेस

कांग्रेस प्रवक्ता जयराम रमेश ने संवाददाताओं से कहा कि स्वामी और पर्रिकर ने लोगों के सामने ‘छल कपट का जाल बुनकर’ संसद में पूरी तरह झूठ बोला।
Author नई दिल्ली | May 13, 2016 06:35 am
विवादास्पद अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर। (फाइल फोटो)

अगस्ता वेस्टलैंड मामले में राज्यसभा में हुई चर्चा के दौरान भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी और रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर पर साफ-साफ झूठ बोलने का आरोप लगाते हुए कांग्रेस शुक्रवार (13 मई) को राज्यसभा में उनके खिलाफ विशेषाधिकार हनन का नोटिस देगी। एआईसीसी ने यह ऐलान भी किया कि पार्टी अमेरिकी वेबसाइट ‘डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू डॉट पीजीयूआरयू डॉट कॉम’ के खिलाफ मानहानि का मामला दर्ज कराएगी जिसकी सामग्री का इस्तेमाल स्वामी ने राज्यसभा की चर्चा में किया। आरोप है कि वेबसाइट संघ परिवार से संबंधित है। मौजूदा संसद सत्र में शुक्रवार (13 मई) को राज्यसभा की कार्यवाही का अंतिम दिन है।

कांग्रेस प्रवक्ता जयराम रमेश ने संवाददाताओं से कहा कि स्वामी और पर्रिकर ने लोगों के सामने ‘छल कपट का जाल बुनकर’ संसद में पूरी तरह झूठ बोला। उन्होंने दावा किया कि रक्षा मंत्री ने लोकसभा में जिन दस्तावेजों को अधिप्रमाणित किया वह इटली की अदालत का फैसला नहीं था। इटली की अदालत के फैसले में कुछ भी नहीं होने की बात करते हुए रमेश ने दावा किया कि फैसले में ‘‘कांग्रेस नेतृत्व के खिलाफ कोई आरोप नहीं’’ है। उन्होंने कहा, ‘‘यह झूठ है कि इतालवी अदालत के फैसले में कांग्रेस नेतृत्व की ओर इशारा किया गया है।’’ रमेश ने कहा, ‘‘स्वामी ने बेबुनियाद आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा था कि वह इटली के फैसले से पढ़ रहे हैं।’’

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि भाजपा नेता ने राज्यसभा में 13 पन्नों के दस्तावेज को अधिप्रमाणित किया जिसमें ‘स्वामी से स्वामी को’ एक ईमेल के दो पन्ने, एक समाचार और एक वेबसाइट के नौ पन्ने हैं। रमेश ने कहा, ‘‘स्वामी ने चार मई को राज्यसभा में बड़ा झूठ बोला और झूठे दस्तावेजों का इस्तेमाल किया। हम उन्हें ऐसे ही नहीं जाने देंगे। स्वामी और पर्रिकर दोनों ने देश को गुमराह करने का प्रयास किया है, जिसके लिए उन्हें कीमत चुकानी होगी।’’

कांग्रेस नेता ने दावा किया कि वेबसाइट के नौ पन्ने झूठे हैं। पार्टी इसके खिलाफ मानहानि का मामला दाखिल करेगी। उन्होंने दावा किया कि स्वामी के अलावा एस गुरुमूर्ति और आईआईएम के प्रोफेसर आर वैद्यनाथन इस वेबसाइट से जुड़े हैं जिसे सिलिकॉन वैली से श्री अय्यर नाम के एक शख्स चला रहे हैं। रमेश ने यह दावा भी किया कि स्वामी चाहते हैं कि वैद्यनाथन को रघुराम राजन की जगह आरबीआई का नया गवर्नर बनाया जाए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.