अगस्‍ता वेस्‍टलैंड घोटाला: यूथ कांग्रेस के एके. जोसेफ ने कोर्ट में की क्रिश्चियन मिशेल की पैरवी, विवाद बढ़ा तो पार्टी ने निकाला

यूथ कांग्रेस के लीगल डिपार्टमेंट के राष्‍ट्रीय प्रभारी अल्‍जो के. जोसेफ ने कोर्ट में अगस्‍ता वेस्‍टलैंड डील में बिचौलिये की भूमिका निभाने वाले क्रिश्चियन मिशेल की पैरवी की। बीजेपी के हमलावर होने और इस मामले के राजनीतिक तूल पकड़ने के बाद यूथ कांग्रेस ने जोसेफ को पार्टी से निष्‍कासित कर दिया है।

Agusta Westland scam, VVIP Chopper Scam, Indian Youth Congress, IYC, Aljo K Joseph, IYC expelled Aljo K Joseph, national legal incharge, BJP, Congress, Dubai
अगस्‍ता वेस्‍टलैंड हेलिकॉप्‍टर डील में क्रिश्चियन मिशेल की कानूनी पैरवी करने के चलते यूथ कांग्रेस ने अपने नेशनल लीगल इंचार्ज अल्‍जो के. जोसेफ को पार्टी से निष्‍कासित कर दिया।

बिचौलिये क्रिश्चियन मिशेल को विशेष अदालत ने पांच दिन के सीबीआई हिरासत में भेज दिया है। लेकिन, इसके साथ ही अगस्‍ता वेस्‍टलैंड घोटाले में अहम भूमिका निभाने वाले आरोपी मिशेल के वकील को लेकर नया राजनीतिक विवाद शुरू हो गया है। दरअसल, यूथ कांग्रेस से जुड़े अल्‍जो के. जोसेफ ने कोर्ट में मिशेल की पैरवी की। जोसेफ यूथ कांग्रेस से जुड़े हैं। उन्‍होंने अपने ट्विटर प्रोफाइल पर खुद को युवा कांग्रेस के लीगल डिपार्टमेंट का राष्‍ट्रीय प्रभारी बताया है। राजनीतिक विवाद बढ़ने के बाद यूथ कांग्रेस ने जोसेफ को तत्‍काल प्रभाव से न केवल लीगल डिपार्टमेंट से हटाया, बल्कि पार्टी से भी निष्कासित कर दिया। यूथ कांग्रेस के राष्‍ट्रीय प्रवक्‍ता अमरीश रंजन पांडे ने बयान जारी कर जोसेफ को पार्टी से निकालने की जनकारी दी। उन्‍होंने लिखा, ‘अल्‍जो जोसेफ निजी तौर पर कोर्ट में (मिशेल की पैरवी के लिए) पेश हुए थे। इस मामले में पेश होने से पहले उन्‍होंने यूथ कांग्रेस से संपर्क नहीं किया था। यूथ कांग्रेस इस तरह के कदम को स्‍वीकार नहीं करती है। यूथ कांग्रेस ने जोसेफ को लीगल डिपार्टमेंट से हटा दिया है। साथ ही उन्‍हें तत्‍काल प्रभाव से पार्टी से भी निष्‍कासित कर दिया गया है।’ बता दें कि मिशेल की पैरवी करने को लेकर बीजेपी जोसेफ पर हमलावर हो गई थी।

बीजेपी ने किया था कांग्रेस पर हमला: जोसेफ द्वारा मिशेल की पैरवी करने पर उस वक्‍त राजनीतिक विवाद बढ़ गया, जब‍ बीजेपी के एक प्रवक्‍ता ने ट्वीट कर वीवीआईपी हेलिकॉप्‍टर घोटाले में बिचौलिये की भूमिका निभाने वाले ब्रिटिश नागरिक के वकील के बारे में जानकारी दी। बीजेपी प्रवक्‍ता सुरेश नखुआ ने ट्वीट किया, ‘किसी तरह का अंदाजा लगा सकते हैं कि क्रिश्चियन मिशेल का वकील कौन है? इंडियन यूथ कांग्रेस के लीगल डिपार्टमेंट के नेशनल इंचार्ज अल्‍जो के. जोसेफ।’ बीजेपी नेता के ट्वीट के बाद इस पर राजनीतिक हंगामा बढ़ गया। इसे देखते हुए यूथ कांग्रेस ने जोसेफ को पार्टी से ही निकाल दिया। बुधवार (5 दिसंबर) को विशेष अदालत में मामले की सुनवाई के बाद जोसेफ ने कांग्रेस कार्यालय में जाकर पार्टी के महासचिव दीपक बावरिया से मुलाकात भी की थी।

जोसेफ ने दी थी सफाई: कोर्ट में मिशेल की पैरवी को लेकर हुए विवाद पर जोसेफ ने पार्टी से निष्‍कासित होने से पहले सफाई भी दी थी। उन्‍होंने कहा था, ‘मैं एक सक्रिय वकील हूं। एक पेशेवर होने के नाते मैं उनके लिए (मिशेल) कोर्ट में पेश हुआ था। यदि कोई मुझसे किसी मुवक्किल के पक्ष से पेश होने के लिए कहता है तो मैं एक वकील होने के नाते सिर्फ अपने दायित्‍व का निर्वाह करता हूं।’ जोसेफ ने आगे कहा, ‘कांग्रेस से मेरा रिश्‍ता अलग है और पेशा अलग। मेरे एक दोस्‍त ने दुबई के कनेक्‍शन के जरिये यह कहा था कि इटली के वकील ने ऐसा करने (मिशेल की पैरवी) का आग्रह किया था। ऐसे में मैं कोर्ट में पेशी को लेकर उनकी मदद कर रहा था।’

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट